ग्रामीण युवाओं के लिए सजेगा क्रिकेट का मेला
स्रोत:    दिनांक 29-दिसंबर-2018

देश के ग्रामीण युवाओं के लिए फरवरी के अंतिम सप्ताह से किसान क्रिकेट लीग नाम से एक इवेंट का आयोजन किया जा रहा है। एक नये फॉर्मेट पर बनी ये लीग 21 फरवरी से 20 मार्च 2019 के बीच आयोजित होगी। इस इवेंट में देश भर से ग्रामीण परिवार के बच्चे खेलने का मौका पा सकते हैं। किसान क्रिकेट के आयोजक अतुल पांडेय ने ये जानकारी देते हुए कहा कि इसके विजेता को लालबहादुर शास्त्री कप ऑफ होप ट्राफी दी जायेगी। लाल बहादुर शास्त्री मैमोरियल कप ऑफ होप, भारत की माटी के लाल और देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्व. लालबहादुर शास्त्री जी को समर्पित है। शास्त्री जी का दिया नारा जय जवान, जय किसान आज भी देश के कोने कोने में गूंजता है। उन्होंने बताया कि किसान क्रिकेट को लालबहादुर शास्त्री मैमोरियल का आशीर्वाद प्राप्त है और शास्त्री जी के पुत्र इस इवेंट के चीफ पेट्रन हैं।
देश भर से कोई भी 17 से 25 वर्ष तक का युवा इस प्रतियोगिता में खेल सकता है बशर्ते वो ग्रामीण पृष्ठभूमि से आता हो। इन ग्रामीण युवाओं को 8 टीमों में बांटा जायेगा, इनके नाम हैं… MIGHTY HIMALYANS, FRONTIER GABROOS, SAHYADRI RANGERS, AWADHI BROTHERS, BIRSA BOYS, EASTER EAGLES, ORUVAN THALIVAS और WESTERN THARIANS. इन टीमों के मैच देश के 8 नॉन मैट्रो सैंटर्स में आयोजित किए जायेंगे। पहली बार ग्रामीण युवाओं के लिए इस प्रकार का मंच बना है जिसमें भाग लेकर वह अपना और अपने परिवार का नाम राष्ट्रीय- अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर चमका सके। इसी के साथ पहली बार भारत के आदिवासी युवाओं के लिए भी एक टीम (Birsa Boys) बनाई जा रही है।
किसान क्रिकेट का मूल मंत्र है - खेलेगा भारत-देखेगा इंडिया।
आयोजकों ने चयन प्रक्रिया के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि इसमें देश भर की हजारों जिला पंचायतों के लड़के रजिस्टर कर सकेंगे। पहली बार लगभग 75000 से अधिक क्रिकेटर बनने के इच्छुक युवा देश के कोने कोने से इस टूर्नामेंट का हिस्सा बनने के लिए विशेष तौर पर बनाये गए सॉफ्टवेयर के द्वारा वीडियो ऑडिशन देंगे जिसके बाद 5000 लड़कों को सेलेक्शन ट्रायल के लिए देश के 10 शहरों में बुलाया जायेगा। IPL से जुड़े चैन्नई के संदीप राज के नेतृत्व में 200-250 लड़कों को 8 टीमों के लिए चुना जायेगा।
किसान क्रिकेट से देश की नामी एजेंसियां जुड़ी हुयी हैं जो प्रोफेशनल तरीकों से इन युवा प्रतिभाओं को निखारने का काम करेंगी।
किसान क्रिकेट लीग में कुल 59 मैच खेले जायेंगे और देश के एक प्रमुख खेल चैनल पर इन मैचेस का सीधा प्रसारण किया जायेगा। आयोजकों ने आगे जानकारी देते हुए कहा, इसके अलावा 2 और चैनलों पर 9 से 10 भाषाओं में 4 कॉंटेस्ट्स, फेन ऑफ द सीजन, एंकर की खोज, टीम एंथेम के गायक और कमेंटेटर की खोज भी आयोजित किए जायेंगे। इसमें देश भर से युवा अपने वीडियो अपलोड करेंगे और इनमें से चयनित युवाओं के बीच मुकाबला होगा. लीग की समाप्ति पर प्रत्येक प्रदेश से एक खिलाड़ी का चयन करके उसे एक भव्य कार्यक्रम में ग्राम गौरव पुरस्कार दिया जायेगा।
इस event को ना केवल लाल बहादुर शास्त्री मैमोरियल aur ऑफिशियल टेलीकास्ट पार्टनर का समर्थन मिल रहा है, साथ ही कई कॉरपोरेट हाउसेस, सेलिब्रिटीस और खिलाड़ियों का भी साथ मिल रहा है। वह लोग ग्रामीण युवाओं के सपनों को पूरा करने के लिए, उन्हें साधन जुटाने में मदद करने के लिए खुले दिल से मदद कर रहें हैं।
यह पहला क्रिकेट इवेंट है जिसे विशेष तौर पर माटी से जुड़े बच्चों के लिए आयोजित किया जा रहा है। किसान क्रिकेट लीग देश के गावो को शहर से जोड़ने का कार्य करेगी। ये गांव और शहर के बीच सामाजिक, सांस्कृतिक विचारों के आदान प्रदान के बीच सेतु का कार्य भी करेगी।
इस लीग में कार्य करने के लिए कुशल-अकुशल दोनों तरह के युवाओं की आवश्यकता पड़ेगी। जिसमें क्षेत्रीय स्तर पर युवाओं के लिए रोजगार के अवसर भी उपलब्ध होंगे।
कुल मिलाकर इस लीग में ग्रामीण पृष्ठभूमि के लाखों युवा जुड़ेंगे साथ ही टीवी पर लाइव टेलिकास्ट होने से ये दायरा ओर भी बढ़ जायेगा।
आयोजकों का कहना है कि किसान क्रिकेट ग्रामीण युवाओं को मुख्यधारा से जोड़ने का एक छोटा सा प्रयास है। इस प्रतियोगिता के माध्यम से उनके टेलेंट को देश के सामने लाया जायेगा।