शादी के सात साल बाद अपने बहनोई को सिर्फ इसलिए क़त्ल किया क्योंकि वह हिन्दू था
   दिनांक 28-दिसंबर-2019
11 वर्ष की उम्र में अजहरूद्दीन ने अपने बहनोई की हत्या करने की ठानी थी. वह बर्दाश्त नहीं कर पाया था कि एक हिन्दू युवक ने उसकी बहन से विवाह कैसे कर लिया ! सात वर्ष बाद उसने अपने बहनोई का क़त्ल कर दिया

thana _1  H x W
लव जिहाद में मुसलमान लड़के, हिन्दू लड़कियों को प्रेम जाल में फंसा कर शादी कर लेते हैं मगर कोई हिन्दू अगर मुसलमान लड़की से शादी करता है तो मुसलमानों को यह बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं. इसी का उदाहरण है उत्तरप्रदेश के जनपद महराजगंज की घटना. अजहरुद्दीन नाम का युवक इस बात से आग बबूला था कि उसकी बहन से हिन्दू युवक ने विवाह कर लिया था. शादी के सात वर्ष बीत गए थे. इस दौरान दो संतानें भी हुईं. बड़ी बेटी तीन साल की है और छोटा बेटा डेढ़ साल का है. अभियुक्त अजहरूद्दीन को दो मासूम बच्चों का भी ख्याल नहीं आया. उसके मन में बस यह था कि कैसे हिन्दू युवक ने उसकी बहन से शादी की. अजहरूद्दीन ने धोखे से अपने बहनोई की कुल्हाड़ी से काट कर हत्या कर दी.
घटना महराजगंज जनपद के पनियारा थाना क्षेत्र के इलाहाबाद गांव की है. घटना को अंजाम देने के बाद अभियुक्त अजहरूद्दीन अपने बहनोई की मोटर साइकिल से थाने पर पहुंचा और आत्मसमर्पण कर दिया. उसने पुलिस से कहा कि " सात सालों से बदले की आग में जल रहा था. अब जाकर तसल्ली मिली है."
उल्लेखनीय है कि बृजेश कुमार उम्र लगभग ने करीब सात वर्ष पहले महराजगंज जनपद के पनियारा थाना क्षेत्र के इलाहाबाद गांव की मुस्लिम लड़की से प्रेम विवाह कर लिया था. शादी के बाद दोनों परिवारों में काफी तनातनी हो गई थी. दोनों परिवारों में कोई संपर्क नहीं था. शादी के बाद बृजेश, गोरखपुर जनपद की रेलवे कैंटीन में प्राइवेट नौकरी करने लगा. बुधवार को घटना के दिन बृजेश अपने घर आया हुआ था. जब वह किसी काम से बाहर निकला तो पहले से घात लगाए उसके साले अज़हरूद्दीन ने कुल्हाड़ी से वार करके निर्ममता से उसकी हत्या कर दी।