समाज परिवर्तन का आंदोलन है संघ
   दिनांक 03-अक्तूबर-2018
 
मंच पर उपस्थित (बाएं) श्री राजीव शर्मा एवं अन्य विशिष्टजन 
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ समाज परिवर्तन का आंदोलन है। संघ के कार्यकर्ता समाज जागरण के कार्य में संलग्न हैं। संघ मानता है कि देश का आम जनमानस जब तक खड़ा नहीं होगा, तब तक देश का परिवर्तन संभव नहीं है। बाकी सब बदलाव सहायक होते हैं, किंतु स्थायी परिवर्तन जनमानस के जागृत होने पर आता है।'' उक्त बात राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ,मध्य क्षेत्र के क्षेत्र प्रचारक श्री दीपक विस्पुते ने कही। वे पिछले दिनों भोपाल में महाविद्यालयीन विद्यार्थियों के संघ शिक्षा वर्ग (प्रथम वर्ष) के प्रकट समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने इस अवसर पर कहा कि संघ को जो जिस रूप में देखता है, उस रूप में उसकी कल्पना करता है। कोई संघ को सेवा कार्य करने वाला संगठन मानता है, कोई मैदान पर खेल-कूद करने वाले बच्चों का संगठन तो कोई और कुछ मानता है। किंतु, संघ वास्तव में सामाजिक परिवर्तन का आंदोलन है। संघ ने अपने प्रारंभ से ही तय किया हुआ है कि वह अकेला नहीं चलेगा, बल्कि समाज को साथ लेकर चलेगा। समाज जागरण का कार्य भी समाज की सज्जनशक्ति को साथ लेकर करेगा, क्योंकि हम मानते हैं कि समूचा समाज हमारा अपना है। उन्होंने कहा कि हिन्दुत्व की सराहना दुनिया में हो रही है। सत्य की निरंतर खोज ही हिन्दुत्व है। हमें वैश्विक सोच रखनी चाहिए और उसे स्थानीय स्तर पर क्रियान्वित करना चाहिए। समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में प्रख्यात अभिनेता एवं संस्कार भारती, मध्य प्रांत के अध्यक्ष श्री राजीव वर्मा भी उपस्थित थे।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि हम जैसे अनेक लोग निश्िचत हैं क्योंकि अपना राष्ट्र आपके हाथों में सुरक्षित है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को देख कर एक विश्वास उत्पन्न होता है कि भारत का युवा पथभ्रमित नहीं हो सकेगा, क्योंकि युवाओं को पाथेय देने के लिए संघ जो है। युवाओं को संस्कारित करने वाला और उन्हें अपनी जड़ों से जोड़ने वाला संघ अब हर क्षेत्र में उपस्थित है।