पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

संस्कृति

दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक पर्यटन स्थल बनेगा ब्रज

WebdeskFeb 16, 2021, 07:02 AM IST

दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक पर्यटन स्थल बनेगा ब्रज

सभी परियोजनाओं के पूरा होने पर ब्रज क्षेत्र दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक पर्यटन स्थल बनेगा. भगवान कृष्‍ण की धरती पर गो-सेवा स्‍थलों के साथ गीता शोध संस्‍थान की स्‍थापना इसे विश्‍वस्‍तरीय पहचान दिलाएगी. यमुना की धारा को अविरल एवं निर्मल बनाया जाएगा गत दिनों मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ब्रज क्षेत्र की 119 करोड़ रुपए की 47 परियोजनाओं का लोकार्पण किया. इसके साथ ही 291 करोड़ रुपए की 48 योजनाओं की आधारशिला रखी. यूपी का वृंदावन देश वासियों की आस्‍था का सबसे बड़ा केन्‍द्र होने के साथ-साथ विदेशी पर्यटकों की पहली पसंद है. हर वर्ष हजारों की संख्‍या में विदेशी पर्यटक आते हैं. खासकर कर होली के मौके पर पर्यटकों की सबसे अधिक भीड़ रहती है. संतो के सहयोग से सरकार वृंदावन को वैश्विक स्‍तर पर पहचान दिलाने के लिए जुटी है. प्रदेश सरकार प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के मार्गदर्शन में वाराणसी, अयोध्‍या, प्रयागराज, संकिसा, कुशीनगर समेत कई जिलों को धार्मिक पर्यटन के रूप में विकसित कर रही है. काशी विश्‍वनाथ कॉरिडोर का कार्य तेजी से चल रहा है. प्रयागराज का कुंभ मेला धार्मिक पर्यटन के विकास का उदाहरण बन चुका है. अयोध्‍या को विश्‍वस्‍तरीय शहर के रूप में विकसित किया जा रहा है. इसी तरह पूरे ब्रजक्षेत्र को भी विभिन्‍न परियोजनाओं के जरिए वैश्‍विक स्‍तर पर विकसित किया जाएगा. उल्लेखनीय है कि 1593.30 लाख रूपए से राजकीय जवाहरबाग मुथरा को संवारा जाएगा. 492.78 लाख रुपए से वृंदावन के गीता शोध संस्थान की स्थापना व भवन का निर्माण होगा, 439.81 लाख रुपए से वृंदावन के ब्रह्मर्षि बाबा आश्रम के सामने यमुना नदी के किनारे पर घाट का निर्माण, इसके अलावा भोई कुंड, कबीर कुंड, रावल कुंड का जीर्णोंद्वार व सुंदरीकरण भी किया जाएगा. वहीं, 828.64 लाख रुपए से मथुरा में राजकीय महाविद्यालय व 2438 लाख रुपए से गांव बाटी में नया राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय बनाया जाएगा.

Comments

Also read: आर्थिक विवादों के निवारण के लिए थे व्यापक विधान ..

Osmanabad Maharashtra- आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

#Osmanabad
#Maharashtra
#Aurangzeb
आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

Also read: वैदिक काल में होता था दूरस्थ देशों से व्यापार ..

शरद पूर्णिमा का अमृत उत्सव, जानिये सबकुछ
चीन सीमा तक पहुंचने लगी हैं सड़कें, मोदी सरकार के कार्यकाल में शुरू हुआ काम अंतिम चरण में

भगवान बदरीनाथ धाम के कपाट 20 नवंबर को होंगे बंद

  श्री केदारनाथ धाम, श्री यमुनोत्री धाम के कपाट 6 नवंबर को और श्री गंगोत्री धाम के कपाट 5 नवंबर को बंद होंगे।   भगवान बदरीनाथ धाम के कपाट 20 नवंबर को शाम 6 बजकर 45 मिनट पर बंद हो जाएंगे। पंच पूजा 16 नवंबर से शुरू होगी। शुक्रवार को श्री बदरीनाथ मंदिर परिसर में आयोजित कार्यक्रम में इस वर्ष श्री बदरीनाथ धाम के कपाट बंद होने की तिथि तय हुई। तिथि की घोषणा रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी ने की। पंच पूजा में 16 नवंबर को गणेश जी की पूजा एवं कपाट बंद, 17 नंवंबर को आदिकेदारेश्वर जी मंदिर के ...

भगवान बदरीनाथ धाम के कपाट 20 नवंबर को होंगे बंद