चर्चित आलेख
धर्म संस्कृति जनवरी. १८, २०२१

सांस्कृतिक स्वतंत्रता का सूर्योदय

गोपाल शर्माअयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर बनने जा रहा मंदिर भारतीयों के लिए सांस्कृतिक स्वतंत्रता का सूर्योदय सिद्ध होगा। हिंदू बरसों से अपने आराध्य भगवान श्रीराम का मंदिर बनाना चाहते थे, लेकिन वह शुभ घड़ी अब आई है   5 अगस्त, 2020 को अयोध्या में श्रीराम मंदिर के लिए भूमिपूजन करते प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और सरसंघचालक श्री मोहनराव भागवत इन दिनों पूरे देश में अयोध्या में बनने वाले श्रीराम मंदिर के लिए निधि समर्पण अभियान चल रहा है। यह बहुत ही पुनीत अवसर है। इस अवसर पर श्रीराम मंदिर के लिए चले

5 Days 21 Hr ago
संपादकीय
बेलाग दिसंबर. ०४, २०२०

क्या उन्माद के आढ़ती काटेंगे आंदोलन की फसल!

इस घड़ी में सरकार या वास्तविक किसानों, दोनों के लिए महत्वपूर्ण बात ये है कि भाषा का संयम बनाए रखा जाए। कड़वी भाषा, आक्रामक तौर तरीकों, अन्य नागरिकों के लिए परेशानी खड़ी करने वाले पैंतरों से से बचा जाए। जो भी लोग संवाद के इच्छुक हैं वो सामने आएं और उनकी आंशकाओं का निर्मूलन किया जाए साथ ही उपद्रवियों के साथ सख्ती और पारदर्शिता से निपटा जाए। दिसंबर माह के पहले सप्ताह में सर्दी बढ़ने के साथ-साथ कथित किसान आंदोलन गर्म हो गया है। दिल्ली को अन्य राज्यों के साथ जोड़ने वाले जोड़ों की जकड़न बढ़ गई है। राजधानी के लिए यह सर्द-

50 Days 18 Hr ago
बहुरंग
चौपाल / ब्लॉग
सोशल मीडिया नवंबर. १८, २०२०

गेशे जम्पा -उपन्यास की चौदहवीं व पंद्रहवीं कड़ी

नीरजा माधव हमारे भारत देश में तिब्बती शरणार्थियों की एक बड़ी संख्या है। चीन की विस्तारवादी नीति के परिणामस्वरूप एक अहिंसक धार्मिक देश तिब्बत पराधीन हो गया। 1959 में इसका चरमोत्कर्ष देखने को मिला जब तिब्बत के राष्ट्राध्यक्ष परम पावन दलाई लामा को अपने लाखों अनुयायियों के साथ अपना देश छोड़ भारत में शरण लेनी पड़ी।  भारत में रह रहा तिब्बती समुदाय तिब्बत में रह रहे चीनी सत्ता से संघर्षरत तिब्बतियों की सबसे बड़ी ताकत बना हुआ है। 19वीं सदी के अन्त तक तिब्बत स्वतंत्र था। तिब्बत के राजनीतिक, सांस्कृतिक और मानवीय अधि

66 Days 19 Hr ago
वीडियो गैलरी
तथ्यपत्र / फैक्टशीट
तकनीक
तकनीक दिसंबर. ३०, २०२०

तकनीक ‘इंटेलिजेंट’ तो शहर क्यों न हों ‘स्मार्ट’!

बालेन्दु शर्मा दाधीचदुबई और डेनमार्क जैसे देशों में तकनीक और मोबाइल एप्लीकेशन के जरिए शहरी गतिविधियों का संचालन किया जा रहा है, इसलिए भारत में भी स्मार्ट सिटी विकसित की जा रही हैं। जरूरत इस बात की है कि नए शहर बसाने से पहले उसकी योजना इस प्रकार बनाई जाए ताकि उनका संचालन अत्यंत कार्यकुशलता के साथ किया जा सकेभारत ही नहीं, दुनियाभर के शहरों पर बढ़ती आबादी का दबाव है। तकनीक, आर्थिक, सुख-सुविधाओं और पर्यावरणीय परिवर्तनों ने स्मार्ट सिटी में रुचि पैदा की हैडेनमार्क की राजधानी कोपेनहेगन में यातायात, हवा की गुणवत्त

24 Days 18 Hr ago
तकनीक दिसंबर. २३, २०२०

सूचनाओं का पुख्ता तंत्र है कल का मंत्र

बालेन्दु शर्मा दाधीचऐसा नहीं लगता कि ब्लॉकचेन और क्रिप्टोकरेन्सी का विकास किसी आपराधिक मकसद से हुआ और यह तकनीकी दुनिया में सक्रिय ऐसे लोगों के दिमाग की उपज है जो मुक्त की अवधारणा में यकीन रखते हैं-जैसे मुक्त सॉफ्टवेयर, मुक्त कोड, मुक्त सूचनाएं, मुक्त लेन-देन आदि। लेकिन इनके लाभ असाधारण हैंदुनिया के लेन-देन तथा सूचना संग्रहण प्रणालियों का भविष्य है ब्लॉकचेन मेंब्लॉकचेन दुनिया भर में फैले लाखों कंप्यूटरों पर सूचनाओं को कूट (एनक्रिप्टेड) संकेतों के रूप में सुरक्षित रखने की प्रणाली है। यह हर क्षेत्र में क्रांत

31 Days 18 Hr ago
बोधिवृक्ष
TAGS