नाम बदलकर पाकिस्तानी पत्रकार से चैटिंग करते थे थरूर
   दिनांक 21-मई-2018
दिल्ली पुलिस ने अदालत में दाखिल अपनी चार्जशीट में किया है दावा

सुनंदा पुष्कर की संदिग्ध मौत के मामले में दिल्ली पुलिस द्वारा कोर्ट में पेश की गई चार्जशीट में कई खुलासे हुए हैं। शशि थरूर पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार से नाम बदलकर चैटिंग किया करते थे। त्रिवेंद्रम से वापस लौटते हुए उनका अपनी पत्नी सुनंदा से फ्लाइट में झगड़ा हुआ था। दोनों के बीच इतनी बहस हुई कि गुस्से में सुनंदा ने शशि थरूर के मोबाइल को फ्लाइट में ही फेंक दिया। जब दोनों के बीच बहस हो रही थी तो फ्लाइट में कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता भी मौजूद थे।
पुलिस के अनुसार सुनंदा ने शशि थरूर के मोबाइल पर मेहर तरार से हुई उनकी चैटिंग को पढ़ लिया था। पुलिस ने कोर्ट में पेश की गई अपनी चार्जशीट में इन सब बातों का खुलासा किया है। शशि थरूर मेहर तरार से हरीश नाम से चैटिंग करते थे।
उल्लेखनीय है कि सुनंदा पुष्कर 17 जनवरी, 2014 को लीला होटल के एक सुइट में मृत पाई गई थीं। वह दो दिन पहले ही त्रिवेंद्रम से दिल्ली लौटी थीं। उन्होंने त्रिवेंद्रम में केरल इंस्टीट्यूट में स्वास्थ्य परीक्षण कराया था। पुलिस अधिकारियों के अनुसार, सुनंदा के शरीर पर सुई का कोई निशान नहीं था। उनके हाथ में केवल कैनुला लगाने का एक निशान था। दिल्ली पुलिस ने चार्जशीट में आशंका जताई है कि उन्होंने गुस्से में जहर के तौर पर एल्प्रेक्स की गोलियां खाईं थीं। उनके कमरे में गोलियों के दो पत्ते मिले थे। इनमे केवल तीन गोलियां ही बाकी थीं। 14 मई को पटियाला हाउस अदालत में दिल्ली पुलिस ने 3000 पन्नों की चार्जशीट दाखिल की है। चार्जशीट की धारा 306 के तहत थरुर पर सुनंदा को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया गया है। सुनंदा के शरीर से एल्प्राजोलम नामक जहर मिला था। पुलिस ने चार्जशीट में आशंका जताई है कि हो सकता है कि ज्यादा एल्प्रेक्स की गोलियां लेने से ही एल्प्राजोलम जहर बना और सुनंदा की मौत हो गई।