भारत-मॉरीशस संबंध : मॉरीशस ने कहा— ‘धन्यवाद भारत’

‘रउआ सब हिंदी की सेवा करे में बहुत आगे बानी’-मॉरीशस की धरती पर भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के मुख से ये शब्द सुनते ही तालियों की गड़गड़ाहट ने यह साबित कर दिया कि मॉरीशसवासी भोजपुरी न केवल बोलते-समझते हैं बल्कि भोजपुरी से कितना प्रेम करते हैं। मौका था मॉरीशस स्थित विश्व हिंदी सचिवालय के नए भवन के लोकार्पण का। राष्ट्रपति कोविंद 11 से 14 मार्च तक मॉरीशस की चार दिवसीय यात्रा पर आए थे। वे यहां मॉरीशस सरकार के निमंत्रण पर द्वीप की आजादी की 50वीं वर्षगांठ के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि रहे। मॉरीशस 12 मार्च, 1968 में अंग्रेजी शासन से आजाद हुआ और 1992 में 12 मार्च के ही दिन यहां गणतंत्र की स्थापना की गई। इस वर्ष देश अपने गणतंत्र की 26 वीं वर्षगांठ भी मना रहा है।

भारत-मॉरीशस: गहरे होते रिश्ते