clock-icon

mobile-icon
  • लोकतंत्र में चर्च की दखलअंदाजी क्यों ?
  • कर्नाटक और बंगाल में हो रही गुंडागर्दी
  • कांग्रेस विधायक ने कहा उनकी पार्टी ने बोला झूठ

कांग्रेस ने हमेशा उड़ाई हैं लोकतंत्र की धज्जियांं

कांग्रेस ने देवेगौड़ा के बाद उसी की बैसाखी के सहारे प्रधानमंत्री बने इंद्रकुमार गुजराल की सरकार से भी समर्थन वापस ले लिया था। तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सीताराम केसरी ने मंत्रिमंडल से द्रमुक को हटाने की मांग को लेकर गुजराल के नेतृत्व वाली संयुक्त मोर्चा सरकार से समर्थन वापस लिया था।

अंतरराष्ट्रीय बाजार के उतार-चढ़ाव को स्वीकार करना होगा

इन दिनों हर तरफ पेट्रो उत्पादों के बढ़ते दामों की चर्चा है। विशेषज्ञों के अनुसार कई प्रकार के करों के कारण पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ रही हैं, वही सरकार का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में उतार-चढ़ाव के कारण दाम बढ़ रहे हैं।

भविष्य में हमारा स्वप्न आइआइटी गुरुकुल का है

भारतीय शिक्षण मंडल के अखिल भारतीय संगठन मंत्री श्री मुकुल कानिटकर कहते हैं,‘‘विराट गुरुकुल सम्मेलन का उद्देश्य देश में गुरुकुल शिक्षा पद्धति को पुनर्स्थापित करके उसे युगानुकूल बनाना है।

जेएनयू में जिहादी और तालिबानी मानसिकता के लोग सक्रिय हैं

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में ‘इन द नेम आॅफ लव’ फिल्म के प्रदर्शन के दौरान जिस तरह से हंगामा किया गया, छात्रों और सुरक्षागार्डों के साथ मारपीट की गई उसकी कोई वजह नहीं थीं, फिल्म में तालिबानी समर्थकों और इस्लामिक स्टेट के खिलाफ बातें हैं। यदि जेएनयू जैसी जगह में इस तरह की फिल्म का विरोध किया जाता है तो इसका सीधा सा अर्थ है कि वहां उन्मादी और उग्र मानसिकता के लोग सक्रिय हैं। यह कहना है फिल्म निर्देशक सुदीप्तो सेन का। पाञ्चजन्य संवाददाता आदित्य भारद्वाज से उन्होंने फिल्म से जुड़े मुद्दों, केरल में चल रहे क

उम्मीदों को लगे पंख

दो दिवसीय निवेशक सम्मेलन के दौरान 1045 समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर हुए, जिससे 4.28 लाख करोड़ रुपये का निवेश आएगा। इन समझौतों को अमली जामा पहनाने का काम शुरू हो गया है। उत्तर प्रदेश सरकार की प्राथमिकता 40 लाख् ा युवाओं को रोजगार मुहैया कराना हैसुनील राय

अपने हिसाब से न्याय व्यवस्था क्यों चलाना चाहती है कांग्रेस ?

देश के सर्वोच्च न्यायाधीश के खिलाफ महाभियोग मजाक नहीं, कांग्रेस यदि संविधान और न्याय व्यवस्था का सम्मान करती तो देश में नहीं लगता आपातका
आगे पढ़े

नाम बदलकर पाकिस्तानी पत्रकार से चैटिंग करते थे थरूर

दिल्ली पुलिस ने अदालत में दाखिल अपनी चार्जशीट में किया है दावा सुनंदा पुष्कर की संदिग्ध मौत के मामले में दिल्ली पुलिस द्वारा कोर्ट में पेश की गई चार्जशीट में कई खुलासे हुए हैं।
आगे पढ़े

पाकिस्तान ने पहले दी शांति की दुहाई फिर तोड़ा युद्धविराम

पाकिस्तान ने एक बार फिर से जम्मू कश्मीर के अरनिया सेक्टर में युद्धविराम का उल्लंघन किया है। भारत को शांति की दुहाई देकर पाकिस्तान लगातार युद्ध विराम तोड़ रहा है।
आगे पढ़े

महाभियोग नहीं इसे राजनीतिक महाभियोग कहें

मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्र के विरुद्ध चल रहे अभियान के पीछे वही घटिया राजनीति है, जो मन के अनुसार फैसले नहीं आने पर न्यायपालिका को निशाने पर रखती है, चुनाव हारने पर ई.वी.एम. मशीन को खराब बताती है और आतंकवादियों के मरने पर मातम मनाती है। इस मानसिकता को समझने की जरूरत
आगे पढ़े

पश्चिम बंगाल के पंचायत चुनावों मे हिंसा या हिंसा में चुनाव?

पश्चिम बंगाल के पंचायत चुनावों में हिंसा का जो तांडव हुआ वह देश की लोकतंत्र को शर्मसार करने वाला हैं और इसकी जिम्मेदार केवल सत्ता में बैठी तृणमूल कांग्रेस है। इस वजह से पूरे देश में पश्चिम बंगाल की सरकार की आलोचना भी ज़ोर-शोर से हो रही है।
आगे पढ़े

आधुनिक लद्दाख के निर्माता कुशक बकुला रिम्पोछे

महापुरुष यदा—कदा ही जन्म लेते हैं लेकिन बौद्ध परंपराओं के अनुसार भगवान बुद्ध के विचारों को पूरे विश्व में फैलाने के लिए कुशोक बकुला 19 बार पृथ्वी पर अवतरित हो चुके हैं।
आगे पढ़े

विवादों में लिपटी विरासत

ऐसे समय जब पूरा देश जज, न्यायपालिका और महाभियोग से जुड़ी पेचीदगियों को बूझने में जुटा था, इतिहास में दबे एक वकील ने अचानक सुर्खियां अपनी ओर खींच लीं। लोग मानो दो पालों में बंट गए। यदि बांटना ही कसौटी है तो जिन्ना के लिए यह पहचान नई नहीं है। मोहम्मद अली जिन्ना यानी नामी बैरिस्टर। जिन्ना यानी पाकिस्तान का संस्थापक।
आगे पढ़े

दक्षिण विजय की अनिवार्यता

अमूमन बहते हुए पता नहीं चलता कि धारा का रुख और असर क्या है। जो दूर से देखता है वही समझ पाता है पर वह न धारा को मोड़ सकता है, न ही बहते हुए को सचेत कर सकता है। राजनीति के खिलाड़ी बह रहे हैं। उनकी आंखों में केवल आज जीतने के अलावा और कुछ आजमाने की गुंजाइश नहीं है।
आगे पढ़े

‘वैदिक परंपराओं का संरक्षक है जनजातीय समाज’

इन दिनों मुंबई के निकट डहाणू क्षेत्र के तलासरी में जनजातीय छात्रों के लिए संचालित छात्रावास की स्वर्ण जयंती मनाई जा रही है। इसके तहत 15 अप्रैल को हिंदू सम्मेलन आयोजित हुआ, जिसमें 60,000 से अधिक लोग उपस्थित थे।
आगे पढ़े

तेजस - भारत का अपना लाइट कॉम्बैट विमान

इस विमान का आधिकारिक नाम तेजस 4 मई 2003 को तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने रखा था। तेजस ने हाल ही में भारतीय वायुसेना के साथ सेवा में प्रवेश किया है और 2017 बहरीन वायु शो में उसने अपनी शुरुआत की है। यहां उसे सार्वजनिक रुप से प्रदर्शित किया गया।

कुचक्र रचने में पहले से माहिर है कांग्रेस

19 मई 2019 से जरा पीछे चलते हैं. 1996 में. 13 दिन की सरकार के मुखिया तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने लोकसभा में कहा-मैं संख्याबल के सामने सर झुकाता हूं. मैं अपना इस्तीफा राष्ट्रपति को देने जा रहा हूं. तब भी कांग्रेस के चेहरे पर वही दंभ भरी मुस्कान थी, जो आज कर्नाटक विधानसभा में थी.

हिन्दुओं की आस्था का केन्द्र है अयोध्या’

राम जन्मभूमि पर विवाद ढाई दशकों से न्यायालय में चल रहा है। वास्तव में यह झगड़ा राम मन्दिर का नहीं, राम जन्मस्थान का है।

हिन्दू समाज से अस्पृश्यता का नाश होना चाहिए

राष्टÑीय स्वयंसेवक संघ, बीकानेर महानगर द्वारा पिछले दिनों ड़ॉ भीमराव रामजी आंबेडकर की जयंती पर राजरतन पैलेस, रानी बाजार में एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया।

एकता के लिए बनाना है समरस समाज

आर्य समाज, दिल्ली द्वारा विश्व हिन्दू परिषद के नव निर्वाचित अंतरराष्टÑीय अध्यक्ष श्री विष्णु सदाशिव कोकजे तथा नवनिर्वाचित कार्यकारी अध्यक्ष श्री आलोक कुमार के अभिनन्दन हेतु गत दिनों करोलबाग में यज्ञ-आहुति कार्यक्रम आयोजित किया गया।

मूर्ति पूजा क्या है, क्यों करते हैं ? श्रीश्री रविशंकर

मूर्ति क्या है? एक चिन्ह है। ईश्वर जो निराकार है, जिसका विवरण नहीं हो सकता, जिसे देखा या छुआ नहीं जा सकता, उस ईश्वर को देखने और समझने के लिए आपको एक माध्यम की आवश्यकता है और उस माध्यम को आप मूर्ति कहते हैं। भगवान उस मूर्ति में नहीं बसते परन्तु एक मूर्ति आपको ईश्वर का मार्ग दिखाती है।

संघ के स्वयंसेवक डॉ. विष्णु श्रीधर ने खोजे थे भीमबैटका शैलाश्रय

भारतीय सभ्यता न केवल लाखों वर्ष प्राचीन है, अपितु वह अत्यन्त समृद्ध भी रही है। इसे विश्व के सम्मुख लाने में जिन लोगों का विशेष योगदान रहा, उनमें श्री विष्णु श्रीधर (हरिभाऊ) वाकणकर का नाम उल्लेखनीय है। भोपाल से 46 किलोमीटर दूर पर दक्षिण में भीमबैटका की गुफाएं मौजूद हैं।

समरसता से ही होगा शक्तिशाली समाज का निर्माण

पिछले दिनों उत्तराखंड के चमोली में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा क्षेत्र की विभिन्न शाखाओं के स्वयंसेवकों का समागम हुआ।

बाल यौन हिंसा के बढ़ते मामले चिंताजनक

पिछले दिनों नई दिल्ली के इंडिया हैबिटेड सेंटर में नोबेल शांति पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने बाल यौन हिंसा की लगातार बढ़ रही घटनाओं पर चिंता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि देश में हर पल दो बेटियां बलात्कार की शिकार हो रही हैं

दलगत राजनीति से ऊपर उठकर सोचें

दलगत राजनीति से ऊपर उठकर सोचें
ट्विटर
Facebook Page
बोधिवृक्ष