अर्थव्यवस्था में अटल जी का योगदान
   दिनांक 20-अगस्त-2018
24 अक्टूबर 1998 को वाजपेयी जी ने FICCI बैठक में कहा, "यह सरकार देश के अलग-अलग क्षेत्रों को जोड़ने के लिए 7,000 किलोमीटर लंबी रोड प्रोजेक्ट की शुरुआत करेगी। इस योजना की शुरुआत इसी साल से कर दी जाएगी।" और इस प्रकार भारत को "गोल्डेन क्वाड्रिलेटरल" (स्वर्णिम चतुर्भुज) मिला।
वाजपेयी जी ने दो महत्वाकांक्षी परियोजनाओं को लॉन्च किया। इसमें पहली परियोजना गोल्डेन क्वाड्रिलेटरल के जरिए देश के चार महानगरों को जोड़ने के लिए नेशनल हाइवे डेवलपमेंट प्रोजेक्ट (NHDP) था। दूसरी परियोजना देश के सभी ग्रामीण इलाकों को जोड़ने को लेकर था जिसका नाम प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (PGMSY) था। इन दोनों परियोजनाओं ने देश के रियल एस्टेट सेक्टर, कॉमर्स और ग्रामीण अर्थव्यवस्था को क्रांतिकारी रूप से बदल दिया।
भारतीय अर्थव्यवस्था में एक प्रधानमंत्री के तौर पर वाजपेयी जी का योगदान हमेशा ही अनुकरणीय रहा है। 21वीं सदी में भारत को दुनिया के सबसे बड़ी अर्थव्यवथा की कतार में लाकर खड़ा करने के लिए उन्होंने आर्थिक नीति के ढांचे में कर्इ अहम बदलाव किए थे। टेलिकम्युनिकेशंस, सीविल एविएशन, बैंकिंग, इन्श्योरेंस, पब्लिक सेक्टर एंटरप्राइज, विदेशी व्यापार एंव निवेश, प्रत्यक्ष एंव अप्रत्यक्ष कर, कृषि बाजार, लघु एवं मध्य उद्योग, अर्बन लैंड सीलिंग्स, हार्इवे, ग्रामीण रोड, प्राथमिक शिक्षा, बंदरगाह, इलेक्ट्रीसिटी, पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतें और ब्याज दर कुछ ऐसे सेक्टर्स जिसके उत्थान ने पूरे विश्व में भारत के आर्थिक कद को बढ़ाया है।
आज पूरा देश अटल जी के निधन पर दुखी है। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी अब पंचतत्व में विलीन हो चुके हैं। विभिन्न औद्योगिक संगठनों के पदाधिकारियों और शीर्ष उद्योगपतियों ने वाजपेयी जी के निधन को अपूरणीय क्षति बताते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है।
रतन टाटा : वाजपेयी जी एक महान नेता होने के साथ ही एक बेहतरीन शख्सियत थे। हम उन्हें सदैव याद करते रहेंगे।
सीआइआइ के अध्यक्ष राकेश भारती मित्तल : देश में आर्थिक सुधारों का दूसरा दौर वाजपेयी जी के कुशल नेतृत्व में शुरू हुआ था। उन्होंने अर्थव्यवस्था और बाजार से जुड़े कई सुधारों को अंजाम दिया।
फिक्की के अध्यक्ष राशेश शाह : वाजपेयी जी देश के महानतम नेताओं में से एक थे। उन्होंने आर्थिक सुधारों और विकास की प्रक्रिया को प्रभावशाली ढंग से आगे बढ़ाया।
बायोकॉन की प्रमुख किरण मजुमदार शॉ : हमने अपने युग के एक महान राजनेता को खो दिया है, जो प्रधानमंत्री के रूप में देश को नई ऊंचाइयों तक ले गए थे।
अडाणी समूह के प्रमुख गौतम अडाणी : अटल बिहारी वाजपेयी जी आने वाली पीढिय़ों को पे्ररित करते रहेंगे।
जिंदल स्टील एंड पावर के चेयरमैन नवीन जिंदल : वाजपेयी जी एक महान नेता और राजनीतिज्ञ थे, जिनसे करोड़ों लोग प्रेम करते हैं।
वेदांत समूह के प्रमुख अनिल अग्रवाल : भारत ने धरती के सच्चे सपूत को खो दिया है। उन्होंने प्रतिकूल परिस्थियों में उभर कर कठिन समय में देश को नेतृत्व प्रदान किया।