Panchjanya - अ.भा. भारतीय साहित्य परिषद ने मनायी मुंशी प्रेमचंद जयन्ती अ.भा. भारतीय साहित्य परिषद ने मनायी मुंशी प्रेमचंद जयन्ती
अ.भा. भारतीय साहित्य परिषद ने मनायी मुंशी प्रेमचंद जयन्ती
   दिनांक 08-अगस्त-2018
 
 
संगोष्ठी में उपस्थित विशिष्टजन
अखिल भारतीय साहित्य परिषद् की शिमला इकाई ने कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद की जयन्ती के उपलक्ष्य में 31 जुलाई को शिमला के रोटरी टाउन हॉल में उनकी कहानियों की वर्तमान में प्रासंगिकता विषय पर विचार गोष्ठी एवं कविता पाठ का आयोजन किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता शिमला इकाई के अध्यक्ष सेवानिवृत्त प्रशासनिक अधिकारी के़ आऱ भारती ने की तो वहीं विशेष अतिथि के रूप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत प्रचार प्रमुख एवं मातृवंदना संस्थान के प्रबंधक महीधर प्रसाद उपस्थित थे। इस अवसर पर के़ आऱ भारती ने अतिथियों का स्वागत किया व प्रेमचंद पर बीजपत्र प्रस्तुत किया। डॉ़ हेमराज कौशिक ने शोध पत्र पढ़ा और प्रेमचंद की कहानियों के अनेक प्रसंगों का वर्णन करते हुए आज के संदर्भ में उनकी प्रासंगिकता पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम में उपस्थित सेवानिवृत्त प्रशासनिक अधिकारी विनोद प्रकाश गुप्ता ने अपने शोध-पत्र के माध्यम से प्रेमचंद की कहानियों में उठाई गई सामाजिक समस्याओं की व्याख्या करते हुए कहा कि प्रेमचंद एक अमर साहित्यकार थे और उनकी कहानियों ने यथार्थ को नया रूप दिया। प्रेमचंद का साहित्य तत्कालीन समाज के सुख-दु:ख का साहित्य है।