सामाजिक समरसता से मजबूत होगा देश

 

संगोष्ठी को संबोधित करते श्री देवजी भाई  मंच पर उपस्थित विशिष्टजन

संगोष्ठी को संबोधित करते श्री देवजी भाई  मंच पर उपस्थित विशिष्टजन

गत 19 अगस्त को जोधपुर महानगर स्थित कमला नेहरू नगर के आदर्श विद्या मन्दिर में सामाजिक समरसता पर केंद्रित संगोष्ठी संपन्न हुई। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में विश्व हिन्दू परिषद के केंद्रीय मंत्री श्री देवजी भाई उपस्थित थे। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि राष्ट्र का विकास सामाजिक समरसता से ही सम्भव है। इसलिए जातीय भेदभाव समाज पर एक कलंक के समान है।

सनातन धर्म में जातीय भेदभाव का कहीं पर भी कोई उल्लेख नहीं मिलता। भगवान श्री राम ने भीलणी जाति की महिला के झूठे बेर खाये और केवट को गले लगाया। हकीकत में जातिगत भेदभाव मुगल शासकों की देन है। विदेशी आक्रमणकारियों ने हिन्दू समाज में फूट डालने और हिन्दुस्थान पर राज करने के लिए इस तरह की कूटनीति चली थी। इस कूूटनीति में वे सफल रहे और समाज को आपस में बांटकर विदेशी आक्रमणकारियों ने सैकड़ों वर्षों तक भारत पर राज किया।

उन्होंने कहा कि आज देश व समाज में समरसता स्थापित करने की जरूरत है। यह तभी स्थापित होगी जब विभिन्न बस्तियों में संस्कार केन्द्रों का संचालन होगा। क्योंकि उत्तम संस्कारों से ही समरसता का निर्माण होता है।

कार्यक्रम के अध्यक्ष श्री कमल जोशी ने कहा कि हर व्यक्ति अगर अपने से सामाजिक भेदभाव मिटाने की शुरुआत करे तो हम देश में शीघ्र ही सामाजिक समरसता स्थापित कर सकते हैं।