पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

विश्व

बैंरग लौटी डब्ल्यूएचओ की टीम, चीन ने नहीं दिया कोरोना का डेटा

WebdeskFeb 16, 2021, 05:27 AM IST

बैंरग लौटी डब्ल्यूएचओ की टीम, चीन ने नहीं दिया कोरोना का डेटा

चीन से कोरोना फैलने का शुरुआती डेटा लेने गई डब्ल्यूएचओ के विशेषज्ञों की टीम को चीन ने कोरोना का डेटा देने से स्पष्ट मना कर दिया कोरोना की शुरुआत कहां से हुई। इसकी उत्पत्ति का स्रोत क्या था। ऐसी तमाम चीजों की जानकारी हासिल करने के लिए चीन गई डब्ल्यूएचओ की टीम के सदस्यों में से एक ने इसकी जानकारी दी। चीन गई टीम ने कोविड-19 के 174 मामलों के संबंध में डेटा मांगा था। बता दें कि पिछले साल चीन के शहर वुहान से कोरोना महामारी की शुरुआत हुई थी। डब्ल्यूएचओ ने चीन से कई अन्य बातों की भी जानकारी मांगी थी लेकिन चीन ने मामलों की पर्याप्त जानकारी मुहैया नहीं कराई. डब्ल्यूएचओ टीम के एक सदस्य और ऑस्ट्रेलियाई संक्रामक रोग विशेषज्ञ डोमिनिक ड्वायर ने इस बारे में बताया। उन्होंने बताया इस तरह के डेटा को ‘लाइन लिस्टिंग’ कहा जाता है। इसमें, मरीजों से क्या सवाल पूछे गए, उनकी प्रतिक्रियाएं और उनकी प्रतिक्रिया का विश्लेषण कैसे किया गया, जैसी जानकारियां शामिल होती हैं। इन आंकड़ों को हासिल करना हमारे लिए बेहद जरूरी था क्योंकि 174 मामलों में से आधे मामले हुनान बाजार में सामने आए थे। बता दें कि वुहान के हुनान 'सीफूड बाजार' से ही कोरोना की शुरुआत हुई थी, जिसके बाद से अभी तक यह बाजार बंद है। उन्होंने कहा कि आंकड़े क्यों मुहैया नहीं कराए गए, इसके पीछे क्या कारण था मुझे नहीं पता।

Comments

Also read: बांग्लादेश में दुर्गा पूजा पंडालों और इस्कॉन मंदिर पर हुए इन जिहादी हमलों ने साफ जता ..

Afghanistan में तालिबान के आतंक के बीच यहां गूंज रहा हरे राम का जयकारा | Panchjanya Hindi

अफगानिस्तान का एक वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें नवरात्रि के दौरान काबुल के एक मंदिर में हिंदू समुदाय लोग ‘हरे रामा-हरे कृष्णा’ का भजन गाते नजर आ रहे हैं।
#Panchjanya #Afghanistan #HareRaam

Also read: चीन जाकर फिर कोरोना वायरस की उत्पत्ति का पता लगाएगा विशेषज्ञों का नया दल ..

अब 30 से अधिक देशों में मान्य हुआ भारत का कोरोना वैक्सीन सर्टिफिकेट
काबुल के असमाई देवी मंदिर में भजन-कीर्तन की गूंज, अष्टमी पर भंडारे का आयोजन

दुनिया के 10 बड़े कर्जदारों में शामिल हुआ पाकिस्तान, अब मांगे से भी न मिलेगा कर्जा

कोविड से पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था की ऐसी कमर टूटी है कि अब वह ऋण सेवा निलंबन पहल के दायरे में आया है यानी अब विदेशी कर्ज लेने में उसे काफी दिक्कतें आने वाली हैं वेब डेस्क कंगाली की देहरी पर खड़े पाकिस्तान के सिर पर एक और भारी मुसीबत आन पड़ी है। अब तक किसी तरह विदेशी कर्जे पर अपनी दाल गलाता आ रहा यह इस्लामी देश अब किसी देश के आगे कर्जे का कटोरा भी उतनी आसानी से नहीं रख सकेगा। अब विश्व बैंक की दस बड़े विदेशी कर्जदारों की सूची में पाकिस्तान का नाम जुड़ गया है। इसके मायने हैं कि अब उसके लिए ब ...

दुनिया के 10 बड़े कर्जदारों में शामिल हुआ पाकिस्तान, अब मांगे से भी न मिलेगा कर्जा