रानी मुखर्जी के नाम से ट्विटर पर बनाया अकाउंट, घृणास्पद खबर फैलाने का मामला दर्ज
   दिनांक 15-अक्तूबर-2019

हिन्दुओं को हर कदम पर बदनाम करने के तमाम हथकंडे आजमाए जा रहे हैं. इसमें तकनीक का इस्तेमाल भी किया जा रहा है. तकनीक के सहज हो जाने के बाद कई अलग - अलग दृश्यों को जोड़ कर वीडियो बनाए जा रहे हैं. सोशल मीडिया पर 'फेक न्यूज़' की चल रही फैक्ट्री भी इसी अभियान का हिस्सा है. सोशल मीडिया पर इसे संचालित करने वाले लोग अदृश्य हैं. यह किसी भी वीडियो और समाचार को तोड़ - मरोड़ कर ऐसे पेश करते हैं जिससे सनातन धर्म की बदनामी हो सके. इसके लिए ये लोग किसी भी हद तक जाने को तैयार हैं. ताजा मामला उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद का है. जहां सोशल मीडिया पर आपराधिक मनःस्थिति के साथ फिल्म अभिनेत्री रानी मुखर्जी के नाम पर फर्जी ट्वीटर अकाउंट खोला गया. फिल्म अभिनेत्री रानी मुखर्जी के नाम से अकाउंट था. सो, अफवाह आसानी से फ़ैल गई. अकाउंट पर एक वीडियो अपलोड किया गया और यह लिखा गया कि “उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के हिन्दू कट्टरपंथियों की हरकत देखिये. एक ईसाई दंपती की जमीन कब्जा की जा रही थी. इसाई दंपती उसका विरोध कर रहे थे. इसलिए उन्हें जिंदा जला दिया गया. उनका बेटा वहीं पर बिलखता रह गया. यह घटना अत्यंत भयावह है. पूरी दुनिया ने भारत में हो रहे अत्याचार को अनदेखा कर दिया है.”
फिल्म अभिनेत्री के नाम पर बनाये गए फर्जी ट्वीटर अकाउंट से यह ट्वीट वायरल हो गया. थोड़ी ही देर में 5 हजार से ज्यादा लोगों ने इसे री -ट्वीट कर दिया. ट्वीट के वायरल होने पर मामला मथुरा पुलिस की जानकारी में आया. मथुरा पुलिस इस ट्वीट को लेकर तुरंत सक्रिय हुई. साइबर एक्सपर्ट ने छानबीन करके यह घोषित किया कर दिया कि यह ट्वीट फर्जी अकाउंट बनाकर किया गया था. मथुरा पुलिस ने अपने ट्वीटर अकाउंट पर लिखा कि -" ट्वीट का तथ्य निराधार है. दिनांक 28.8 2019 को प्रातः साढ़े आठ बजे किसी शिकायत को लेकर जुगेन्द्र सिंह एवं उनकी पत्नी श्रीमती चंद्रवती सिंह अपने शरीर पर मिटटी का तेल डालकर थाना सुरीर आए और आग लगा ली. आग बुझाकर तत्काल उपचार के लिए ले जाया गया.जुगेन्द्र सिंह की तहरीर पर एफ.आई.आर दर्ज की गई और अभियुक्त को जेल भेजा गया. अतः ट्वीटर पर वायरल हो रही इस खबर का मथुरा पुलिस द्वारा खंडन किया जाता है. " पुलिस के सक्रिय होने के बाद ट्वीट डिलीट कर दिया गया.
फर्जी तरीके से ट्वीटर अकाउंट खोल कर सनातन धर्म को बदनाम करने वालों के खिलाफ मथुरा पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है. मथुरा पुलिस ने ट्वीटर पर लिखा है कि "जिसने भी इस तरह का ट्वीट किया है. उसका पता लगाया जा रहा है. अज्ञात के खिलाफ उचित धराओं में एफ.आई.आर दर्ज कर ली गई है."