बहुरंग

सबरीमला मंदिर मामला: हिंदुओं की भावनाओं को किया जा रहा आहत

अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा का यह सुविचारित मत है कि अभारतीय दृष्टिकोण के आधार पर हिन्दू आस्था और परम्पराओं को आहत एवं इनका अनादर करने का एक योजनाबद्ध षड्यंत्र निहित स्वार्थी तत्वों द्वारा चलता आ रहा है। सबरीमला मंदिर प्रकरण इसी षड्यंत्र का नवीनतम उदाहरण है..

मानवता के लिए अनमोल योगदान है भारतीय परिवार व्यवस्था

ग्वालियर में चल रही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा ने भारतीय परिवार व्यवस्था को सुदृढ़ करने का आह्वान करते हुए प्रस्ताव पारित किया, जिसमें कहा गया है कि भारतीय परिवार व्यवस्था हमारे समाज का मानवता के लिए अनमोल योगदान है. प्रतिनिधि सभा में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह श्री भैय्याजी जोशी ने वक्तव्य के माध्यम से आजाद हिन्द सरकार के 75 वर्ष पूर्ण होने पर देशभर में विविध कार्यक्रम आयोजित करने का आह्वान किया. ..

बंगाल की संस्कृति और प्राकृतिक सौंदर्य का जवाब नहीं

कला-संस्कृति के मामले में पश्चिम बंगाल का कोई सानी नहीं है। यह जंगल, पहाड़, समुद्र, ऐतिहासिक और धार्मिक धरोहर अपने में संजोए हुए है, जो पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती हैं। यहां की बालूचरी साड़ियां दुनियाभर में प्रसिद्ध हैं..

‘‘सेवा और त्याग ही भारतीय संस्कृति का मूल’’

पिछले दिनों सेवा फाउंडेशन, देवघर की ओर से चाणक्य नाटक के मंचन का आयोजन किया गया।..

‘‘जैव विविधता के अनुसार करें पौधारोपण’’

अपना संस्थान, राजस्थान की साधारण सभा की वार्षिक बैठक गत दिनों शारदा निकेतन, नागौर में सम्पन्न हुई..

संस्कारों के क्षरण से पर्यावरण का हो रहा नुकसान

अमृता देवी पर्यावरण नागरिक (अपना) संस्थान, जयपुर द्वारा पिछले दिनों खासा कोठी के निकट होटल कंट्री इन में एक सम्मान समारोह आयोजित किया गया।..

ग्राम विकास के लिए मिलकर करें प्रयास

‘‘गांव का विकास होता है तो देश का विकास होता है और विकास की शुरुआत अपने घर से करनी होती है।’’ यह कहना है राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, राजस्थान क्षेत्र के सह क्षेत्र प्रचारक श्री निंबाराम का। ..

‘अमर शहीदों के गांवों का होगा विकास’

पिछले दिनों झारखंड के बिरसा मुंडा कारागार के जीर्णोद्धार, संरक्षण व संग्रहालय के शिलान्यास समारोह का आयोजन किया गया। ..

स्वामी अय्यप्पा के भक्तों में बढ़ता क्रोध

सबरीमला पर सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय को लेकर जनाक्रोश निरंतर बढ़ता जा रहा है। विशेषकर केरल सरकार के खिलाफ। केरल सरकार ने जिस प्रकार जनभावनाओं को दरकिनार किया, उसके कारण केरल से दिल्ली तक भक्तों का रोष बढ़ा है। ..

‘अपने स्वत्व, मेधा व महापुरुषों पर गर्व करें’

पिछले दिनों नई दिल्ली में प्रभात प्रकाशन द्वारा प्रकाशित ‘रामायण की कहानी, विज्ञान की जुबानी’ पुस्तक का लोकार्पण हुआ। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ़ कृष्णगोपाल उपस्थित थे।..

‘सामाजिक कार्य से ही होगा समाज में परिवर्तन’

‘‘सामाजिक क्षेत्र, धार्मिक क्षेत्र, आर्थिक क्षेत्र, शिक्षा और सत्ता, ये पांच बातें जब समाज में एक साथ चलती हैं, तभी समाज का परिवर्तन और उत्थान होता है। ..

‘अच्छे कार्यों का प्रचार-प्रसार होना ही चाहिए’

सर्वहित संदेश पत्रिका के पर्यावरण विशेषांक का विमोचन करते श्री मोहन भागवत एवं अन्य विशिष्टजनदेशभर में संस्कारों की शिक्षा का उजियारा फैला रही विद्या भारती ने शिक्षा जगत में ऐतिहासिक पहल की है। बदलते समय के साथ कदमताल करते हुए विद्या भारती ने शिक्षा क्षेत्र में पहला ‘न्यूज बुलेटिन’ शुरू किया है। विद्या भारती, पंजाब के प्रचार विभाग द्वारा शुरू किए गए इस बुलेटिन का शुभारंभ गत दिनों जालंधर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक श्री मोहन भागवत ने किया। यह बुलेटिन विद्या भारती के उत्तर क्षेत्र ..

कश्मीर जाएं तो भद्रकाली जरूर जाएं

संपूर्ण जम्मू—कश्मीर में अनेकानेक विशाल और पुरातन मंदिर-तीर्थस्थल विद्यमान हैं, लेकिन इनमें से अधिकांश के महात्म्य के बारे में भारत के अन्य भागों के लोगों को कम ही पता है और जिनको पता है वे यहां की स्थिति के चलते यहां आने से कतराते हैं।..

श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए रास्ता तलाशे सरकार

अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण को लेकर जारी चर्चाओं के बीच गत दिनों नई दिल्ली स्थिति विश्व हिन्दू परिषद के केन्द्रीय कार्यालय,आर.के. पुरम में संतों की उच्चाधिकार समिति की महत्वपूर्ण बैठक संपन्न हुई। महंत नृत्य गोपाल दास की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में संतों ने सरकार को 31 जनवरी तक राम मंदिर निर्माण के लिए रास्ता तलाशने का समय दिया है।..

‘‘वेद में निहित ज्ञान ही है हमारी असली धरोहर’’

‘‘प्राचीन ज्ञान-विज्ञान ही भारत की असली धरोहर है। मैकाले की शिक्षा और स्वाधीनता के बाद उसकी अंधी नकल ने हमसे हमारे वेदों को दूर कर दिया है। इसलिए कभी विश्वगुरु रहने वाला हमारा देश आज केवल पश्चिमी देशों की नकल ही करता है।..

‘‘अपनत्व की संवेदना से सेवा कार्य को सर्वव्यापी करें’’

‘‘दिव्यांगों की सेवा का कार्य बहुत कठिन है। दिव्यांग हमारे मध्य आज से नहीं हैं, समाज में सदैव से रहे हैं, बस संवेदनहीनता के कारण इस क्षेत्र में सेवा कार्य हेतु प्रयास कम हो गए थे।..

बालकों को राष्ट्रभक्त,धर्मनिष्ठ बनाना विद्या भारती का लक्ष्य

   मंच पर उपस्थित श्री रंगाहरि (बाएं) एवं अन्य विशिष्टजनगत दिनों चैन्नै में विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान की अखिल भारतीय कार्यकारिणी की तीन दिवसीय बैठक संपन्न हुई। बैठक में देशभर से 173 प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम की प्रस्तावना में अ.भा.संगठन मंत्री श्री जे.एम.काशीपति ने आगामी तीन वर्ष की योजना की निर्मिति एवं संगठनात्मक रचना के विस्तार और सुदृढ़ता के लिए नए-नए कार्यकर्ताओं के विकास पर बल दिया। इसी प्रकार बदलते राष्ट्रीय परिदृश्य व वनवासी क्षेत्रों की बदलती स्थिति, ..

''श्रद्धालुओं की भावनाओं की अनदेखी नहीं की जा सकती''

गत 3 अक्तूबर को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह श्री भैयाजी जोशी ने एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कहा कि सर्वोच्च न्यायालय के सबरीमला देवस्थानम पर हाल में आए निर्णय ने पूरे देश में तीखी प्रतिक्रिया पैदा की है। यद्यपि हम भारत में ऐसे अनेक स्थानीय मंदिरों और परंपराओं का आदर करते हैं, जिनका अनुसरण सभी श्रद्धालु करते हैं। वहीं हमें इस निर्णय का भी सम्मान करना होगा। सबरीमला देवस्थानम का विषय स्थानीय मंदिर की परंपरा और आस्था से जुड़ा है, जिसके साथ महिलाओं सहित लाखों श्रद्धालुओं की भावनाएं संलग्न ..

महिलाएं पुरुषों से कमतर नहीं

 संगम को संबोधित करते श्री मोहन भागवत गत 29 सितंबर को जयपुर के इंदिरा गांधी पंचायती राज संस्थान में मातृशक्ति संगम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक श्री मोहन भागवत। मातृ शक्ति को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि भारतीय विचार परंपरा में पुरुष और स्त्री को एक-दूसरे का पूरक माना गया है। स्त्रियों में भिन्न-भिन्न कायोंर् को साथ-साथ कर पाने की नैसर्गिक क्षमता होती है। तो वहीं पुरुष अपनी आजीविका के माध्यम से परिवार को चलाने ..

''अयोध्या का सच सामने लाना जरूरी'

गत 20 सितम्बर को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक श्री मोहनराव भागवत ने वरिष्ठ पत्रकार हेमंत शर्मा की अयोध्या पर लिखित दो पुस्तकों का दिल्ली के डॉ़ आंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में लोकार्पण किया। ..

समाज परिवर्तन का आंदोलन है संघ

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ समाज परिवर्तन का आंदोलन है। संघ के कार्यकर्ता समाज जागरण के कार्य में संलग्न हैं। संघ मानता है कि देश का आम जनमानस जब तक खड़ा नहीं होगा, तब तक देश का परिवर्तन संभव नहीं है।..

सफाई कर्मचारियों की मांगों को गंभीरता से लेगा आयोग

 दीप प्रज्वलित करते (बाएं से) श्री योगी आदित्यनाथ, नितिन गडकरी एवं अन्य विशिष्टजन 11गत दिनों नई दिल्ली में सामाजिक समरसता मंच के नेतृत्व में सफाई कर्मचारी समाज के सदस्यों का एक प्रतिनिधिमंडल राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष श्री रामशंकर कठेरिया एवं उपाध्यक्ष श्री एस.मुर्गन और राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग के उपाध्यक्ष श्री हंसराज हंस से सीवर प्लांटों की सफाई में लगे कर्मचारियों की समस्यों के संदर्भ में मिला। सामाजिक सरमसता मंच, दिल्ली सफाई कर्मचारियों की समस्यायें समय-समय पर उठाता रहा है ..

पूरे भारत में आयोजित की होगी विज्ञान मंथन परीक्षा

विज्ञान भारती, उत्तराखंड द्वारा पिछले 15 सितम्बर को विश्व संवाद केंद्र, देहरादून में एक संवाददताता सम्मेलन का आयोजन किया गया, जिसमें विद्यार्थी विज्ञान मंथन परीक्षा के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई।..

201 वृक्षारोपण कर लिया पर्यावरण संरक्षण का संकल्प

पिछले दिनों पद्मावती सेवा संस्थान एवं विश्व हिंदू परिषद एकल अभियान के संयुक्त तत्वावधान में चित्तौड़गढ़ के भेरु सिंह जी का खेड़ा स्थित ढाढण बालाजी मंदिर परिसर में यूआईटी चेयरमैन श्री सुरेश, अपना संस्थान के प्रांत संयोजक श्री धर्मपाल गोयल एवं एकल अभियान के श्री सावंत सिंह ने 201 वृक्षों का रोपण किया।..

कश्मीरी हिन्दुओं के पुनर्वास की हो पूर्ण व्यवस्था

वर्ष 1989-90 में इस्लामिक जिहादियों ने कश्मीर में कश्मीरी हिन्दुओं पर न केवल जुल्म ढहाया था बल्कि 5 लाख से अधिक हिन्दुओं को घाटी छोड़ने पर मजबूर होना पड़ा था।..

पश्चिम उ.प्र. के विकास में कोई कसर नहीं रखेगी सरकार

दशकों से सरकारी उपेक्षाओं का दंश झेल रहे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के विशाल क्षेत्र पर केंद्र की नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार की मेहरबानियां बरसने लगी हैं, जिससे हरियाणा और उत्तराखंड की सीमाओं से जुड़े प्रमुख जनपद सहारनपुर से लेकर मुजफ्फर नगर, बिजनौर, शामली, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद और नोएडा की जनता का भाग्योदय होगा। ..

मंत्रालयम् में समन्वय बैठक संपन्न

   बैठक के मंच पर हैं ( बाएं से) श्री मोहनराव भागवत, स्वामी सुबूदेंद्र तीर्थ जी और भैयाजी जोशीराष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय समन्वय बैठक 31 अगस्त से 2 सितंबर तक मंत्रालयम् (आंध्र प्रदेश) में आयोजित हुई। तुंगभद्रा नदी के किनारे स्थित राघवेंद्र मठ में आयोजित इस बैठक का शुभारंभ सरसंघचालक श्री मोहनराव भागवत, सरकार्यवाह श्री भैयाजी जोशी की उपस्थिति में स्वामी सुबूदेन्द्र तीर्थ जी के आशीर्वचन से हुआ। स्वामी जी ने कहा कि हम सबके प्रयत्नों से हिंदू समाज का जागरण और हिंदू धर्म की पुनर्प्रतिष्..

नेरी में ठा. राम सिंह की पुण्यतिथि पर हवन

 हवन करते शोध संस्थान के कार्यकर्ता हिमाचल के नेरी स्थित 'नेरी शोध संस्थान' के संस्थापक स्वर्गीय ठाकुर राम सिंह की 8वीं पुण्यतिथि के उपलक्ष्य पर ठाकुर जगदेव चन्द स्मृति शोध संस्थान में पुष्पांजलि अर्पण एवं हवन यज्ञ का आयोजन किया गया। श्री मंजलसी राम वैरागी द्वारा उनकी स्मृति में 'कर्मयोगी ठाकुर जी' कविता पाठ किया गया। इस अवसर शोध संस्थान के सचिव भूमिदत्त शर्मा, निदेशक प्रेम सिंह भरमौरिया, सुरेंद्र नाथ शर्मा, कोषाध्यक्ष नरेंद्र कुमार नंद, प्यार चंद परमार, ओम प्रकाश शुक्ला, राजेश शर्मा, जमनादास ..

जयपुर में योगाभ्यास शिविर

शिविर में शामिल योग साधक गत 4 सितम्बर को आरोग्य भारती, जयपुर महानगर द्वारा योगाभ्यास शिविर का आयोजन किया गया। इसमें बड़ी संख्या में योग साधकों ने भाग लिया। इस अवसर पर आरोग्य भारती की कार्यकारिणी के सदस्य श्री श्रीनिवास मूर्ति, राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान, जयपुर के प्रोफेसर कमलेश विद्यार्थी, आरोग्य भारती, जयपुर महानगर के सह संयोजक डॉ. तारकेश्वर शर्मा, डॉ. काशीनाथ सहित अनेक विशिष्ट लोग उपस्थित थे।  ..

वरिष्ठ प्रचारक रोशनलाल जी का देवलोकगमन

संस्कार एवं राष्ट्रीयता से परिपूर्ण शिक्षा के क्षेत्र में कार्यरत विद्याभारती (मध्यक्षेत्र) के मार्गदर्शक एवं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक श्री रोशनलाल सक्सेना का गत 21 अगस्त को भोपाल में निधन हो गया। उल्लेखनीय है कि स्व. रोशन लाल का जन्म 5 अक्तूबर, 1931 को मध्य प्रदेश के सीधी जिले में हुआ था। वर्ष 1954 में गणित एवं सांख्यिकी में एमएससी की उपाधि प्राप्त करके उन्होंने अध्यापन कार्य आरंभ किया। राष्ट्रीय स्वयंसवेक संघ की प्रेरणा से रोशनलाल जी ने 12 फरवरी, 1959 सरस्वती शिशु मंदिर का कार्य ..

सामाजिक समरसता से मजबूत होगा देश

 संगोष्ठी को संबोधित करते श्री देवजी भाई  मंच पर उपस्थित विशिष्टजनगत 19 अगस्त को जोधपुर महानगर स्थित कमला नेहरू नगर के आदर्श विद्या मन्दिर में सामाजिक समरसता पर केंद्रित संगोष्ठी संपन्न हुई। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में विश्व हिन्दू परिषद के केंद्रीय मंत्री श्री देवजी भाई उपस्थित थे। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि राष्ट्र का विकास सामाजिक समरसता से ही सम्भव है। इसलिए जातीय भेदभाव समाज पर एक कलंक के समान है। सनातन धर्म में जातीय भेदभाव का कहीं पर भी कोई उल्लेख नहीं मिलता। भगवान श्री राम ..

जीवन का उत्थान केवल भौतिक साधनों से नहीं

गत दिनों राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह श्री भैयाजी जोशी ने नई दिल्ली स्थित दीनदयाल शोध संस्थान के नवसृजित भवन मुखारविंद का लोकार्पण किया। इस अवसर पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, केन्द्रीय संस्कृति मंत्री डॉ़ महेश शर्मा तथा दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी भी उपस्थित थे। ..

रेलवे कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन

पिछले दिनों उत्तर रेलवे कर्मचारी यूनियन ने उत्तर रेलवे के दिल्ली स्थित मुख्यालय बडौदा हाउस पर सैकड़ों की संख्या में रेलवे कर्मचारियों की विभिन्न समस्याओं एवं विभाग में अधिकारियों के भ्रष्टाचार को लेकर विरोध प्रदर्शन किया।..

पत्रकार को जिम्मेदारी का अहसास हो

पिछले दिनों पुणे में विश्व संवाद केंद्र और डेक्कन एजुकेशन सोसाइटी के संयुक्त तत्वावधान में आद्य पत्रकार देवर्षि नारद पत्रकार सम्मान समारोह का आयोजन किया गया।..

अ.भा. भारतीय साहित्य परिषद ने मनायी मुंशी प्रेमचंद जयन्ती

अखिल भारतीय साहित्य परिषद् की शिमला इकाई ने कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद की जयन्ती के उपलक्ष्य में 31 जुलाई को शिमला के रोटरी टाउन हॉल में उनकी कहानियों की वर्तमान में प्रासंगिकता विषय पर विचार गोष्ठी एवं कविता पाठ का आयोजन किया। ..

11-12 अगस्त को भोपाल में यंग थिंकर्स कॉन्क्लेव का आयोजन

आज के भारत की सबसे बड़ी पूंजी और सबसे बड़ी ताकत युवा हैं और ये युवा अपने देश के लिए कुछ करना चाहते हैं। अपने हुनर और कौशल से देश को नई ऊंचाइयों पर ले जाना चाहते हैं।..

समाज के प्रति हो पीड़ा और संवेदना का भाव

गत दिनों चित्रकूट में वसुधैव कुटुम्बकम की भावना को लेकर कार्य कर रहे दीनदयाल शोध संस्थान की ‘प्रबन्ध समिति एवं साधारण सभा’ की दो दिवसीय बैठक संपन्न हुई।..

स्वस्थ समाज से सबल राष्ट्र का निर्माण

दया, गरीबी, समता और शील, ये संतों के गुण हैं। इस स्वभाव के चलते ही संत, सरोवर, वृक्ष एवं वर्षा परोपकार के लिए कार्य करते हैं।..

हिन्दू एक संस्कार एवं संस्कृति है

हम सब भाग्यशाली हैं कि भारत भूमि पर पैदा हुए हैं। यह भूमि इतनी पवित्र है कि यहां स्वयं भगवान भी जन्म लेने की इच्छा रखते हैं। ..

माता-पिता एवं गुरू से प्राप्त संस्कारों से होती है प्रगति

सामाजिक समरसता मंच एवं सेवा भारती, गुजरात की ओर से गत दिनों यूपीएससी एवं जीपीएसई परीक्षा में इस वर्ष उत्तीर्ण हुए अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया।..

प्रताप महान, अकबर नहीं

पिछले दिनों उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ स्थित गोमतीनगर के आई़ एम़ आऱ टी़ मैनेजमेंट कॉलेज में अवध प्रहरी पत्रिका द्वारा महाराणा प्रताप जयन्ती के उपलक्ष्य में प्रकाशित युवा शौर्य विशेषांक का विमोचन किया। ..

ग्राम विकास केंद्र का शिलान्यास

गत 9 जून को पट्टीकल्याणा (हरियाणा) में सेवा साधना एवं ग्राम विकास केंद्र का शिलान्यास हुआ। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक श्री मोहनराव भागवत ने भूमि-पूजन कर केंद्र का शिलान्यास किया। उन्होंने पौधारोपण भी किया। इस अवसर पर जैन मुनि उपाध्याय गुप्ती सागर जी, गीतामनीषी ज्ञानानंद जी महाराज, रवि शाह महाराज जी, स्वामी मोलड़ नाथ और श्री माधव जन सेवा न्यास के अध्यक्ष पवन जिंदल भी उपस्थित थे।..

भारतीय मनीषियों का चिंतन- अंहकार से बचे, निःस्वार्थ सेवा करें- डा. मोहन भागवत

भारतीय मनीषियों का चिंतन व जीवन दर्शन संपूर्ण विश्व के कल्याण के लिए है। जिसमें मानव ही नहीं समस्त प्राणी वर्ग के लिए संदेश दिया है। सनातन संस्कृति में पुनर्जन्म और कर्मफल की अवधारणा से परिभाषित होता है कि जो हम कर्म करते हैं उनसे कर्मानुसार पुण्य और पाप एकत्रित होता है। मानव जन्म ही ऐसा है, जिसमें व्यक्ति स्वेच्छानुसार कर्म कर जीवन लक्ष्य को प्राप्त कर सकता है।..

‘‘गांव हैं संस्कृति के परिचायक’’

पिछले दिनों उत्तराखंड के गढ़वाल अंचल के चाई गांव में चाई महोत्सव का आयोजन किया गया। इस महोत्सव का उद्देश्य पहाड़ से पलायन कर चुके लोगों को फिर से अपनी सभ्यता-संस्कृति और गांव की ओर लौटने के लिए प्रेरित करना था। समारोह में ग्राम दर्शन, द्वार पूजन, विचार गोष्ठी व खेल आदि कार्यक्रम आयोजित किए गए।..

‘‘पत्रकारों को सच उजागर करना चाहिए’’

विश्व संवाद केन्द्र, शिमला द्वारा पिछले दिनों पत्रकार सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। इसमें प्रदेश के वन, परिवहन, युवा एवं खेल मंत्री श्री गोविंद सिंह ठाकुर बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित थे तो उच्च शिक्षा परिषद् हरियाणा के अध्यक्ष श्री बृज किशोर कुठियाला मुख्य वक्ता के रूप में मौजूद थे।..

‘‘शिक्षा जीवनोपयोगी होनी चाहिए’’

भारतीय शिक्षण मण्डल के शैक्षिक प्रकोष्ठ का दो दिवसीय अभ्यास वर्ग शिमला के विकास नगर स्थित सरस्वती विद्या मन्दिर में संपन्न हुआ। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में भारतीय शिक्षण मंडल के राष्ट्रीय संगठन मंत्री श्री मुकुल कानिटकर एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में श्री बनवारी लाल नाटिया एवं गोविन्द उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता इंदिरा गांधी विश्वविद्यालय, रेवाड़ी के कुलपति प्रो़ एस़पी़ बंसल ने की।..

किश्तवाड़ में मना हिन्दू साम्राज्य दिवस

गत 27 मई को जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने हिन्दू साम्राज्य दिवस मनाया। कार्यक्रम में रा.स्व.संघ के प्रांत शारीरिक शिक्षण प्रमुख श्री अरुण कुमार एवं जिला संघचालक श्री रोशन लाल उपस्थित रहे।इस अवसर पर श्री अरुण कुमार ने कहा कि भारत वीरों की धरती है। हमारे महापुरुषों ने सदैव समाज को जोड़ने का काम किया है और उनके लिए राष्ट्र सर्वोपरि रहा। ये सभी महापुरुष अंतिम सांस तक मां भारती की सेवा करते रहे। इसका सबसे बड़ा उदाहरण छत्रपति शिवाजी महाराज हैं। उन्होंने कहा कि आज समाज को शिवाजी महाराज ..

छात्रा व्यक्तित्व विकास शिविर का आयोजन

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की ‘छात्रा इकाई’ द्वारा गत दिनों मेरठ के डी़ एऩ इंटर कॉलेज में छात्रा व्यक्तित्व विकास शिविर का आयोजन किया गया। 5 जून तक चलने वाले इस शिविर में छात्राओं को मिशन साहसी, हैण्डीक्राफ्ट, आत्म रक्षा, ब्यूटीशियन और नृत्य कलाओं का प्रशिक्षण दिया जाएगा। शिविर का उद्घाटन दुनिया की सबसे अधिक आयु वर्ग (85 वर्ष) की महिला निशानेबाज दादी चन्द्रो तोमर ने किया। मुख्य वक्ता के रूप में अभाविप के प्रदेश संगठन मंत्री श्री महेश राठौर उपस्थित थे। उन्होंने इस अवसर पर ने कहा कि आज छात्राएं किसी ..

इनके कदम कभी ठिठकते नहीं...

समाचार पत्र-पत्रिकाओं के वितरक कितना महत्वपूर्ण कार्य करते हैं, इसे समाचार पत्रों का प्रबंधन भलीभांति जानता है। भीषण सर्दी, गर्मी, बारिश, ओलावृष्टि में भी उनके कदम कभी रुकते नहीं। समय से अखबार हर ग्राहक के पास पहुंचे, उसकी चिंता का ध्यान रखते हैं। इतने महत्वपूर्ण कार्य के बावजूद ऐसे लोगों को भुला दिया जाता है। फिर भी यह समूह जोश-जुनून के साथ अपने काम को बड़ी निष्ठा के साथ करता है और इसमें कभी कोताही नहीं बरतता। पाञ्चजन्य और आर्गनाइजर दोनों पत्रिकाओं ने अनूठी पहल करते हुए अपने वितरकों को न केवल सम्मानित ..

सेवा कार्य में प्रसिद्धि की अपेक्षा नहीं करनी चाहिए

गत दिनों राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह श्री दत्तात्रेय होसबाले ने नई दिल्ली के मावलंकर सभागार में संघ के सेवा विभाग की वेबसाइट और सेवागाथा एप का लोकार्पण किया। इस अवसर पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि दैवीय, प्राकृतिक आपदाओं के समय सबसे पहले संघ के स्वयंसेवक ही पहुंचते हैं, अब यह बात समाज सहज रूप से मानने लगा है। संघ स्वयंसेवकों के जरिए समाज के संकट काल में लोगों की संवेदनाएं जगाने का कार्य करता है। मजदूर, अभावग्रस्त लोगों की जहां जो आवश्यकता हो, वहां स्वयंसेवक उसे समाज के माध्यम से पूरा करते ..

‘‘पत्रकारों पर है महत्वपूर्ण जिम्मेदारी’’

गत दिनों हरियाणा में गुरुग्राम के सेक्टर 14 स्थित राजकीय महिला महाविद्यालय में नारद जयंती के उपलक्ष्य में विश्व संवाद केंद्र द्वारा राज्य स्तरीय पत्रकार सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल भी उपस्थित थे। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि पत्रकारों पर आज महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है, इसलिए कोई भी समाचार लिखते समय गहन चिंतन करना चाहिए। देवर्षि नारद सृष्टि के पहले पत्रकार थे, वे दैवीय शक्तियों से भी मिलते थे और दानवों से भी मिलते थे, पर उनका उद्देश्य हमेशा समाज हित ..

‘‘नदियों की पूजा के साथ ही उनकी स्वच्छता के प्रयास करने होंगे ’’

‘‘नदियों को सिर्फ पूजने की बजाए, बचाने की जरूरत है। हम नर्मदा को मां कहते हैं, किंतु हमने उसका क्या हाल बना रखा है, यह किसी से छिपा नहीं है। हमारी कथनी और करनी में अंतर ही वह एकमेव कारण है, जिसके चलते हम एक हजार साल तक गुलाम रहे। यह प्रवृत्ति आज भी कम नहीं हुई है।’’ उक्त बात ख्यातिप्राप्त लेखक और पर्यावरणविद् अमृतलाल वेगड़ ने कही। वे पिछले दिनों माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल की ओर से डी़ लिट़ (विद्या वाचस्पति) की मानद उपाधि से सम्मानित किये जाने के अवसर पर बोल ..

मेरठ में नारद जयंती पर नारद सम्मान समारोह का आयोजन

''पत्रकारिता में सबसे ज्यादा महत्व एक पत्रकार का है। समाचारों को किस स्वरूप में प्रस्तुत करना है, समाचार का 'एंगल' क्या रखना है? यह पत्रकार को ही तय करना होता है।..

''समाज को जोड़ने का काम करते हैं पत्रकार''

महर्षि नारद जयन्ती के अवसर पर पिछले दिनों नगर निगम, प्रेक्षागृह, देहरादून में पत्रकार सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में उच्च शिक्षा आयोग, हरियाणा के अध्यक्ष प्रो़ बृजकिशोर कुठियाला उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि देवर्षि नारद इस ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार थे। ..

'सेवा हो पत्रकारिता का लक्ष्य'

''महात्मा गांधी ने अपने समाचार पत्र में लिखा था कि पत्रकारिता का लक्ष्य सेवा होना चाहिए। पत्रकारिता समाज को दिशा देने वाली और सृजन करने वाली शक्ति है। महात्मा गांधी, महर्षि अरविन्द और डॉ़ भीमराव आम्बेडकर ने पत्रकारिता के जिन मूल्यों को स्थापित किया है, आज की पत्रकारिता को उन मूल्यों को लेकर आगे चलना चाहिए।..

''भारत का मूल स्वर है सामाजिक समरसता''

गत दिनों ग्वालियर के डॉ. भगवत सहाय सभागार में सद्भावना सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में मध्य प्रदेश गोपालन एवं पशु संवर्धन बोर्ड के अध्यक्ष महामंडलेश्वर स्वामी अखिलेश्वरानंद जी महाराज उपस्थित थे। इस मौके पर उन्होंने कहा कि सामाजिक समरसता भारत का मूल स्वर है। ..

''मूल्याधारित पत्रकारिता की जरूरत''

विश्व संवाद केंद्र, मुंबई द्वारा वेलिंगकर इंस्टीट्यूट में 4 मई को नारद जयंती के उपलक्ष्य में देवर्षि नारद सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। ..

बुद्ध के बताए मार्ग पर चलने की जरूरत

भगवान बुद्ध की प्रज्ञा, करुणा व समता की शिक्षा से ही विश्व शान्ति संभव है। समाज को इसे आत्मसात करना होगा।’’ उक्त बात विहिप कार्याध्यक्ष श्री आलोक कुमार ने कही। वे पिछले दिनों बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर दक्षिणी दिल्ली के बुद्ध विहार में दर्शन-पूजन के उपरान्त कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। ..

शिमला में विवेकानंद छात्रावास का शिलान्यास

पिछले दिनों हिमाचल प्रदेश के शिमला में विवेकानंद छात्रावास का शिलान्यास एवं भूमिपूजन कार्यक्रम संपन्न हुआ। इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर एवं विधान सभा अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल उपस्थित थे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने वनवासी कल्याण आश्रम के कार्य को पवित्र कार्य की संज्ञा दी। ..

सकारात्मक खबरों को समाज तक पहुंचाए

विश्व संवाद केन्द्र, ओडिशा द्वारा वर्ष 2018 के नारद सम्मान के लिए वरिष्ठ पत्रकार तपन मिश्र को सम्मानित किया गया। पुरस्कार के तौर पर उन्हें 10 हजार रुपये एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। ..

‘‘मीडिया-जन संवाद का माध्यम है’’

‘‘मीडिया जन संवाद का माध्यम है। अत: इसे ध्यान में रखकर देखना व संवाद करना चाहिये।’’ उक्त बात राष्टÑीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ़ मनमोहन वैद्य ने कही। वे गत दिनों नई दिल्ली के सरस्वती बाल मंदिर, नेहरू नगर में अखिल भारतीय कार्यकर्ता विकास कार्यशाला के समापन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। ..

सामाजिक विभाजन से देश को खतरा

‘‘देश को खतरा जयचंद और मीर जाफरों से नहीं, बल्कि इस देश को खतरा सामाजिक विभाजन से है। जिस दिन भारत इस सामाजिक विभाजन को समाप्त कर लेगा़,भारत को विश्व गुरू बनने से कोई भी ताकत नहीं रोक पाएगी।’’..

समरसता से ही होगा शक्तिशाली समाज का निर्माण

पिछले दिनों उत्तराखंड के चमोली में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा क्षेत्र की विभिन्न शाखाओं के स्वयंसेवकों का समागम हुआ।..

बाल यौन हिंसा के बढ़ते मामले चिंताजनक

पिछले दिनों नई दिल्ली के इंडिया हैबिटेड सेंटर में नोबेल शांति पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने बाल यौन हिंसा की लगातार बढ़ रही घटनाओं पर चिंता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि देश में हर पल दो बेटियां बलात्कार की शिकार हो रही हैं ..

दलगत राजनीति से ऊपर उठकर सोचें

दलगत राजनीति से ऊपर उठकर सोचें..

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की एक सीमा निर्धारित है

हमारे देश का संविधान सभी को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता देता है।..

हिन्दुओं की आस्था का केन्द्र है अयोध्या’

राम जन्मभूमि पर विवाद ढाई दशकों से न्यायालय में चल रहा है। वास्तव में यह झगड़ा राम मन्दिर का नहीं, राम जन्मस्थान का है।..

हिन्दू समाज से अस्पृश्यता का नाश होना चाहिए

राष्टÑीय स्वयंसेवक संघ, बीकानेर महानगर द्वारा पिछले दिनों ड़ॉ भीमराव रामजी आंबेडकर की जयंती पर राजरतन पैलेस, रानी बाजार में एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया।..

एकता के लिए बनाना है समरस समाज

आर्य समाज, दिल्ली द्वारा विश्व हिन्दू परिषद के नव निर्वाचित अंतरराष्टÑीय अध्यक्ष श्री विष्णु सदाशिव कोकजे तथा नवनिर्वाचित कार्यकारी अध्यक्ष श्री आलोक कुमार के अभिनन्दन हेतु गत दिनों करोलबाग में यज्ञ-आहुति कार्यक्रम आयोजित किया गया।..

समाज आधारित हो आधुनिक शिक्षा

गत दिनों दिल्ली के राजघाट स्थित गांधी स्मृति में विद्यालयों और महाविद्यालयों द्वारा शिक्षा में नवाचार तथा अभिनव प्रयोगों पर त्रिदिवसीय शैक्षणिक प्रदर्शनी लगाई गई।..

शताब्दी वर्ष समारोह संपन्न

गत दिनों सनातन धर्म जिला केंद्रीय पुस्तकालय, सीतामढ़ी, बिहार का शताब्दी वर्ष समारोह मनाया गया। मुख्य अतिथि थे भाजपा के पूर्व संगठन महामत्री संजय जोशी। ..

‘वैदिक परंपराओं का संरक्षक है जनजातीय समाज’

इन दिनों मुंबई के निकट डहाणू क्षेत्र के तलासरी में जनजातीय छात्रों के लिए संचालित छात्रावास की स्वर्ण जयंती मनाई जा रही है। इसके तहत 15 अप्रैल को हिंदू सम्मेलन आयोजित हुआ, जिसमें 60,000 से अधिक लोग उपस्थित थे।..

देश-काल के अनुकूल हो अर्थनीति’

गत 16 अप्रैल को मुंबई में एक कार्यक्रम आयोजित हुआ। इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक श्री मोहनराव भागवत ने कहा कि हमें भारतीय दृष्टिकोण, मूल्य और अपनी राष्ट्रीय आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए अपनी आर्थिक नीति बनाने की आवश्यकता है। ..