धर्म संस्कृति

गढ़मुक्तेश्वर में हुआ था महाभारत में मारे गए योद्धाओं का पिंडदान

गढ़मुक्तेश्वर में हुआ था महाभारत में मारे गए योद्धाओं का पिंडदान

प्राचीन काल से ही नदियों किनारे लगने वाले मेलों का भारतीय संस्कृति में बहुत महत्व है। कुंभ और अर्द्धकुंभ के साथ ही पश्चिमी उत्तर प्रदेश में लगने वाले क्षेत्रीय मेलों की भी अपनी महत्ता है। कार्तिक पूर्णिमा पर वेस्ट यूपी में गंगा नदी पर कई भव्य मेलों का आयोजन होता है। इनमें हापुड़ जनपद के गढ़मुक्तेश्वर में कार्तिक पूर्णिमा पर लगने वाले गंगा मेले का संबंध महाभारत काल से है। बताया जाता है कि महाभारत युद्ध के बाद सम्राट युधिष्ठिर ने युद्ध में मारे गए असंख्य लोगों की आत्मा की शांति के लिए गढ़मुक्तेश्वर में ..

आगे पढ़े