मध्यप्रदेश में लगातार हो रहीं भाजपा नेताओं की हत्याओं पर राज्यभर में प्रदर्शन
स्रोत:    दिनांक 21-जनवरी-2019
मध्यप्रदेश में पिछले कुछ दिनों में हुई भाजपा नेताओं की हत्या के बाद भारतीय जनता पार्टी सड़कों पर उतर आई है। भाजपा ने सोमवार को सभी जिला मुख्यालयों पर मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ प्रदर्शन किया और सरकार का पुतला फूंका।
उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश में पिछले पांच दिन में तीन भाजपा नेताओं की हत्या हो गई है। जिसके बाद प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सरकार को जल्द जांच पूरी करने और उचित कार्रवाई करने की मांग की है।

 
पांच दिन में तीन हत्याएं
गौरतलब है कि 16 जनवरी को इंदौर के कमोडिटी व्यापारी संदीप तेल उर्फ संदीप अग्रवाल की बदमाशों से गोली मारकर हत्या कर दी थी। कमोडिटी कारोबारी संदीप तेल की हत्या गैंगस्टर सुधाकर राव मराठा ने कबूल ली है। गैंगस्टर ने यह भी कबूला है कि उसे रोहित सेठी ने हत्या की सुपारी दी थी। उसके चार शूटरों के नाम भी सामने आ गए हैं।
इसके बाद 17 जनवरी को मंदसौर नगरपालिका अध्यक्ष और भाजपा के कद्दावर नेता प्रहलाद बधवार की हत्या हो गई। पुलिस ने वारदात में मनीष बैरागी को गिरफ्तार किया तो उसने हत्या की बात कबूल ली।
वहीं, रविवार सुबह बलवाड़ी में भाजपा नेता मनोज ठाकरे की पत्थर से कुचलकर हत्या कर दी गई। मामला प्रदेश के गृहमंत्री बाला बच्चन के जिले का है। बताया जा रहा है कि विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक कार्यक्रम में मनोज की कुछ नेताओं से अनबन हुई थी।

शिवराज बोले कानून व्यवस्था की स्थिति ध्वस्त
मध्यप्रदेश में एक के बाद एक हो रही भाजपा नेताओं हत्या पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, 'एक के बाद भाजपा नेताओं की हत्या होना गंभीर मसला है लेकिन कांग्रेस इसे सतही तौर पर लेकर क्रूर मजाक कर रही है। गृहमंत्री के जिले में सरेआम भाजपा के मंडल अध्यक्ष को मार दिया गया। सरकार को इसे गंभीरता से लेना चाहिए। मंदसौर में भाजपा नेता की 25 हजार रुपये के लिए हत्या का तर्क गले से नहीं उतर रहा। किसी गहरे षड़यंत्र की आशंका है। इसकी सीबीआइ जांच होनी चाहिए।