IFFI 2019: शुरु हुआ गोवा फिल्म फेस्टिवल, दिखाई जाएंगी 200 से ज्यादा फिल्में
   दिनांक 21-नवंबर-2019
 
 दीप प्रज्जवलन से हुई फेस्टिवल की शुरुआत
गोवा में 50वें 'गोवा इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल' की बुधवार से शुरुआत हुई। सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के साथ अमिताभ बच्चन और रजनीकांत ने दीप प्रज्जवलन कर फेस्टिवल का उद्घाटन किया। समारोह में अमिताभ बच्चन और रजनीकांत ने एक-दूसरे को अपनी प्रेरणा बताया। दोनों हस्तियां दो बार मंच पर आईं। इस दौरान रजनीकांत को आइकॉन ऑफ गोल्डन जुबली अवाॅर्ड दिया गया। इसके बाद जावड़ेकर और गोवा के मुख्यमंत्री डॉ. प्रमोद सावंत फिल्म बाजार का उद्घाटन करने पहुंचे और उन्होंने भारतीय चित्र साधना द्वारा फरवरी में अहमदाबाद में होने वाले चित्र भारती फिल्म फेस्टिवल का पोस्टर रिलीज किया।
फेस्टिवल 20 - 28 नवंबर तक चलेगा। गोवा में हर साल आयोजित होने वाला ‘इफ्फी’ अपने पचास सालों के सफ़र को सेलिब्रेट कर रहा है। इस फेस्टिवल में ऐसी कई फिल्में दिखायी जायेंगी, जिनके वर्ष 2019 में 50 साल पूरे हो गए हैं। हर साल होने वाले इस इफ्फी में 76 देशों की 200 से ज्यादा फिल्मों का प्रदर्शन किया जाएगा। जिसमें भारत की 26 फीचर फिल्में और 15 नॉन फीचर फिल्मों को पेनोरामा सेक्शन में प्रदर्शित किया जाएगा। गोवा के मुख्यमंत्री डॉ. प्रमोद सावंत ने मीडिया से बातचीत के दौरान फेस्टिवल के बारे में जानकारियां दीं।
फेस्टिवल में दिखाई जाएंगी धर्मेंद्र-राजेश खन्ना की क्लासिक फिल्में
गोवा में होने वाले इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल (इफ्फी ) में धर्मेंद्रे और राजेश खन्ना की क्लासिक फिल्में दिखायी जायेंगी।
इनमें धर्मेंद्र और राजेश खन्ना जैसे सुपरस्टार की फिल्में शामिल हैं। गोल्डन लाइनिंग फिल्म सेक्शन में धर्मेंद्र की ‘सत्यकाम’ और राजेश खन्ना की ‘आराधना’ की स्क्रीनिंग की जाएगी। यह दोनों ही फिल्में साल 1969 में रिलीज़ हुई थीं और हिंदी सिनेमा की क्लासिक फिल्मों की लिस्ट में इनका नाम शामिल है।
भारत सरकार हर साल ये शानदार फिल्म फेस्टिवल का आयोजन करती है इस इवेंट का आयोजन Directorate of Film Festivals (DFF) और Entertainment Society of Goa (ESG) मिलकर करते हैं। फैन्स के साथ बातचीत और भी कई मनोरंजक चीज़ें हर साल इस फेस्टिवल का हिस्सा होती हैं। 2019 में IFFI अपना 50वां साल मना रहा है और इसलिए इस साल ये इवेंट और बेहतर होने का वादा करता है। इस इवेंट में भाग लेने के लिए आपको प्रतिनिधि के तौर पर एक पंजीकरण करवाना होगा जिसकी एक फीस है। ये पंजीकरण आप IFFI 2019 की वेबसाइट पर कर सकते हैं और फेस्टिवल का शेड्यूल और पास दोनों ही इवेंट के स्थान पर पहुंचकर ले सकते हैं। मास कम्यूनिकेशन और फिल्म स्टडीज़ के विद्यार्थियों के लिए ये इवेंट निशुल्क है लेकिन उन्हें भी रजिस्ट्रेशन करवाना अनिवार्य है। ⁃ IFFI 2019 की ओपनिंग सेरेमनी 20 नवंबर को होगी जिसके हिंदी फिल्ममेकर करण जौहर होस्ट करेंगे। भारतीय सिनेमा के सुपरस्टार्स अमिताभ बच्चन और रजनीकांत को इस मौके पर सम्मानित किया जाएगा। दोनों ही अभिनेता इस ओपनिंग सेरेमनी का हिस्सा होंगे। ⁃ IFFI 2019 की ओपनिंग फिल्म एक इतालवी (Italian) ड्रामा है जिसका नाम है Despite the Fog. फिल्म के डायरेक्टर हैं Goran Paskaljevic. इस फिल्म की स्क्रीनिंग 20 नवंबर को शाम 7 बजे होगी।
IFFI 2019 की फिल्मों की स्क्रीनिंग पंजिम की कला अकादमी, INOX पंजिम और INOX परवोरिम में होगी। इसके अलावा कला अकादमी में ही कुछ ओपन एयर स्क्रीनिंग भी होंगी। मास्टर क्लास पंजिम के मकीनेज़ पैलेस में होगी जो कि गोआ के ESG प्रांगण में है। ⁃ IFFI 2019, 76 देशों की करीब 200 फिल्मों की स्क्रीनिंग करेगा जिनमें 26 फीचर फिल्में हैं और 15 नॉन फीचर फिल्में। ⁃ IFFI 2019 के समापन समारोह में ईरानी फिल्ममेकर मोहसिन मखमलबफ की फिल्म Marghe and Her Mother की स्क्रीनिंग की जाएगी। ये स्क्रीनिंग 28 नवंबर को समारोह के बाद होगी।
IFFI 2019 की स्वर्ण जयंती पर काफी दिलचस्प मास्टरक्लास और वार्तालाप का आयोजन किया गया है। इनमें अनिल कपूर, अनीस बज़्मी, तापसी पन्नू, रोहित शेट्टी, तमन्ना भाटिया, काजल अग्रवाल, मधुर भंडारकर सहित कई दिग्गज शामिल हैं। ⁃ इनमें मेघना गुलज़ार के साथ फिल्ममेकिंग पर एक दिलचस्प वार्तालाप और फिल्मों की कास्टिंग पर बॉलीवुड के मशहूर कास्टिंग डायरेक्टर्स के साथ एक बातचीत शामिल है। ⁃ दक्षिण भारत के अभिनेता जैसे - विजय देवराकोंडा, राकुल प्रीत सिंह, रश्मिका मंदाना, नित्या मेनन भी इस समारोह का हिस्सा बनेंगे। ⁃ फ्रेंच अभिनेत्री इसाबेल ह्यूपर्ट को IFFI 2019 में लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा। वो Actors Connect के अंदर एक मास्टरक्लास भी लेंगी जिसे फिल्मी फैन और संघर्षरत एक्टर्स को ज़रूर अटेंड करना चाहिए। ⁃ IFFI 2019, मुंबई इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल (MIFF) की बेस्ट फिल्मों की भी स्क्रीनिंग करेगी। MIFF भी फिल्म डिवीजन का एक इवेंट है जो हर दो साल में होता है। IFFI की टीम ने पिछले 10 सालों से MIFF की 17 विजेता फिल्मों को इस साल गोआ में स्क्रीनिंग के लिए चुना है। IFFI 2019 में भारतीय सिनेमा की नई लहर के बारे में भी एक गहन बातचीत का आयोजन किया गया है। इस इवेंट में ऋत्विक घटक और फिल्ममेकर कोरियोग्राफर की फिल्में भारतीय क्लासिक फिल्मों के पुनर्स्थापन के उद्देश्य से दिखाई जाएंगी। फेस्टिवल में पिछले कई सालों से IFFI में कोंकणी फिल्मों की स्क्रीनिंग भी की जा रही है और ये प्रक्रिया इस साल भी जारी रहेगी। ⁃ IFFI 2019 फ्रेंच फिल्ममेकर Agnes Varda और इतालवी फिल्ममेकर Bernardo Bertolucci को भी याद करेगा।
महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती का भी रखा गया है ध्यान
इस साल भारत सरकार के महात्मा गांधी के 150 साल के उत्सव को भी इस इवेंट से जोड़ा गया है और National Film Archive of India ने इस ओर सभी स्क्रीनिंग, क्विज़ और प्रदर्शनी पर IFFI 2018 में ध्यान दिया था जो कि IFFI 2019 में जारी रहेगा। इसलिए आप महात्मा गांधी को भी अपना श्रद्धांजलि अर्पित कर सकते हैं। ⁃ IFFI 2019 के मास्टर फ्रेम में मास्टर फिल्ममेकर Pedro Almodovar और Hirokazu Koreeda की फिल्में भी शामिल होंगी।
दिवंगत अभिनेताओं को दी जाएगी श्रद्धांजलि
फेस्टिवल में दुनिया को अलविदा कह चुके फिल्म सितारों को भी श्रद्धांजलि दी जाएगी। महोत्सव में इस बार 13 फेमस हस्तियों को भी श्रद्धांजलि दी जाएगी। श्रद्धांजलि स्वरूप इनकी फिल्में प्रदर्शित की जाएंगी जिसमें मृणाल सेन की फिल्म भुवन शोम और गिरीष कर्नाड की फिल्म कनूरू हेग्गाहिथी प्रमुख हैं। इसके अलावा कादर खान की फिल्म हम, राजकुमार बड़जात्या की फिल्म हम आपके हैं कौन, राम मोहन की फिल्म कृष 3 और बालित बॉय, वीरू देवगन की फिल्म फूल और कांटे, विद्या सिन्हा की फिल्म रजनीगंधा, एम जे राधाकृष्णन की फिल्म वेइलमारंगल और खय्याम की फिल्म उमराव जान शामिल हैं।
दिवंगत असमी अभिनेता बिजू खुकन की फिल्म अपारूपा को भी इस सूची में शामिल किया गया है, जिसे जानू बरुआ ने निर्देशित किया। इन फिल्मों के अलावा गोवा फिल्म फेस्टिवल में विजया मुले की फिल्म द टाइडल और एनीमेशन फिल्म एक अनेक और एकता, रूमा गुहा ठाकुरता की फिल्म गणशत्रु शामिल हैं।
दिखाई जाएंगी हॉलीवुड की क्लासिक फिल्में
IFFI 2019 के ऑस्कर सेक्शन में हॉलीवुड की क्लासिक फिल्में कासाब्लांका, बेनहुर, गॉन विद द विंड, साउंड ऑफ द म्यूज़िक जैसी फिल्में दिखाई जाएंगी। ⁃ IFFI 2019 के World Panorama सेक्शन में बॉम्बे रोज़, लेस मिसरेबल्स, एंट्वाइंड, ट्रॉम फैबरिक जैसी फिल्में शामिल हैं। ⁃ इस साल एक खास सेक्शन खोला गया है जिसका नाम है कैलीडोस्कोप जहां कान्स 2019 की विजेता फिल्म पैरेसाइट दिखाई जाएगी। इसके साथ कई और बेहतरीन फिल्मों की लिस्ट शामिल है। ⁃ Soul Of Asia नाम के सेक्शन में एशिया की बेहतरीन फिल्मों की स्क्रीनिंग की जाएगी। 50वें Interational Film Festival Of India (IFFI) की ज्यूरी के हेड होंगे जॉन बेली, एक छायाकार और Academy of Motion Pictures Arts and Sciences के पूर्व प्रेसीडेंट। ज्यूरी के बाकी सदस्यों में फ्रेंच फिल्ममेकर रॉबिन कैंपिलो, चीनी फिल्मकार ज़्हैंग यैंग, स्कॉटिश फिल्मकार, छायाकार और लेखक लैनिन रामसे और हिंदी फिल्ममेकर रमेश सिप्पी शामिल हैं ।