उत्तर प्रदेश में मिशनरियां करा रहीं कन्वर्जन
   दिनांक 02-दिसंबर-2019

conversion _1  
उत्तर प्रदेश में ईसाई मिशनरी अब झाड़ – फूंक और जादू की आड़ में लोगों का कन्वर्जन करने में जुटी है. लोगों को चमत्कार के नाम पर सभाओं में बुलाया जाता है। ऐसे लोग जिन्हें सिरदर्द एवं बदन दर्द आदि की शिकायत है. उन मरीजों को पिपरमेंट युक्त तेल लगा देते हैं. इस तेल के लगाने से कुछ देर के लिए दर्द से राहत मिल जाती है. जैसे ही दर्द कम होता है. उस ग्रामीण से यीशु का जयकारा लगवाया जाता है. इसके बाद कैमरे से उसकी गवाही की विडियोग्राफी भी कराई जाती है. वीडियोग्राफी में उस ग्रामीण से कहलवाया जाता है कि प्रार्थना सभा में आने से उसकी बीमारी ठीक हो गई और जीवन के सब दुःख दूर हो गए. इस तरह लोगों को बरगलाकर लोगों का कन्वर्जन किया जा रहा है. गत वर्ष जौनपुर जनपद में कन्वर्जन कराने वाले 271 लोगों के खिलाफ एफ.आई.आर दर्ज की गई थी. जौनपुर को केंद्र बनाकर आज़मगढ़ एवं गाजीपुर जनपद में भी लगातार लोगों का कन्वर्जन किया जा रहा है. अभी हाल ही में मऊ जनपद में भी कन्जर्वन किया जा रहा था.
27 नवम्बर को मऊ जनपद के रानीपुर थाना क्षेत्र के दरौरा गावं में गंभीर रोगों के इलाज के लिए एक सभा का आयोजन किया गया था. इस सभा के बहाने कन्जर्वन कराया जा रहा था इस संबंध मे शिकायत मिलने पर कपिल देव राम, ओम प्रकाश एवं अजय कुमार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.
ईसाई मिशनरियां अपने एजेंटों को भेज कर पहले प्रचार करती हैं। पूर्वांचल के जौनपुर , आजमगढ़ एवं गाजीपुर जनपद में ईसाई मिशनरी तेजी से अपना जाल फैला रही हैं. जौनपुर जनपद के चंदवक थाना क्षेत्र का भूलडीह ग्राम इन सब गतिविधियों का केंद्र बना हुआ है. जौनपुर जनपद के अधिवक्ता बृजेश सिंह रघुवंशी ने जनपद न्यायालय में कन्वर्जन कराने वालों के खिलाफ एफ.आई.आर दर्ज कराने के लिए गुहार लगाई है. न्यायालय ने सुनवाई के बाद वर्ष 2018 के सितम्बर में थाना प्रभारी ,चंदवक को एफ. आई.आर दर्ज करने का आदेश किया. कोर्ट के आदेश पर मुख्य अभियुक्त दुर्गा यादव समेत 271 लोगों के खिलाफ एफ.आई. आर दर्ज की गई थी .

दवा के नाम पर नशे की गोली देता था दुर्गा यादव
अधिवक्ता बृजेश सिंह रघुवंशी बताते हैं कि "भूलडीह गावं के दुर्गा यादव और उसके कुछ साथी गांव के ऐसे लोग जो कम पढ़े लिखे हैं ,उन लोगों को बहला - फुसलाकर कन्जर्वन करा रहे थे. दुर्गा यादव जौनपुर , आजमगढ़ एवं गाजीपुर आदि जनपदों में कन्वर्जन करा रहा था. दुर्गा यादव अपने सहयोगियों की मदद से दवा के नाम पर लोगों को नशे की गोली सेवन करने के लिए देता था. पिछड़े , गरीब एवं अशिक्षित लोगों को धोखे से सनातन धर्म से विमुख कराकर ईसाई बनाता था. ईसाई केंद्र संचालक दुर्गा यादव कुछ फर्जी किस्म के पादरी कीरितराम , जितेन्द्र राम एवं अन्य सहयोगी की भी मदद लेता था.
भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता मनीष शुक्ला का कहना है कि "प्रलोभन देकर हिन्दू परिवारों को कन्वर्जन कराए जाने के बाद इस मामले की जांच किया जाना जरूरी है. ईसाई मिशनरियों द्वारा किए जा रहे कन्वर्जन को देखते हुए विश्व हिन्दू परिषद् ने यह फैसला किया है कि हिन्दूओं की 'घर वापसी अभियान' को फिर से गति प्रदान की जाएगी. उत्तर प्रदेश के जौनपुर, बहराइच , फैजाबाद एवं लखीमपुर आदि जनपदों में प्रशिक्षित कार्यकर्ताओं को निगरानी का दायित्व सौंपा जाएगा. विहिप के राष्ट्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा है कि घर वापसी अभियान के माध्यम से 6 लाख लोगों को घर वापसी कराई गई है.