सांप छछुंदर के खेल में फंसी कांग्रेस! सांप छछुंदर के खेल में फंसी कांग्रेस!
सांप छछुंदर के खेल में फंसी कांग्रेस!
   दिनांक 18-जुलाई-2018
 
कांग्रेस मुसलमानों की पार्टी है। राहुल गांधी के इस बयान के बाद कांग्रेस की स्थिति सांप और छछुंदर जैसी हो गई है न तो कांग्रेस इस बयान से पलट सकती है न बयान पर टिकी रह सकती है।गौर करने वाली बात है कि क्या अब कांग्रेस में सभी अपने नाम के आगे मोहम्मद या मुगल लिखना शुरू कर देंगे। राहुल गांधी के इस बयान के बाद बेहतर है कि कांग्रेस के लोग अपने नाम के आगे मोहम्मद लिखना शुरू कर दें। राहुल गांधी द्वारा मुस्लिम बुद्धिजीवियों के सामने कांग्रेस को मुस्लिमों की पार्टी कहने के बाद कांग्रेसी अब नींद से जागे हैं और कह रहे हैं कि अख़बार की खबर झूठी है। वहीं अख़बार कह रहा है, हम अपनी खबर पर कायम हैं।
"इंकलाब" अख़बार के संपादक ने कहा है कि जब राहुल गांधी ने कांग्रेस को मुस्लिमों की पार्टी कहा तो वो वह वहीं मौजूद थे।
उधर,उनके एक नेता शकील अहमद पूछ रहे हैं कि मोदी जी को उर्दू पढ़ना कब से आ गया जो उर्दू अख़बार का उदाहरण देकर बोल रहे हैं। इन सब बातों का अब क्या अर्थ ? वैसे राहुल गांधी ने कोई नई बात नहीं बोली, उसकी जुबान पर वो सच आ ही गया जो कांग्रेस हमेशा से करती आई है। कांग्रेस हमेशा मुस्लिम तुष्टीकरण की राजनीति करते आई है। चलिए यह मान भी लिया जाए कि कांग्रेस अध्यक्ष ने ऐसा नहीं कहा तो तो उससे क्या फ़र्क़ पड़ जाएगा। हालांकि यह बहुत अच्छा हुआ कि राहुल ने जो सत्य बोल दिया भारतीय जनमानस के सामने। अब इतने अच्छे दिन तो आ ही गए हैं कि
1.पाकिस्तान में राजनीतिक दल मोदी के नाम पर वोट मांग रहे हैं।
2.राहुल गांधी अपने कपड़ों के ऊपर जनेऊ पहन कर मंदिर में जाकर दर्शन कर रहे हैं
3.ओवैसी ने कर्नाटक में वोट मांगने के लिए भगवा साफा बांध लिया
4. अब सीताराम येचुरी शोभा यात्रा में सर पर "कलश" उठाए घूम रहे हैं
(खेमचंद शर्मा जी के फेसबुक वाल से संपादित अंश साभार)