इमरान की फजीहत: सऊदी प्रिंस ने पहले विमान दिया नाराज हुए तो वापस मांग लिया
   दिनांक 07-अक्तूबर-2019
अमेरिका से इमरान को उसी विमान से वापस पाकिस्तान लौटना था लेकिन उसे पहले ही वापस मांग लिया गया, तब विमान में तकनीकी खामी होने का हवाला दिया गया था ले​किन असलियत कुछ और थी। सऊदी प्रिंस ने इमरान के भाषण से नाराज होकर अपना विमान खाली करा लिया था

संयुक्त राष्ट्र महासभा में कश्मीर राग अलापकर अपनी किरकिरी करा चुके पाकिस्तान की एक बार फिर फजीहत हो रही है। उनकी सबसे ज्यादा फजीहत अब उनके ही देश में हो रही है। दरअसल, पाकिस्तानी मैगजीन फ्राइडे टाइम्स का दावा है कि पिछले दिनों संयुक्त राष्ट्र महासभा में भाग लेने के बाद इमरान खान सऊदी अरब के जिस विमान से अमेरिका से लौट रहे थे उसे खाली करा लिया गया था। मैगजीन के अनुसार सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान संयुक्त राष्ट्र में इमरान खान के कूटनीतिक तौर-तरीकों से नाराज थे।
दरअसल अमेरिका से इमरान को उसी विमान से वापस पाकिस्तान लौटना था लेकिन उसे पहले ही वापस मांग लिया गया, तब विमान में तकनीकी खामी होने का हवाला दिया गया था ले​किन असलियत कुछ और थी। पाकिस्तान के मशहूर पत्रकार नजम सेठी ने अपने एक लेख में दावा किया है कि सऊदी अरब के प्रिंस ने इमरान के भाषण से नाराज होकर अपना विमान खाली करा लिया था।
उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों इमरान अमेरिका की यात्रा के पहले सऊदी अरब गए थे। वहां सऊदी प्रिंस ने अपना विशेष विमान पाकिस्तानी पीएम को मुहैया कराया था। बाद में उन्हें इसी विमान के जरिये न्यूयार्क जाने का मौका मिला। संयुक्त राष्ट्र महासभा के बाद इमरान इसी विमान से पाकिस्तान लौट रहे थे, पर इसे बीच रास्ते से वापस ले जाना पड़ा था।
इमरान खान की कूटनीति से नाराज हैं सऊदी प्रिंस
फ्राइडे टाइम्स में प्रकाशित लेख के मुताबिक इमरान ने जिस तरह की कूटनीति का परिचय दिया वह सऊदी अरब को रास नहीं आई। सऊदी प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान इमरान की कूटनीति के कुछ पहलुओं से नाखुश हो गए। इस्लामिक समूह का नेतृत्व करने की पाकिस्तानी पीएम की कोशिशें सऊदी अरब को रास नहीं आईं। कश्मीर को लेकर इमरान खान ने तुर्की और मलेशिया को अपने साथ आगे करने की कोशिश की थी, जो सऊदी अरब को पसंद नहीं आया। सऊदी प्रिंस को पाकिस्तान की ओर से ईरान से संबंध मजबूत करने पर भी आपत्ति थी। सऊदी अरब और ईरान के बीच इस समय तनातनी काफी बढ़ी हुई है।
मैगजीन ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि कुछ लोग हैं जो हर हाल में इमरान के प्रशंसक बने रहना चाहते हैं। उन्हें लगता है कि न्यूयार्क से लौटने पर उनका हीरो जैसा स्वागत किया गया। इनकी तरफ से एक सुझाव यह भी आया कि जिस विमान से इमरान इस्लामाबाद लौट रहे हैं उसे उनके प्रति सम्मान जताने के लिए एफ-17 थंडर विमानों के घेरे में लाया जाना चाहिए। इन समर्थकों को लगता है कि इमरान ने कश्मीर, इस्लामोफोबिया जैसे सभी खास मुद्दों पर धारदार तरीके से बात रखी। उन्हें इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि जब आम सभा में इमरान बोल रहे थे तब हॉल आधा खाली पड़ा था और इमरान ने साफ तौर पर मान लिया था कि पाकिस्तान अलकायदा आतंकियों को प्रशिक्षित करता था।