कृत्रिम बुद्धिमत्ता - नए आयाम की ओर तकनीक
   दिनांक 24-मई-2018

यदि आप आयरन मैन की फिल्मों से परिचित हैं तो आप जार्विस नाम के वर्चुअल असिस्टेंट के बारे में भी जरूर जानते होंगे जो आयरन मैन के हर काम में उसकी सहायता करता है। इसी तरह हम पिछले एक दशक से भी पहले से हॉलीवुड फिल्मों में कृत्रिम बुद्धिमत्ता यानी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ( Artificial Intelligence - AI) के कई उदाहरण देखते आये हैं। यह सभी किरदार काफी मनमोहक होते हैं परन्तु हमने कभी यह नहीं सोचा था की यह कल्पना कभी वास्तविकता का रूप ले सकती है।

 

गूगल के तकनीकी शोधकर्ता इसी कल्पना को वास्तविकता की ओर ले जा रहे हैं व डेवलपर्स एक ऐसी तकनीक पर काम रहे हैं जिसमे उपभोगताओं को अपने लिए एक निजी सहायक मिलेगा जो उनके घर , दफ्तर व अन्य कार्यों में पूर्णतः सहायता करेगा। Google Assistant इसी का एक बुनियादी उत्पाद है जो ध्वनि आदेश का पालन करता है।

पिछले दिनों गूगल ने Google Assistant द्वारा किये गए वास्तविक फोन कॉल का एक शानदार डेमो दिया। यह विश्वास कर पाना मुश्किल है कि AI इतने स्वाभाविक रूप से लोगों के साथ बातचीत कर सकता है।

गूगल ने Google Assistant की एक नई क्षमता को दिखाया जिस से आने वाले भविष्य में , यह यूजर की तरफ से वास्तविक फोन कॉल करने में सक्षम होगा। गूगल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुंदर पिचई ने एक फोन कॉल रिकॉर्डिंग दिखाई जिसे Google Assistant द्वारा बालों के सैलून को किया गया था। आवाज अविश्वसनीय रूप से प्राकृतिक लग रही थी ; दूसरे छोर पर व्यक्ति को पता नहीं था कि वे एक डिजिटल AI सहायक से बात कर रहे थे।


सुंदर पिचई ने बताया कि यह कोई चरणबद्ध डेमो नहीं बल्कि Google Assistant का उपयोग करके किया गया एक असली कॉल था। "आश्चर्यजनक बात यह है कि Google Assistant वास्तव में वार्तालाप की बारीकियों को समझ सकता है ," उन्होंने कहा। "हम कई वर्षों से इस तकनीक पर काम कर रहे हैं। इसे गूगल डुप्लेक्स कहा जाता है।

Google Duplex उच्चतम स्तर के एआई की तरह काम करता है , लेकिन गूगल के मुख्य कार्यकारी ने कहा कि , यह अभी भी विकास तथा परिक्षण के चरण में है। गूगल जल्द ही Assistant के अंदर डुप्लेक्स उपयोगकर्ताओं को रेस्तरां आरक्षण करने , हेयर सैलून नियुक्तियों को निर्धारित करने और फोन पर अवकाश प्रबंधन में सहायता करने के लिए शुरुआती परीक्षण करने की योजना बना रहा है।

श्री पिचई का कहना है कि जब बातचीत अपेक्षित नहीं होती तब भी सहायक बुद्धिमानी से प्रतिक्रिया दे सकता है। "हम अभी भी इस तकनीक को विकसित कर रहे हैं , और हम यह सही तरह से कर पाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं ," उन्होंने कहा। "हम वास्तव में ऐसे मामलों में काम करना चाहते हैं , जैसे की अगर आप किसी सुबह व्यस्त हैं और यदि आपका बच्चा बीमार है और आप डॉक्टर की नियुक्ति के लिए फोन करना चाहते हैं तो सहायक आपकी  सहायता कर सके ।

गूगल डुप्लेक्स सिस्टम सुविज्ञ वार्तालाप करने में सक्षम है और यह मानव भागीदारी के बिना पूरी तरह से स्वायत्तता से अपने अधिकांश कार्यों को पूरा करता है। सिस्टम में एक आत्म-निगरानी क्षमता है , जो इसे उन कार्यों को पहचानने की अनुमति देती है जो इसे स्वायत्तता से पूरा नहीं कर सकती हैं (उदाहरण के लिए , असामान्य रूप से जटिल नियुक्ति शेड्यूल करना)। इन मामलों में , यह एक मानव ऑपरेटर को संकेत देता है , जो कार्य को पूरा कर सकता है।