पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

भारत

नई संजीवनी के रूप में आई 2—डीजी दवा

WebdeskMay 17, 2021, 12:56 PM IST

नई संजीवनी के रूप में आई 2—डीजी दवा

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन यानी डीआरडीओ द्वारा विकसित कोरोना—रोधी दवा 2—डीजी को राष्ट्र को समर्पित कर दिया। कोरोना रोकथाम करने में यह दवा कारगर साबित हुई है इस अवसर पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और दिल्ली एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया भी उपस्थित थे। इसके साथ ही दिल्ली में इस दवा की 10,000 खुराक उपलब्ध हो गई है। बता दें कि इस दवा को भारत के औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने आठ मई को इमरजेंसी इस्तेमाल की अनुमति दी थी। चूर्ण के रूप में मौजूद इस दवा को पानी में घोलकर मरीज को दी जाती है। डीआरडीओ का कहना है कि ग्लूकोज़ पर आधारित इस 2-डीजी दवा के सेवन से कोरोना मरीजों को ऑक्सजीन पर ज्यादा निर्भर नहीं होना पड़ेगा, साथ ही वे जल्दी स्वस्थ हो सकते हैं। अप्रैल, 2020 से इस दवा का परीक्षण चल रहा था। डीआरडीओ के अनुसार परीक्षण के दौरान जिन कोरोना मरीजों को यह दवा दी गई थी, उनकी आरटीपीसीआर रिपोर्ट बहुत जल्दी निगेटिव आई है। इसलिए कहा जा रहा है कि यह दवा कोरोना मरीजों के लिए नई संजीवनी साबित हो सकती है। उम्मीद है कि इस दवा से देश में कोरोना के कहर पर लगाम लग जाएगी। web desk

Comments

Also read:पराग अग्रवाल ट्विटर के नए सीईओ, दुनिया की बड़ी कंपनियों के शीर्ष अधिकारियों में एक और ..

UP Chunav: Lucknow के इस मुस्लिम भाई ने खोल दी Akhilesh-Mulayam की पोल ! | Panchjanya

योगी जी या अखिलेश... यूपी का मुसलमान किसके साथ? इसको लेकर Panchjanya की टीम ने लखनऊ में एक मुस्लिम रिक्शा चालक से बात की. बातों-बातों में इस मुस्लिम भाई ने अखिलेश और मुलायम की पोल खोलकर रख दी.सुनिए ये योगी जी को लेकर क्या सोचते हैं और यूपी में 2022 में किसपर भरोसा करेंगे.
#Panchjanya #UPChunav #CMYogi

Also read:एडमिरल आर. हरि कुमार बने नौसेना प्रमुख, संभाली देश की समुद्री कमान ..

संयुक्त  किसान मोर्चा में फूट, आंदोलन वापसी पर फैसला कल
सीएम धामी ने की देवस्थानम बोर्ड को समाप्त करने की घोषणा, शीतकालीन सत्र में लाया जाएगा प्रस्ताव

बंगाल में अब पानी के साथ चावल में भी है आर्सेनिक की प्रचुर मात्रा

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि आर्सेनिकयुक्त भोजन शरीर में कैंसर की शुरुआत का कारण बनता है   भूजल में सबसे अधिक आर्सेनिक पाए जाने वाले राज्यों में शुमार पश्चिम बंगाल के निवासियों के लिए चिंता बढ़ती ही जा रही है। इसकी वजह है कि यहां पानी के साथ अब चावल में भी बड़े पैमाने पर आर्सेनिक पाया गया है। बंगाल देश का एक ऐसा राज्य है, जहां सालभर धान की खेती होती है। यहां के मूल निवासी बंगाली समुदाय रोटी के बजाय चावल ही सबसे अधिक खाता है और रिसर्च में इस बात का खुलासा हुआ है कि आर्सेनिक की मौ ...

बंगाल में अब पानी के साथ चावल में भी है आर्सेनिक की प्रचुर मात्रा