तिरुपति के मुख्य पुजारी ने लगाया खजाने में भ्रष्टाचार का आरोप
   दिनांक 17-मई-2018
उन्होंने मंदिर के खजाने में हुए भ्रष्टाचार को लेकर उच्चस्तरीय जांच किए जाने की मांग की है, कहा कि पिछले 22 सालों में जब से टीटीडी के ज़रिए आंध्र सरकार के पास मंदिर के कोष की ज़िम्मेदारी आई है करोड़ों का घपला किया गया है


दुनिया के सबसे धनी मंदिरों में से एक आंध्र प्रदेश स्थित तिरुपति बालाजी के मंदिर के मुख्य पुजारी एवी रामना दीक्षितुलु ने मंदिर के खजाने में भ्रष्टाचार किए जाने का आरोप लगाया है। उन्होंने चेन्नै में एक प्रेस कांफ्रेस कर कहा कि भगवान तिरुपति बालाजी के खजाने का गलत इस्तेमाल किया जा रहा है। भगवान को चढ़ाए जाने वाले कितने ही आभूषणों का कुछ अता—पता नहीं हैं।

चेन्नै में प्रेस कांफ्रेंस कर दीक्षितुलु ने कहा ‘तिरुमला तिरुपति देवस्थानम (टीटीडी) के प्रशासकों में मंदिर के मूल्यों और पवित्रता को बनाए रखने में धोखाधड़ी भ्रष्टाचार और प्रतिबद्धता की कमी के बेहद हैरान और गंभीर आरोप लगाए।’ उन्होंने संदेह जताया कि मंदिर के कोष का पैसा कहीं और जा रहा है। भगवान के कई पुराने आभूषणों का भी कुछ अता-पता नहीं है। और इस पर यह बड़े दुर्भाग्य की बात है कि पीढ़ियों से भगवान की सेवा-पूजा करते आ रहे हम लोग आज कुछ भी कर पाने में ख़ुद को असहाय महसूस कर रहे हैं। मुख्य पूजारी ने कहा 1996 तक जब हम लोग भगवान के आभूषणों और कोष के संरक्षक थे ताे पूरा ब्यौरा सही से रखा जाता था, लेकिन पिछले 22 सालों में जब से टीटीडी के ज़रिए आंध्र सरकार के पास यह ज़िम्मेदारी आई है तो इस संबंध में कोई ब्यौरा नहीं रखा गया है। भगवान काे सिर्फ़ नए आभूषण पहनने के लिए दिए जा रहे हैं। नए-पुराने आभूषणों की गिनती एक बार भी नहीं हुई। इसलिए इन सबका लेखा परीक्षण होना चाहिए। पारदर्शिता बनाए रखने के लिए जरूरी है कि इसका एक डिजिटल रिकॉर्ड तैयार किया जाए। उन्होंने सीबीआई जैसी एजेंसी से उच्चस्तरीय जांच कराए जाने की भी मांग की। दीक्षितुलु ने दावा किया कि मंदिर को चढ़ावे में मिले करोड़ों रुपयों का घपला किया गया है। उन्होंने उदाहरण दिया कि अनंतपुर के टीडीपी एमएलसी थिप्पेस्वामी ने गुडिमाला गांव में मंदिरों के निर्माण का प्रस्ताव दिया था।

जांच जैसे उच्चस्तरीय जांच की भी मांग की, जिसमें मंदिर के धन का इस्तेमाल किया जा रहा था। दीक्षितुतुलु ने दावा किया कि करोड़ों रुपये हटाए जा रहे हैं। मिसाल के तौर पर, अनंतपुर के टीडीपी एमएलसी जी थिप्पेस्वामी ने मदाकासिरा विधानसभा क्षेत्र के गुडिमाला गांव में मंदिरों के एक समूह के निर्माण का प्रस्ताव दिया और एंडोमेंट विभाग द्वारा अनुमोदित टीटीडी से 10 करोड़ रुपयों की मांग की। उन्होंने वीआईपी दर्शन मामले में भी प्रशासन पर निशाना साधा और कहा कि मंदिर की परंपराओं का पालन नहीं हो रहा है। हमारे ग्रंथों में मंदिर की परंपराओं और अनुष्ठानों के बारे में जो बताया गया उसका पालन सही से नहीं हो रहा है। इसके परिणामस्वरूप लोगों का विश्वास कम हो रहा है। उन्होंने चेतावनी दी कि भक्तों का विश्वास खोना विनाशकारी घटनाओं का कारण बनेगा।