पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

भारत

पांच राज्यों में ब्लैक फंगस महामारी घोषित

WebdeskMay 21, 2021, 03:16 PM IST

पांच राज्यों में ब्लैक फंगस महामारी घोषित

तमिलनाडु, ओडिशा, असम, पंजाब और राजस्थान में ब्लैक फंगस के रोगियों की संख्या लगातार बढ़ रही है। यह बीमारी उनमें ज्यादा देखने में आ रही है जिनमें मधुमेह का स्तर चढ़ता-उतरता है कोरोना वायरस की महामारी के बीच ही ब्लैक फंगस की मार से कई राज्य प्रभावित हैं और ये संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। केन्द्र सरकार सहित अन्य संबंधित एजेंसियां अब इस ओर पूरी गंभीरता से नजर रखे हैं। पांच राज्यों में ब्लैक फंगस संक्रमण यानी म्यूकरमाइकोसिस को महामारी घोषित कर दिया गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से ब्लैक फंगस संक्रमण (म्यूकरमाइकोसिस) को महामारी रोग अधिनियम 1897 के तहत अधिसूच्य बीमारी मानकर सभी मामलों की सूचना देने को कहा है। उल्लेखनीय है कि तमिलनाडु, ओडिशा, असम और पंजाब ने ब्लैक फंगस को महामारी रोग अधिनियम 1897 के अंतर्गत अधिसूचित भी कर दिया है। राजस्थान में तो ये पहले ही अधिसूचित बीमारी घोषित हो चुकी है। पंजाब में सरकारी अस्पतालों में इस बीमारी से लड़ने के प्रशिक्षण और आवश्यक दवाओं के आदेश भी जारी किए गए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से ब्लैक फंगस संक्रमण से कोरोना रोगियों में बीमारी के देर तक परेशान करने से मरने वालों का आंकड़ा बढ़ रहा है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने हाल ही में राज्यों को एक पत्र लिखा है। इसमें कहा गया है कि इधर कुछ समय में कई राज्यों से कोरोना रोगियों में फंगस संक्रमण की शक्ल में एक नयी चुनौती सामने आई है। यह बीमारी ऐसे कोरोना रोगियों में ज्यादा देखने में आ रही है जिन्हें 'स्टीरॉइड' दिए गए हैं और जिनमें मधुमेह यानी शुगर का स्तर घटता—बढ़ता रहता है। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा है कि इस बीमारी के इलाज के लिए कई चीजों पर विशेष गौर करने की जरूरत है। इस बीमारी में आंखों के चिकित्सक, ईएनटी विशेषज्ञ, सामान्य सर्जन और अन्य विशेषज्ञों की सलाह जरूरी है। पत्र के जरिए राज्यों से कहा गया है कि म्यूकरमाइकोसिस को महामारी रोग अधिनियम 1897 के तहत अधिसूच्य बीमारी तय करें। इसमें सभी सरकारी और निजी स्वास्थ्य संस्थानों, चिकित्सकीय कालेजों, ब्लैक फंगस की निगरानी, निदान, प्रबंधन के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय तथा आईसीएमआर के दिशा-निर्देशों का पालन करें। वेब डेस्क

Comments

Also read:पराग अग्रवाल ट्विटर के नए सीईओ, दुनिया की बड़ी कंपनियों के शीर्ष अधिकारियों में एक और ..

UP Chunav: Lucknow के इस मुस्लिम भाई ने खोल दी Akhilesh-Mulayam की पोल ! | Panchjanya

योगी जी या अखिलेश... यूपी का मुसलमान किसके साथ? इसको लेकर Panchjanya की टीम ने लखनऊ में एक मुस्लिम रिक्शा चालक से बात की. बातों-बातों में इस मुस्लिम भाई ने अखिलेश और मुलायम की पोल खोलकर रख दी.सुनिए ये योगी जी को लेकर क्या सोचते हैं और यूपी में 2022 में किसपर भरोसा करेंगे.
#Panchjanya #UPChunav #CMYogi

Also read:एडमिरल आर. हरि कुमार बने नौसेना प्रमुख, संभाली देश की समुद्री कमान ..

संयुक्त  किसान मोर्चा में फूट, आंदोलन वापसी पर फैसला कल
बंगाल में अब पानी के साथ चावल में भी है आर्सेनिक की प्रचुर मात्रा

तिहाड़ जेल में भूख हड़ताल पर बैठा क्रिश्चिन मिशेल, अगस्ता वेस्टलैंड मामले का है आरोपी

 मिशेल ने गुरुवार से नहीं खाया है खाना, शनिवार को डॉक्टरों ने उसकी सहमति से दिया था ग्लूकोज  तिहाड़ जेल में बंद अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर डील मामले में कथित बिचौलिया रहे क्रिश्चियन मिशेल ने भूख हड़ताल शुरू कर दी है। उसने गुरुवार से खाना नहीं खाया है। जेल प्रशासन का कहना है कि क्रिश्चियन मिशेल के स्वास्थ्य पर निगरानी रखी जा रही है। शनिवार को डॉक्टरों ने उसकी सहमति से ग्लूकोज दिया था। फिलहाल अभी हालत स्थिर है।  जानकारी के अनुसार क्रिश्चियन मिशेल ने गुरुवार से खाना नहीं खाया ...

तिहाड़ जेल में भूख हड़ताल पर बैठा क्रिश्चिन मिशेल, अगस्ता वेस्टलैंड मामले का है आरोपी