उम्र छोटी जज्बा बड़ा,अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी पर फहराया तिरंगा
   दिनांक १६-अप्रैल-२०१८

 
 
हैदराबाद के सात वर्षीय समन्यु पोथुराजु ने रचा इतिहास। अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटीमाउंट किलिमंजारो पर फहराया तिरंगा
 
कहते हैं यदि हौसला हो तो कोई काम मुश्किल नहीं होता। हैदराबाद के एक छोटे बच्चे ने एक ऐसा कारनामा कर दिखाया जिसको करने में बड़ों—बड़ों के पसीने छूट जाएं। हैदराबाद के इस बच्चे से महज सात साल की उम्र में अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी पर तिरंगा फहराकर विश्व रिकॉर्ड बनाया है।
अफ्रीका के तंजानिया के माउंट किलिमंजारो ऐसा पर्वत है जहां ठंड की वजह से अच्छे-अच्छे घबरा जाएं लेकिन हैदराबाद के रहने वाले सात वर्षीय समन्यु पोथुराजु इस पर जीत हासिल कर देश का नाम रोशन किया है। दो अप्रैल को समन्यु पोथुराजु ने अपने कोच के साथ समुद्र तल से 5,895 मीटर ऊंचाई पर तिरंगा फहराया। समन्यु कहते हैं , 'जब मैंने चढ़ाई शुरू कि तब बारिश हो रही थी और रास्ता पत्थरों से भरा हुआ था। मैं डर गया था और मेरे पैरों में तेज दर्द भी हो रहा था, लेकिन मैंने थोड़ा सा आराम किया और फिर बाकी की चढ़ाई पूरी की। मुझे बर्फ बहुत पसंद है और इसलिए मैंने माउंट किलिमंजारो को चढ़ाई के लिए चुना।
 
वह अब अगले महीने ऑस्ट्रेलिया पीक की चढ़ाई करेंगे। समन्यु अफ्रीका की इस चोटी पर जाने वाले दुनिया के सबसे कम उम्र के पर्वतारोही हैं। इस कठिन सफर में समन्यु की मां लवन्या और कोच भी उनके साथ थे। इसके अलावा साथी पर्वतारोही शांगाबांदी सरूजाता और एक अन्य महिला और तंजानिया के एक स्थानीय चिकित्सक भी उनके साथ थे।
 
समन्यु की मां का कहना है कि'मैं बहुत खुश हूं क्योंकि मेरे बेटे ने विश्व रिकॉर्ड हासिल करने की कोशिश की। वहां पहुंचने के बाद स्वास्थ्य कारण के चलते मैं आधे रास्ते में ही रुक गई। लेकिन मेरे बेटे ने तब तक हार नहीं मानी और गंतव्य तक पहुंचा।