पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

राज्य

अरावली वन क्षेत्र से अवैध निर्माण तोड़ने के आदेश

WebdeskJun 07, 2021, 03:02 PM IST

अरावली वन क्षेत्र से अवैध निर्माण तोड़ने के आदेश

सर्वोच्‍च न्‍यायालय ने फरीदाबाद के खोरी गांव में अरावली वन क्षेत्र में अवैध रूप से बने 10,000 घरों को तोड़ने का आदेश दिया है। फरीदाबाद नगर निगम और स्‍थानीय पुलिस को 6 सप्‍ताह में बेदखली के आदेश पर अमल करने करना होगा। सर्वोच्‍च न्‍यायालय ने हरियाणा के खोरी गांव में अवैध रूप से बने करीब 10,000 घरों को तोड़ने का आदेश दे दिया है। ये घर अरावली वन क्षेत्र में अतिक्रमण कर बनाए गए हैं। साथ ही, फरीदाबाद ने फरीदाबाद नगर निगम और स्‍थानीय पुलिस (फरीदाबाद) को छह सप्‍ताह के भीतर बेदखली का आदेश सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। मामले की अगली सुनवाई 27 जुलाई को होगी। फरीदाबाद के खोरी गांव में अवैध रूप से निर्मित लगभग 10,000 घरों को तोड़ने पर रोक लगाने की मांग करने वाली एक याचिका पर सुनवाई के दौरान शीर्ष अदालत ने यह आदेश दिया। हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण पुनर्वास नीति को चुनौती देते हुए संविधान के अनुच्छेद-32 के तहत यह रिट याचिका दायर की गई थी। इसमें दावा किया गया है कि फरीदाबाद नगर निगम ने कथित तौर पर उचित प्रक्रिया और कानून का पालन किए बिना 1700 झुग्गियों को ध्‍वस्‍त कर दिया था। इस पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति ए.एम. खानविलकर और न्यायमूर्ति दिनेश माहेश्वरी की अध्यक्षता वाली पीठ ने इन अवैध निर्माणों की बेदखली पर रोक लगाने से इनकार करते हुए कहा कि भूमि हथियाने वाले कानून के शासन की शरण नहीं ले सकते। न्‍यायालय ने अपने फैसले में कहा, "हमारी राय में याचिकाकर्ता फरवरी 2020 और अप्रैल 2021 में उच्च न्यायालय और सर्वोच्च न्यायालय द्वारा दिए गए निर्देशों से बंधे हुए हैं। वन भूमि के साथ कोई समझौता नहीं किया जा सकता है।" सर्वोच्‍च न्‍यायालय ने यह भी स्पष्ट किया कि फरीदाबाद नगर निगम फरवरी 2020 के आदेश के अनुसार आगे बढ़ेगा और राज्‍य सरकार निगम को बेदखली के आदेश को पूरा करने और वन भूमि पर से अतिक्रमण हटाने के लिए जरूरी सहायता देगी। इसके अलावा, शीर्ष अदालत ने बेदखली प्रक्रिया में निगम अधिकारियों को पुलिस सुरक्षा प्रदान करने की जिम्‍मेदारी फरीदाबाद के डीसीपी को सौंपी है। web desk

Comments

Also read: नहीं रहे गांधीवादी विचारक पद्मश्री एसएन सुब्बाराव ..

Osmanabad Maharashtra- आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

#Osmanabad
#Maharashtra
#Aurangzeb
आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

Also read: बरेली जेल का वार्डर भी पाकिस्तान की जीत पर खुश, मामला हुआ दर्ज ..

पुंछ में सुरक्षा बलों ने हथियारों का जखीरा किया बरामद
एनआईए की छापेमारी, भाजपा सांसद अर्जुन सिंह के घर बम फेंकने के मामले में दो गिरफ्तार

डॉक्टर बताकर मसरूर ने नाबालिग हिन्दू छात्रा का किया दुष्कर्म, बंधक बनाकर कराया कन्वर्जन और बनाए अश्लील वीडियो

पीलीभीत में त्वचा का इलाज करने के नाम पर कथित चिकित्सक मसरूर ने हिन्दू छात्रा से पहले नजदीकी बढ़ाई और फिर उसे अपने प्रेम जाल में फंसा लिया। जिहादी ने उसके साथ दुष्कर्म करके कराया कन्वर्जन   त्वचा का इलाज करने के नाम पर कथित मुस्लिम चिकित्सक मसरूर ने हिन्दू छात्रा से पहले नजदीकी बढ़ाई और फिर उसे अपने प्रेम जाल में फंसा लिया। बाद में उसके साथ दुष्कर्म किया और उसकी वीडियो बना ली। स्वजनों का आरोप है कि जिहादी ने नाबालिग छात्रा के आधार कार्ड में भी संशोधन कराकर उसकी उम्र बढ़वा ली और बंधक ...

डॉक्टर बताकर मसरूर ने नाबालिग हिन्दू छात्रा का किया दुष्कर्म, बंधक बनाकर कराया कन्वर्जन और बनाए अश्लील वीडियो