पश्चिम बंगाल में भी भाजपा कार्यकर्ता की हत्या
   दिनांक 27-मई-2019
अमेठी में स्मृति ईरानी के साथ चुनाव कैंपेन में रहे बरौलिया गांव के पूर्व प्रधान सुरेन्द्र सिंह की हत्या की तरह पश्चिमी बंगाल में भी एक भाजपा कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई. लोकसभा चुनाव के बाद मात्र तीन दिन के भीतर ही पश्चिम बंगाल में भाजपा कार्यकर्ता की हत्या का अब दूसरा मामला सामने आया है।
मृतक भाजपा कार्यकर्ता चंदन शॉ (फाइल फोटो) - फोटो : सोशल मीडिया
पश्चिमी बंगाल उत्तर 24 परगना जिले में अज्ञात लोगों ने रविवार रात भाजपा कार्यकर्ता चंदन शॉ की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इलाके में सुरक्षाबलों की तैनाती गई है। इससे पहले 24 मई को भी नादिया जिले में शुक्रवार रात अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर भाजपा कार्यकर्ता संतू घोष की हत्या कर दी थी। 25 साल के संतू कुछ दिन पहले ही तृणमूल कांग्रेस का साथ छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे। चंदन की हत्या राज्य के उत्तरी चौबीस परगना के काकीनारा में हुई। हत्या का आरोप मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस के गुंडों पर लगा है। पश्चिम बंगाल में पिछले कई सालों से भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या के मामले सामने आते रहे हैं। लोकसभा चुनाव नतीजों के ठीक बाद 23 मई शाम को भाजपा कार्यकर्ताओं को पीटने की घटना सामने आई थी। पश्चिम बंगाल में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने तृणमूल कार्यकर्ताओं पर हिंसा फैलाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि तृणमूल के गुंडे विपक्ष के नेताओं और उम्मीदवारों पर लगातार हमला कर रहे हैं। ममता बनर्जी की पार्टी हार स्वीकार नहीं कर पा रही है। उन्हें नतीजों को सही भावना के साथ देखना चाहिए।