clock-icon

mobile-icon
  • विधानसभा चुनाव/छत्तीसगढ़: भाजपा राज में नक्सलियों का खौफ नहीं, खूब हुआ मतदान
  • मध्यप्रदेश चुनाव: भाजपा  की बढ़त से छटपटा रहे कमलनाथ
  • कांग्रेस नहीं, कॉमरेड कांग्रेस: कांग्रेसी नेताओं के नक्सलियों से संबंध
  • कठुआ कांड: मासूम के परिजनों को नहीं मिला मदद के नाम पर इकट्ठा किया पूरा पैसा
  • शबरीमला विवाद: हिंदू संस्कृति को धवस्त करना चाहती है केरल की वामपंथी सरकार
  • संघ से क्यों डरती है यह जमात
  • 'ऐसा कतई नहीं है कि हमें मुसलमान नहीं चाहिए, हिंदुत्व तो विश्व कुटुम्बकम की बात करता है'
  • राफेल पर बोले गए झूठ का पर्दाफाश, अब क्या करेंगे राहुल
  • आखिर कांग्रेस को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से दिक्कत क्या है ?
  • हिंदुओं का कातिल और मंदिरों को ध्वस्त करने वाला तानाशाह था टीपू
  • हिंदुओं का हितैषी नहीं बर्बर हत्यारा था टीपू
संवैधानिक साख पर ‘एक्टिविस्ट’ घात

संवैधानिक साख पर ‘एक्टिविस्ट’ घात

न्यायपालिका, विधिपालिका, कार्यपालिका और खबरपालिका, वे चार स्तंभ हैं जिन पर लोकतंत्र का पूरा भवन खड़ा है। क्या हो यदि इन खंभों में जरा भी कमजोरी, दरार या डगमगाहट आ जाए! भारतीय लोकतंत्र के लिए यह सवाल इसलिए ज्यादा प्रासंगिक है क्योंकि विश्व का सबसे विशाल लोकतंत्र चौतरफा खतरों के लिए पर्याप्त रूप से खुला है। दागियों के राजनीति में प्रवेश से लेकर क्षेत्रवाद-परिवारवाद का दंश झेलती रही विधिपालिका! नौकरशाही की सुस्त-भ्रष्ट कार्यकथाएं! सेना द्वारा सरकार के तख्तापलट जैसी झूठी-मनगढ़ंत खबरें परोसता और ‘राडिया
मैं मुसलमान हूं और मेरी नजर में  स्वयंसेवक खुदा के नेक बंदे  हैं

मैं मुसलमान हूं और मेरी नजर में स्वयंसेवक खुदा के नेक बंदे हैं

एक बात और साफ कर दूं मैं न तो संघ और न ही भाजपा से किसी भी स्तर पर जुड़ा हूं.मैं एक खालिस पत्रकार हूं जिसने अपने पत्रकारिता कैरियर में कभी संघ या भाजपा की बीट भी कवर नहीं की, लेकिन स्वयंसेवक कैसे सेवा करते हैं यह मैंने अपनी आंखों से देखा और महसूस किया
वामपंथी बुद्धिजीवियों का नाम आते ही ठंडा पड़ा #meetoo अभियान

वामपंथी बुद्धिजीवियों का नाम आते ही ठंडा पड़ा #meetoo अभियान

#meetoo अभियान ने महिलाओं को कितना सशक्त किया इसका मूल्याकंन होना शेष है, लेकिन इसने तथाकथित नारीवादियों, आंदोलनकारियों और वामपंथियों के एकपक्षीय चेहरे पर लगे दाग उजागर कर दिए हैं
पुलिस के शौर्य, सम्मान और सेवा का प्रतीक है यह स्मारक

पुलिस के शौर्य, सम्मान और सेवा का प्रतीक है यह स्मारक

दिल्ली के चाणक्यपुरी में शांतिपथ के उत्तरी छोर पर 6.12 एकड़ में बने पुलिस स्मारक को जब देखते हैं तो गेट से ही गहरे काले रंग का एक शिलाखंड नजर आता है। इस स्मारक का गहरा रंग गंभीरता, दृढ़ता और सर्वोच्च बलिदान का प्रतीक है
ईज ऑफ डूइंग बिजनेस' में भारत की छलांग, कारोबार करना हुआ और आसान

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस' में भारत की छलांग, कारोबार करना हुआ और आसान

आज से एक साल पहले जारी इस रैंकिंग में भारत 100वें स्थान पर था लेकिन बुधवार को विश्व बैंक ने भारत को 77वां स्थान दिया है। इस रैंक से अंदाजा लगाया जा सकता है कि मोदी सरकार की नीतियों के चलते भारत में कारोबार करना आसान हुआ है।
दुनियाभर में अमेरिका गैस—तेल की पाइपलाइन बिछाना चाहता है पर नहीं हो रहा सफल

दुनियाभर में अमेरिका गैस—तेल की पाइपलाइन बिछाना चाहता है पर नहीं हो रहा सफल

विश्व में अमेरिकी प्रभुत्व को बनाए रखने के लिए जहां ऊर्जा के स्रोत और रास्ते हैं, वहां सामरिक भागीदार की जरूरत भी है। यह पूरे यूरेशिया क्षेत्र में सामरिक संगठन में अधिक सहयोग से संभव है।'' ये शब्द हैं, पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति जिमी कार्टर के सुरक्षा मामलों के सलाहकार ब्रेजिन्स्की के।
रुपये और पेट्रोल के अर्थशास्त्र की राजनीति

रुपये और पेट्रोल के अर्थशास्त्र की राजनीति

अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर इन दिनों एक साथ दो किस्म की खबरें आ रही हैं। एक खबर तो यह कि भारत की अर्थव्यवस्था विश्व की पांचवीं बड़ी अर्थव्यवस्था होने की तरफ जा रही है। दूसरी तरफ यह खबर है कि रुपया डॉलर के मुकाबले लगातार गिर रहा है। एक डॉलर के मुकाबले 72 रुपये पचास पैसे मिल रहे हैं, कुछ समय पहले एक डॉलर के बदले 64 रुपये आते थे। तो क्या रुपये की कमजोरी को अर्थव्यवस्था की कमजोरी मान लिया जाये। इस सवाल का जवाब हां नहीं हो सकता, क्योंकि कुछ और आंकड़े भी सामने हैं।

हिन्दुओं से क्यों युद्धरत हैं सेकुलर क्या हिंदू अरब द्वीव में फंसे निरीह व निर्बल हैं ?

हिन्दुओं से क्यों युद्धरत हैं सेकुलर क्या हिंदू अरब द्वीव में फंसे निरीह व निर्बल हैं ?
यह प्रश्न आस्था, विश्वास व श्रद्धा से अलग है। आज हिन्दुओं का हर त्योहार, दीवाली से होली तक सेकुलर सुधार की प्रयोगशाला में हमले का शिकार है। शबरीमला में विकृत, दूषित मानस से पुलिस संरक्षण में अहिन्दू शत्रु खुलकर चुनौती देते हैं और 'द टाइम्स ऑफ इंडिया' उन्हें 'शबरीमला' के 'हीरो' घोषित करता है।
आगे पढ़े

जगमग होगी अयोध्या, 3 लाख दिए जलाए जाएंगे दीवाली पर

जगमग होगी अयोध्या, 3 लाख दिए जलाए जाएंगे दीवाली पर
मुख्य अतिथि के तौर पर आम आमंत्रित कोरिया गणराज्य की प्रथम महिला किम जोंग सुक व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ दीपोत्सव की शुरूआत करेंगी। चार दिनों की भारत यात्रा पर आ रहीं सूक के साथ दक्षिण कोरिया का एक शिष्टमंडल भी होगा भगवान राम की जन्मभूमि अयोध्या में इस बार दीवाल और भी खास होगी। अयोध्या में इस वर्ष दीपोत्सव में तीन लाख दिए जलाए जाएंगे। एक साथ इतने दिए जलाए जाने के मौके पर रिकॉर्ड दर्ज करने के लिए गिनीज बुक की टीम भी मौजूद रहेगी। पूरे आयोजन में तीन लाख दीपक जलेंगे। इसमें 11655 लीटर तेल सहित चार लाख
आगे पढ़े

बंगाल की संस्कृति और प्राकृतिक सौंदर्य का जवाब नहीं

बंगाल की संस्कृति और प्राकृतिक सौंदर्य का जवाब नहीं
कला-संस्कृति के मामले में पश्चिम बंगाल का कोई सानी नहीं है। यह जंगल, पहाड़, समुद्र, ऐतिहासिक और धार्मिक धरोहर अपने में संजोए हुए है, जो पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती हैं। यहां की बालूचरी साड़ियां दुनियाभर में प्रसिद्ध हैं
आगे पढ़े

आने वाली पीढ़ी को सहेजें

आने वाली पीढ़ी को सहेजें
पिछले 20 वर्षों में ही दुनिया में बाल मजदूरों की संख्या 26 करोड़ से घटकर 15 करोड़ रह गई है। लेकिन मुझे अफसोस है कि आज भी भारत में हमारी बेटियों को जानवरों से भी कम कीमत पर खरीदा-बेचा जा रहा है। मैंने ऐसी कई बेटियों को गुलामी से मुक्त कराया है, जो छूटने के बाद भी अपने माता-पिता के गले से लिपटकर रोने का साहस नहीं जुटा पातीं। उन्हें लगता है कि बलात्कार और यौन शोषण से उनका शरीर और आत्मा मैले हो गए हैं। हमें गर्व है कि हम गौतम, कपिल, कणाद, अनुसूइया, सावित्री, सीता, लक्ष्मीबाई, बुद्ध, महावीर, गुरुनानक, छत्रपति शिवा
आगे पढ़े

#मी टू अभियान के जरिए बदनाम करने का बदनुमा खेल

#मी टू अभियान के  जरिए बदनाम करने का बदनुमा खेल
इसमें दो मत नहीं है कि #मी टू अभियान ने उन लोगों में डर पैदा किया है, जो महिलाओं के साथ गलत व्यवहार करने की सोचते हैं। लेकिन गहाराई से देखने पर यह बात स्पष्ट है कि इसके पीछे कुछ निहित तत्व हैं, जो महिलाओं का इस्तेमाल कर अपने स्वार्थ की पूर्ति के इच्छुक हैं
आगे पढ़े

थाईलैंड में शाकाहार की धूम

थाईलैंड में शाकाहार की धूम
सेहत को ध्यान में रखते हुए शाकाहार बहुत तेजी से विश्वभर में लोकप्रिय होता जा रहा है। हर वर्ष भोजन के लिए बहुत से जानवरों को मारा जाता है लेकिन अब लोग तेजी से शाकाहार अपना रहे हैं। थाइलैंड में हर वर्ष शाकाहार को बढ़ावा देने के लिए 9 दिनों का वेजिटेबल फेस्टिवल मनाया जाता है। इन दिनों थाइलैंड में जोरों—शोरों से वेजिटेबल फेस्टिवल मनाया जा रहा है ।
आगे पढ़े

हैवानियत का नाम पाकिस्तान

हैवानियत का नाम पाकिस्तान
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने एक बार फिर संयुक्त राष्ट्र में विश्व को पाकिस्तान की असलियत से परिचित कराया है। दुनिया के सामने उसके दोहरे चेहरे को बेनकाब किया है। भारतीय विदेश मंत्री ने साफ शब्दों में संयुक्त राष्ट्र को आगाह किया कि अगर समय के साथ बदलाव को अंगीकार नहीं किया गया तो इसका हश्र भी लीग ऑफ नेशंस जैसा ही होगा
आगे पढ़े

अमेरिका भी मानता है कि भारत वामपंथी हिंसा से पीड़ित है

अमेरिका भी मानता है कि भारत वामपंथी हिंसा से पीड़ित है
अमेरिका के विदेश विभाग की एक संस्था ने रिसर्च करने के बाद एक रिपोर्ट बनाई है। इस रिपोर्ट के तहत दुनिया के पांच सबसे खूंखार आतंकी संगठनों की सूची जारी की गई है। आपको जानकार हैरत होगी कि इसमें भाकपा (माओवादी) को भारत में सबसे ज्यादा हिंसा फैलाने वाला गुट बताया गया है
आगे पढ़े

'मालवीय जैसे व्यक्तित्वों के कारण ही आज तक बची है भारतीय सभ्यता'

मदन मोहन मालवीय एक दूरदृष्टा थे। जब देश स्वतंत्र हो रहा था तब उनके मन में भावी भारत का स्पष्ट चित्र था, जिसमें भारत की पहचान और राष्ट्रीयता प्रमुख थी।
आगे पढ़े

जस्टिस गोगोई बने देश के नए मुख्य न्यायाधीश

जस्टिस गोगोई बने देश के नए मुख्य न्यायाधीश
जस्टिस रंजन गोगोई ने देश के नए मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ ग्रहण की।
आगे पढ़े
प्रक्षेपण के बाद भारत का मंगलयान कर रहा कमाल

प्रक्षेपण के बाद भारत का मंगलयान कर रहा कमाल

प्रक्षेपण के बाद भारत का मंगलयान कर रहा कमाल

‘‘सेवा और त्याग ही भारतीय संस्कृति का मूल’’

पिछले दिनों सेवा फाउंडेशन, देवघर की ओर से चाणक्य नाटक के मंचन का आयोजन किया गया।

संस्कारों के क्षरण से पर्यावरण का हो रहा नुकसान

अमृता देवी पर्यावरण नागरिक (अपना) संस्थान, जयपुर द्वारा पिछले दिनों खासा कोठी के निकट होटल कंट्री इन में एक सम्मान समारोह आयोजित किया गया।

‘अमर शहीदों के गांवों का होगा विकास’

पिछले दिनों झारखंड के बिरसा मुंडा कारागार के जीर्णोद्धार, संरक्षण व संग्रहालय के शिलान्यास समारोह का आयोजन किया गया।

‘अपने स्वत्व, मेधा व महापुरुषों पर गर्व करें’

पिछले दिनों नई दिल्ली में प्रभात प्रकाशन द्वारा प्रकाशित ‘रामायण की कहानी, विज्ञान की जुबानी’ पुस्तक का लोकार्पण हुआ। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ़ कृष्णगोपाल उपस्थित थे।

‘‘जैव विविधता के अनुसार करें पौधारोपण’’

अपना संस्थान, राजस्थान की साधारण सभा की वार्षिक बैठक गत दिनों शारदा निकेतन, नागौर में सम्पन्न हुई

ग्राम विकास के लिए मिलकर करें प्रयास

‘‘गांव का विकास होता है तो देश का विकास होता है और विकास की शुरुआत अपने घर से करनी होती है।’’ यह कहना है राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, राजस्थान क्षेत्र के सह क्षेत्र प्रचारक श्री निंबाराम का।

स्वामी अय्यप्पा के भक्तों में बढ़ता क्रोध

सबरीमला पर सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय को लेकर जनाक्रोश निरंतर बढ़ता जा रहा है। विशेषकर केरल सरकार के खिलाफ। केरल सरकार ने जिस प्रकार जनभावनाओं को दरकिनार किया, उसके कारण केरल से दिल्ली तक भक्तों का रोष बढ़ा है।

‘सामाजिक कार्य से ही होगा समाज में परिवर्तन’

‘‘सामाजिक क्षेत्र, धार्मिक क्षेत्र, आर्थिक क्षेत्र, शिक्षा और सत्ता, ये पांच बातें जब समाज में एक साथ चलती हैं, तभी समाज का परिवर्तन और उत्थान होता है।
सब्सक्राइब करें पाञ्चजन्य न्यूज़लेटर
ट्विटर
Facebook Page

Survey

क्या एनआरसी (राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर ) प्रक्रिया पूरे देश में होनी चाहिए ?

बोधिवृक्ष