हिन्दुत्व के गौरव प्रेम सिंह 'शेर' नहीं रहे
   दिनांक 09-अक्तूबर-2019
 
 
दो बार सांसद तथा विश्व हिन्दू परिषद् के केन्द्रीय मंत्री रहे श्री बैकुंठ लाल शर्मा 'प्रेम' उर्फ प्रेम सिंह 'शेर' का 28 सितंबर को दिल्ली में निधन हो गया। वे 90 वर्ष के थे। उनके निधन पर विहिप उपाध्यक्ष श्री चम्पत राय ने श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि प्रेम जी किसी भी पद-प्रतिष्ठा से ऊपर रह कर समाज के हर वर्ग के साथ कंधे से कंधा मिलाकर राष्ट्र-धर्म को आजीवन समर्पित व्यक्ति थे। उनका निधन संपूर्ण समाज के लिए पीड़ादायक है। ईश्वर से प्रार्थना है कि दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें।
 
उल्लेखनीय है कि 1929 में अविभाजित भारत के सियालकोट में जन्मे बैकुंठ लाल शर्मा बाल्यकाल से ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़ गए तथा 18 वर्ष की अल्पायु में भारत विभाजन की विभीषिका से उनके बाल मन पर गहरा प्रभाव पड़ा। उन्होंने देश की रक्षा के लिए भारतीय सेना में नौकरी की। इसके अलावा वह दशकों तक विश्व हिन्दू परिषद्, दिल्ली के महामंत्री के रूप में कार्य करते हुए राजधानी के हिन्दुओं की विविध समस्याओं का निराकरण करते रहे।