11-12 अगस्त को भोपाल में यंग थिंकर्स कॉन्क्लेव का आयोजन
   दिनांक 08-अगस्त-2018
 
 
आज के भारत की सबसे बड़ी पूंजी और सबसे बड़ी ताकत युवा हैं और ये युवा अपने देश के लिए कुछ करना चाहते हैं। अपने हुनर और कौशल से देश को नई ऊंचाइयों पर ले जाना चाहते हैं। लेकिन उन्हें जरूरत है-उचित मंच, अवसर और मार्गदर्शन की। ऐसे युवाओं को ध्यान में रखते हुए यंग थिंकर्स कॉन्क्लेव-2018 के तहत माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय में प्री-टॉक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में प्रज्ञा प्रवाह के प्रांतीय संयोजक दीपक शर्मा उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि देश को आज बौद्धिक योद्धाओं की आवश्यकता है, जो बौद्धिक क्षेत्र में भारत की प्रतिष्ठा को स्थापित करें। क्योंकि आज दुनियाभर में भारत के ज्ञान भण्डार वेद, उपनिषद, पुराण इत्यादि पर शोध-अध्ययन किए जा रहे हैं। यहां तक कि यूरोप के कई देश संस्कृत पर कार्य कर रहे हैं और यहां से अच्छी बातें लेकर अमल में ला रहे हैं। अपने यहां संस्कृत के विद्वान उत्पन्न कर रहे हैं। लेकिन दुख है कि भारत के लोग अपनी ज्ञान-परंपरा की अनदेखी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज भले ही दुनिया में युद्ध की स्थितियां न हों, लेकिन सबसे कठिन समय यही है। दुनिया में सब जगह बौद्धिक युद्ध छिड़ा हुआ है। इस वातावरण में युवा ही सकारात्मक भारत का निर्माण कर सकते हैं। कार्यक्रम के अध्यक्ष कुलाधिसचिव श्री लाजपत आहूजा ने कहा कि युवाओं के विचार ताजगी भरे होते हैं। समस्याएं सब गिनाते हैं, लेकिन युवा उनके समाधान भी दे सकते हैं। युवा मन में अधिक नवाचारी विचार और समाधान आते हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी देश की प्रगति में जागरूक युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इसलिए मध्य प्रदेश यंग थिंकर्स कॉन्क्लेव युवाओं को एक मंच पर लाने का सार्थक आयोजन है। युवाओं की ऊर्जा को दिशा देने के लिए इस प्रकार के आयोजनों की समाज में आज बहुत आवश्यकता है। उल्लेखनीय है कि दो दिवसीय यंग थिंकर्स कॉन्क्लेव 11-12 अगस्त को राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, भोपाल में होगा।
(विसंकें, भोपाल)