मंदसौर की मासूम का दूसरा गुनहगार आसिफ भी पकड़ा गया

मंगलवार को मंदसौर स्थित एक स्कूल से मासूम को अगवा कर उसके गले पर कटर रखकर सामूहिक दुष्कर्म करने वाले दूसरे हैवान को भी पुलिस ने दबोच लिया है। बच्ची ने होश में आने पर अपनी मां को बताया था कि एक और हैवान था जिसने उसके साथ बुरा काम किया था। हालांकि शुरुआत में पुलिस दूसरे आरोपी के बारे में कुछ नहीं बोल रही थी लेकिन अब दूसरे आरोपी को पकड़ लिया गया है। आरोपी का नाम आसिफ है।

पुलिस की गिरफ्त में मासूम का गुनाहगार आसिफ 

मंदसौर में दो हैवानों ने जिस मासूम के साथ दुष्कर्म किया उसे बचाने के लिए डॉक्टरों को उसकी आंतें भी काटनी पड़ी। दोनों दरिंदे मुसलमान हैं। बुधवार को पुलिस ने पहले आरोपी को पकड़ा था। शुक्रवार देर शाम पुलिस ने दूसरे आरोपी आसिफ पिता जुल्फिकार मेवाती को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

मिठाई दिलाने के बहाने किया था अगवा

पुलिस पूछताछ में आरोपी आसिफ ने बताया कि स्कूल गेट पर बच्ची को अकेला खड़ा देख कर दोनों की नीयत खराब हो गई। दोनों ने योजना बनाई। इसके तहत इऱफान ने मासूम को मिठाई दिलाने का लालच दिया। बच्ची उसके बहकावे में आकर पीछे चल दी। आसिफ भी पीछे—पीछे चल दिया। स्कूल से आधा किमी की दूरी पर लक्ष्मण दरवाजे के पास दोनों उसे जंगल में ले गए और मासूम के साथ बलात्कार किया। इसके बाद वह किसी को कुछ बता न दे इसलिए उसके गले पर कटर से कई वार किए। बच्ची बेहोश हो गई तो उसे मृत छोड़कर दोनों मौके से फरार हो गए।

यही है मासूम का गुनहगार आसिफ मेवाती

हैवानियत का शिकार मंदसौर की मासूम बच्ची इंदौर के एमवाय अस्पताल में भर्ती है। मासूम की हालत में शुक्रवार सुबह थोड़ा सुधार हुआ था लेकिन मासूम को बचाने के लिए डॉक्टरों को उसकी आंतें काटनी पड़ी। फिलहाल बच्ची को आईसीयू में रखा गया है। जहां डॉक्टरों की एक टीम उस पर लगातार निगरानी रखे हुए है। डॉक्टरों का कहना है कि बच्ची को पूरी ठीक होने में महीनों लगेंगे।

लोगों में जबरदस्त गुस्सा, मंदसौर नीमच जिले के कई कस्बे बन्द रहे

मासूम बच्ची के साथ हुई बर्बरता के बाद लोगों में जबरदस्त गुस्सा है। लोग लगातार धरने प्रदर्शन कर रहे हैं। शुक्रवार को मंदसौर जिले का सीतामऊ, सुवासरा, शामगढ़, गरोठ, पिपलियामंडी, संजीत के साथ नीमच जिले में नीमच शहर मनासा सहित कई कस्बे और गांव बन्द रहे।

 सड़कों पर आरोपियों को सरेराह फांसी देने की मांग कर रही महिलाएं

मंदसौर की आधी आबादी यानी हजारों महिलाएं पहली बार मंदसौर की सड़कों पर निकली और दरिंदगी करने वालों को सरेआम फांसी देने की मांग की। हजारों की तादाद में छोटी मासूम बच्चियों सहित बुजुर्ग महिलाएं हाथों में तख्तियां लिए शहर के सड़कों पर मासूम को इंसाफ दिलाने के लिए प्रदर्शन कर रही हैं।