मुस्लिम बहुल इलाके में पंक्‍चर होने पर डॉक्‍टर ने मांगी थी मदद, रेप के बाद हत्‍याकर लाश को जलाया
   दिनांक 29-नवंबर-2019

reddy_1  H x W: 
हैदराबाद की पशु चिकित्सक डॉ. शीतल रेड्डी ( परिवर्तित नाम ) कत्ल कर दी गई. जला दी गई. मरने से पहले उसने अपनी बहन को फोन करके शीतल ने बताया था कि मुस्लिम बहुल इलाके में उसकी स्कूटी खराब हो गई है. उसे बेहद डर लग रहा है. उसके बाद शीतल की लाश मिली. असल में डर ये होता है. किसी के दिल में डर हो और फिर वो सच साबित हो. अब किसी को सेेकुलर को डर नहीं लग रहा है, सेक्युलर बुद्धिजीवियों की सदा जली रहने वाली मोमबत्तियां शीतल के नाम पर बुझ चुकी हैं. डर क्या है और हिंदू महिलाओं को किस-किस तरीके का डर है, ये हम आपको बताएंगे. इस सच से आंख मत चुराइये. ये बहन और बेटियों का सवाल है.
हैदराबाद की पशु चिकित्सक शीतल रेड्डी बुधवार को कोल्लुरु स्थित पशु चिकित्सालय गई थीं. उन्होंने अपनी स्कूटी को शादनगर के टोल प्लाजा के पास पार्क कर दिया था. रात में जब वह लौटी तो उनकी स्कूटी पंक्चर थी (या कर दी गई थी). इसके बाद शीतल ने अपनी बहन को फोन किया और इसकी जानकारी दी. शीतल ने बहन से कहा कि मुझे डर लग रहा है. इस पर उनकी बहन ने शीतल को टोल प्लाजा जाने और कैब से आने की सलाह दी थी. शीतल रेड्डी ने कहा कि कुछ लोगों ने मदद की पेशकश की है और थोड़ी देर बाद कॉल करती हूं. इसके बाद शीतल का मोबाइल फोन स्विच ऑफ हो गया. परिजनों ने शादनगर टोल प्लाजा के पास शीतल की खोजबीन की, लेकिन वह नहीं मिली. सुबह शादनगर के अंडरपास के पास उसकी जली हुई लाश मिली. प्रियंका की स्कूटी एक मुस्लिम मकैनिक के यहां मिली है. पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लिया है. शीतल का डर सच साबित हुआ. ट्विटर से लेकर फेसबुक तक शीतल की मौत पर गुस्सा है. हैदराबाद की हिंदू आबादी आंदोलित है. लेकिन सवाल ये है कि शीतल की हत्या या इस तरह की वारदातों को अंजाम देने वालों को किसी का डर क्यों नहीं है. ये हर जगह हैं, नए-नए चेहरों में हैं. लेकिन हर मुखौटे के पीछे एक जिहादी चेहरा है.
कौशांबी के शैतान
यूपी के कौशांबी की 16 साल की किशोरी से पूछिए, तो वह बताएगी कि शांति प्रिय कौम के शैतान कैसे हैं. तीन मोहम्मद नामधारियों ने 16 साल की दलित किशोरी का गैंगरेप किया. वीडियो बनाया और वायरल कर दिया. जरा नामों पर गौर कीजिए मोहम्मद नाजिम, मोहम्मद छोटका और मोहम्मद बड़का. ये लड़की ईदगाह के पास खाली पड़े मैदान में घास काटने के लिए गई थी. गांव के तीनों जिहादियों ने इसका अपहरण कर सुनसान जगह ले गए. बलात्कार किया, और उसका वीडियो बनाकर वायरल कर दिया. वीडियो में ये मासूम किशोरी गुहार लगा रही है, तुम लोग मुझे जानते हो. अल्लाह के वास्ते मुझे छोड़ दो.
बिहार के कबाइली
बिहार के अररिया में तो ये शैतान और भी आगे निकल गए. यहां एक अधेड़ महिला को एक मुस्लिम व्यक्ति के साथ प्रेम प्रसंग का आरोप लगाते हुए बांधकर पीटा गया. ये सारा काम बाकायदा पंचायत लगाकर हुआ. मुस्लिम जिहादियों की भीड़ ने महिला को जबरन गोमांस खिलाया. मुस्लिम सरपंच मोहम्मद असलम की सरपरस्ती में बैठी पंचायत ने उसे जबरन इस्लाम स्वीकार कराकर अकबर नाम के व्यक्ति के साथ निकाह का फरमान सुनाया. वीडियो वायरल न होता, तो शायद किसी को पता भी नहीं चलता कि धर्मनिरपेक्ष लोकतंत्र में कबाइली पंचायतें चल रही हैं. जबरन धर्म परिवर्तन कराए जा रहे हैं. एक गांव का वीडियो तो सामने आ गया, लेकिन तमाम गांवों में खामोशी के साथ जिहादी अपने कारनामे अंजाम दे रहे हैं.
लव जिहाद एक हकीकत
इसी साल सितंबर में यूपी के पीलीभीत में फिर एक जाना पहचाना लव जिहाद का मामला सामने आया. मोहम्मद अजहर ने बहन के यहां पढ़ने वाली एक युवती को हिंदू नाम बताकर प्रेमजाल में फंसा लिया. शारीरिक संबंध बनाए और उसका वीडियो बना लिया. वीडियो बनाने के बाद ये जिहादी अपने असली रंग में आ गया. वीडियो के नाम पर अजहर उसे ब्लैकमेल करने लगा. फिर वह युवती को लेकर बरेली आ गया. यहां उसने जबरन धर्म परिवर्तन कराकर निकाह कर लिया. अजहर ने यहां एक कमरा ले लिया. युवती के मुताबिक अजहर कमरे पर अपने मुस्लिम दोस्तों को बुलाता था, जो उसके साथ बलात्कार करते थे.
राजधानी में गला रेता
इसी साल जुलाई में देश की राजधानी के भोगल इलाके में सनसनीखेज वारदात हुई. प्रीति बस स्टैंड पर खड़ी थी. तभी जंगपुरा का रहने वाला मोहम्मद मुनसेर वहां पहुंचा. उसने लड़की से बात करने की कोशिश की, दोनों के बीच कहा-सुनी होने लगी. इसके बाद मोहम्मद ने चाकू निकाला और प्रीति पर ताबड़तोड़ वार करने शुरू कर दिए. प्रीति ने बचकर एक दुकान में घुसने की कोशिश की, लेकिन जिहादी ने उसे खींचकर सड़क पर गिरा दिया. लोगों ने बचाने की कोशिश की, तो मोहम्मद ने उन पर भी चाकू से वार करने का प्रयास किया. प्रीति माथुर से मोहम्मद को नाराजगी इस बात पर थी कि वह उसका प्रणय निवेदन स्वीकार नहीं कर रही थी.
कोलकाता की प्रियंका
अप्रैल 2019 का वाकया है. कोलकाता के डायमंड हार्बर की प्रियंका फांसी पर झूल गई. प्रियंका एक टूर पर गई, तो राजू दास नाम के लड़के से मोहब्बत कर बैठी. राजू दास की हकीकत असल फैजुल्लाह मौला के रूप मे सामने आई. लव जिहाद के इरादे से उसने हिंदू लड़की को फंसाने के लिए हिंदू नाम रखा और हिंदू होने का पूरा ढोंग किया. जब प्रियंका को ये असलियत पता चली तो उसने फैजुल्लाह से दूरी बना ली. फैजुल्लाह ने उसे ब्लैकमेल करने के लिए धमकी देनी शुरू कर दी. प्रियंका ने घर में असलियत बताई. तो माता पिता ने सोमनाथ प्रमाणिक नाम के युवक के साथ उसकी शादी तय कर दी. शादी की रात रस्में चल रही थी, तभी फैजुल्लाह अपने एक और जिहादी साथी के साथ वहां पहुंचा. उसने रिवाल्वर दिखाकर सबको शादी रोकने के लिए धमकाया. इसके बाद फैजुल्लाह ने सोमनाथ की कनपटी पर रिवाल्वर लगा दी. धमकी दी कि सुबह सात बजे तक प्रियंका को उसके पास पहुंचा दिया जाए. आपको ताज्जुब हो रहा होगा कि ये हिन्दुस्तान में हो रहा था. डरे हुए प्रियंका और सोमनाथ डायमंड हार्बर एक रिश्तेदार के यहां आ गए. लेकिन फैजुल्लाह ने पता लगा लिया और उसकी धमकियां बदस्तूर जारी रहीं. आखिरकार परेशान होकर प्रियंका ने फांसी लगाकर जान दे दी.