राष्ट्र की शक्ति उसके समाज में है निहित
   दिनांक 21-अक्तूबर-2019
 
कार्यक्रम में उपस्थित मुख्य अतिथि और स्वयंसेवक
 
‘‘संविधान और सेना के बाद यदि देश की सेवा में सबसे ज्यादा किसी का योगदान है तो वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ है। इसलिए समाज के हर वर्ग, हर आयु के व्यक्तियों को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़ना चाहिए ताकि वह देशहित में कार्य कर सकें।’’ उक्त बात राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, जम्मू-कश्मीर प्रांत के संघचालक (सेनि.) ब्रिगेडियर सुचेत सिंह ने कही। वे जम्मू-कश्मीर स्थित सांबा में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्थापना दिवस पर आयोजित पथ संचलन कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि भारतीय समाज हर दिन एक नया उत्सव मनाता है। विजयादशमी उत्सव असत्य पर सत्य की जीत का प्रतीक है। मां दुर्गा ने महिषासुर का वध किया था तो विजयादशमी के दिन ही भगवान राम ने रावण का वध किया था। इसीलिए हम इस दिन शक्ति पूजन करते हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी राष्ट्र की शक्ति उसके समाज में है न कि उसके भव्य स्वरूप या भव्य सेना में। समृद्धि व शक्ति उसके राष्ट्रभक्त समाज में निहित होती है। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे श्री राज सिंह ने भी इस अवसर पर अपने विचार रखे।  प्रतिनिधि