इनके कदम कभी ठिठकते नहीं...
   दिनांक 06-जून-2018

समाचार पत्र-पत्रिकाओं के वितरक कितना महत्वपूर्ण कार्य करते हैं, इसे समाचार पत्रों का प्रबंधन भलीभांति जानता है। भीषण सर्दी, गर्मी, बारिश, ओलावृष्टि में भी उनके कदम कभी रुकते नहीं। समय से अखबार हर ग्राहक के पास पहुंचे, उसकी चिंता का ध्यान रखते हैं। इतने महत्वपूर्ण कार्य के बावजूद ऐसे लोगों को भुला दिया जाता है। फिर भी यह समूह जोश-जुनून के साथ अपने काम को बड़ी निष्ठा के साथ करता है और इसमें कभी कोताही नहीं बरतता। पाञ्चजन्य और आर्गनाइजर दोनों पत्रिकाओं ने अनूठी पहल करते हुए अपने वितरकों को न केवल सम्मानित किया बल्कि उनके परिश्रम और महत्वपूर्ण कार्य को सराहा। इसी कड़ी में पिछले दिनों नई दिल्ली के कांस्ट्टीयूशन क्लब में भारत प्रकाशन (दिल्ली) लिमिटेड की ओर से वितरक स्नेह मिलन का कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस अवसर पर पाञ्चजन्य के संपादक श्री हितेश शंकर, आर्गनाइजर के संपादक श्री प्रफुल्ल केतकर, रा.स्व.संघ के उत्तर क्षेत्र के सह क्षेत्र कार्यवाह श्री विजय कुमार एवं दिल्ली प्रांत के प्रचार प्रमुख श्री राजीव तुली प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

 

मंच पर विराजमान(बाएं से) सर्वश्री हितेश शंकर,प्रफुल्ल केतकर,विजय कुमार, नरेंद्र सेठी एवं राजीव तुली

 

राष्ट्र सेविका समिति का प्रशिक्षण वर्ग

‘‘शिक्षित और संस्कारी नारी परिवार की धुरी होती है। उसके द्वारा प्राप्त संस्कार दोनों कुलों की शोभा बढ़ाते हैं। मातृशक्ति विश्व की आधी आबादी है। उसके संस्कार से ही विश्व का कल्याण सम्भव है।’’ उक्त बात राष्टÑ सेविका समिति के शिक्षा वर्ग में सुश्री शशि सिंह ने कही। वे पिछले दिनों जबलपुर के नालंदा पब्लिक स्कूल में महाकौशल प्रांत के राष्टÑ सेविका समिति के प्रशिक्षण वर्ग को संबोधित कर रही थीं। उल्लेखनीय है कि वर्ग में प्रान्त से 127 बहनों ने भाग लिया। इन सभी बहनों ने प्रात: 5 बजे से रात्रि 10 बजे तक अथक परिश्रम कर विभिन्न विषयों की शिक्षा प्राप्त की।