पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

कोरोना से लड़ने के लिए रूस ने की मदद, अमेरिका भी आया आगे

WebdeskApr 29, 2021, 03:24 PM IST

कोरोना से लड़ने के लिए रूस ने की मदद, अमेरिका भी आया आगे

रूस ने दो विमानों में भेजी मेडिकल सहायता भेजी है। वहीं अमेरिका ने भी 100 मिलियन डॉलर की सहायता की घोषणा की है। अमेरिका द्वारा भेजी गई मदद भी शुक्रवार शाम तक भारत पहुंच जाएगी भारत में कोरोना महामारी के सबसे कठिन दौर में बड़ी संख्या में देश भारत को मेडिकल सहायता भेजने के लिए कदम उठा रहे हैं। अमेरिका और रूस ने भारत में कोविड महामारी से निपटने के लिए बड़ी सहायता भेजी है। रूस से भेजे गए मेडिकल उपकरण और दवाइयों से भरे दो कार्गों हवाईजहाज दिल्‍ली में उतर चुके हैं। वहीं, अमेरिका भी चिकित्सा आपूर्ति की पहली खेप को भेज रहा है। शुक्रवार को शाम तक यह भी भारत पहुंच जाएगी। अमेरिका भारत को 100 मिलियन डॉलर की मेडिकल सहायता कर रहा है। बता दें कि भारत ने कोरोना की पिछली लहर में सभी देशों की मदद के लिए कारगर कदम उठाए थे। इस पर जब भारत को जरूरत है तो बिना भारत के कहे बड़ी संख्या में देश भारत को मेडिकल सहायता भेजने के लिए कदम उठा रहे हैं। ऐसा तब है जबकि भारत की तरफ से मदद के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपील नहीं की गई है। रूस के विमान के विमान बृहस्पतिवार सुबह मदद लेकर भारत पहुंचे। रूस के दो विमान 20 ऑक्सीजन कंसंटेटर, 75 वेंटिलेटर, 150 बेडसाइड मॉनिटर और दवाइयां लेकर यहां पर पहुंचे। वहीं अमेरिका की तरफ से बयान में कहा गया है कि अमेरिका ने भारत को भेजी जाने वाली सारी मेडिकल सहायता की तैयारी कर ली है। शुक्रवार शाम तक सहायता यहां पर पहुंच जाएगी। ये देश मदद के ल‍िए आए हैं आगे बता दें कि अमेरिका, रूस, फ्रांस, जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया, आयरलैंड, बेल्जियम, रोमानिया, लक्समबर्ग, सिंगापुर, पुर्तगाल, स्वीडन, न्यूजीलैंड, कुवैत और मॉरीशस सहित कई प्रमुख देशों ने भारत को महामारी से लड़ने में मदद करने के लिए मेडिकल सहायता की घोषणा कर चुके हैं।

Comments

Also read: आपदा प्रभावित 317 गांवों की सुध कौन लेगा, करीब नौ हजार परिवार खतरे की जद में ..

Afghanistan में तालिबान के आतंक के बीच यहां गूंज रहा हरे राम का जयकारा | Panchjanya Hindi

अफगानिस्तान का एक वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें नवरात्रि के दौरान काबुल के एक मंदिर में हिंदू समुदाय लोग ‘हरे रामा-हरे कृष्णा’ का भजन गाते नजर आ रहे हैं।
#Panchjanya #Afghanistan #HareRaam

Also read: श्री विजयादशमी उत्सव: भयमुक्त भेदरहित भारत ..

दुर्गा पूजा पंडालों पर कट्टर मुस्लिमों का हमला, पंडालों को लगाई आग, तोड़ीं दुर्गा प्रतिमाएं
कुंडली बॉर्डर पर युवक की हत्‍या, शव किसान आंदोलन मंच के सामने लटकाया

सहारनपुर में हो रहा मदरसे का विरोध, जानिए आखिर क्या है कारण

सहारनपुर के केंदुकी गांव में बन रही जमीयत ए उलेमा हिन्द की बिल्डिंग का गांव वालों ने भारी विरोध किया है। विधायक की शिकायत पर डीएम अवधेश कुमार ने काम रुकवा दिया है। सहारनपुर के केंदुकी गांव में बन रही जमीयत ए उलेमा हिन्द की बिल्डिंग का गांव वालों ने भारी विरोध किया है। विधायक की शिकायत पर डीएम अवधेश कुमार ने काम रुकवा दिया है। जमीयत के अध्यक्ष मौलाना मदनी का कहना है कि ये मदरसा नहीं है बल्कि स्काउट ट्रेनिंग सेंटर है। अक्सर विवादों में घिरे रहने वाले जमीयत ए उलमा हिन्द के राष्ट्रीय अध्यक् ...

सहारनपुर में हो रहा मदरसे का विरोध, जानिए आखिर क्या है कारण