रमजान में क्या ऐसे खुश होता है अल्लाह : अपनी मासूम बच्ची का गला रेता फिर कहा प्यारी चीज की कुर्बानी दे दी
   दिनांक 10-जून-2018
 
 
    अंधविश्वास की हद होती है। रमजान के दिनों में एक बाप ने ऐसा काम किया कि शैतान का भी कलेजा दहल उठे। उसने अल्लाह को खुश करने के लिए अपनी चार वर्षीय बेटी का गला रेत दिया। यही नहीं पहले वह पुलिस के सामने अनजान बना रहा शक होने पर पुलिस ने उससे सख्ती से पूछताछ की तो वह टूट गया। उसने अपनी मासूम बच्ची की हत्या की बात कबूल कर ली।
पुलिस ने शनिवार को नवाब अली को पकड़ा तो उसने स्पष्ट कहा कि अल्लाह को खुश करने के लिए अपनी चहेती बच्ची रिजवाना की कुर्बानी दी है। मारने से पहले उसने अपनी बच्ची की इच्छानुसार बाजार घुमाया, खिलाया-पिलाया और सोने से पहले कलमा भी पढ़वाया।
जोधपुर ग्रामीण पुलिस अधीक्षक राजन दुष्यंत के अनुसार बृहस्पतिवार रात को जोधपुर के पीपाड़ स्थित सिलावटों के मोहल्ले में बच्ची रिजवाना का गला रेतकर हत्या का मामला सामने आया था। तहकीकात में पिता नवाब अली की गतिविधियां संदिग्ध नजर आईं।
पुलिस पूछताछ में आरोपी ने कबूला
सबूतों के आधार पर नवाब से कड़ी पूछताछ की गई, तो उसने अपनी बेटी का गला रेतने की बात स्वीकार कर ली। नवाब ने पुलिस को बताया कि वह नमाजी है और अल्लाह में विश्वास रखता है। उसने कहा कि उसे अपनी बच्ची रिजवाना सबसे प्यारी थी, जो ननिहाल गई हुई थी।
नवाब ने रिजवाना को बृहस्पतिवार को ननिहाल से बुलाया था और शाम को बाजार घुमाया और उसकी इच्छा के अनुसार फल व मिठाइयां खिलाईं। नवाब ने बताया कि रात को सोने से पहले उसने रिजवाना को कलमा भी पढ़वाया था और उसके बाद उसे कुर्बान कर दिया।