विभिन्न मांगों को लेकर जनजातीय बंधुओं ने निकाला मोर्चा
   दिनांक 27-नवंबर-2018

मोर्चा निकालते जनजातीय बंधु
महाराष्ट्र के जनजातीय बंधुओं की लंबित मांगों तथा वनवासियों के रूप में फर्जी पंजीकरण कराने वालों पर कार्रवाई किए जाने की मांग को लेकर वनवासी कल्याण आश्रम की ओर से गत 15 नवंबर को मुंबई में मोर्चा निकाला गया। उल्लेखनीय है कि वनवासी कल्याण आश्रम हितरक्षा प्रकल्प के माध्यम से जनजातीय समाज की समस्याओं का समाधान करने का प्रयास कर रहा है। इसी प्रयास के तहत समाज की समस्याओं पर सरकार का ध्यान आकर्षित करने के लिए मोर्चे का आयोजन किया गया। इस संबंध में वनवासी कल्याण आश्रम की ओर से मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन दिया गया। भायखला से आरंभ हुए इस मोर्चे का समापन आजाद मैदान में हुआ। इस अवसर पर सभा में राज्य के आदिवासी विकास मंत्री विष्णु सावरा उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि वनवासियों की मांगों को मानकर उस पर अमल करने की बात मुख्यमंत्री की ओर से स्पष्ट की गई है। सर्वोच्च न्यायालय द्वारा 6 जुलाई, 2017 को दिए फैसले को लागू करने में कुछ तकनीकी कठिनाइयां आ रही हैं, लेकिन उम्मीद है कि दिसंबर, 2019 तक इसका निस्तारण कर लिया जाएगा। साथ ही उन्होंने स्पष्ट किया कि फर्जी जाति प्रमाणपत्र मामले की जांच जारी है। मामले की सत्यता की जांच के बाद अपराधियों पर कठोर से कठोर कार्रवाई की जाएगी।