‘‘शिक्षा जीवनोपयोगी होनी चाहिए’’
   दिनांक 06-जून-2018


 

वर्ग को संबोधित करते श्री मुकुल कानिटकर
 
भारतीय शिक्षण मण्डल के शैक्षिक प्रकोष्ठ का दो दिवसीय अभ्यास वर्ग शिमला के विकास नगर स्थित सरस्वती विद्या मन्दिर में संपन्न हुआ। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में भारतीय शिक्षण मंडल के राष्ट्रीय संगठन मंत्री श्री मुकुल कानिटकर एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में श्री बनवारी लाल नाटिया एवं गोविन्द उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता इंदिरा गांधी विश्वविद्यालय, रेवाड़ी के कुलपति प्रो़ एस़पी़ बंसल ने की।