‘‘राष्ट्रभक्ति और राष्ट्रशक्ति के जागरण से ही देश जगद्गुरु बनेगा’’
   दिनांक 13-जून-2019
 
मंच पर उपस्थित (दाएं से) श्री सदाशिव म्हसे, श्री श्याम जी हरकरे एवं अन्य विशिष्ट अतिथि
‘राष्ट्रभक्ति और राष्ट्रशक्ति के जागरण के कारण देश फिर से जगद्गुरु बनेगा। पिछली अनेक सदियों से भारत में अनेक महापुरुषों ने प्रयास कर राष्ट्रभक्ति और राष्ट्रशक्ति जागरण का अत्यंत महत्वपूर्ण कार्य किया है और 1925 से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने भी समाज की भक्ति व शक्ति के जागरण का संकल्प लिया है।’’ उक्त बात पश्चिम क्षेत्र धर्म जागरण प्रमुख श्री श्याम जी हरकरे ने कही। वे गत दिनों राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, कोंकण प्रांत के प्रथम वर्ष संघ शिक्षा वर्ग के समारोप कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि हिन्दू समाज का संगठन मतलब सज्जन शक्ति का जागरण। देशभक्ति का संस्कार देकर आत्मविस्मृत समाज की वीरवृत्ति जागृत करने की दृष्टि से और उसके लिए योग्य संस्कार देने वाली कार्यपद्धति संघ ने विकसित की है। उसने हिन्दू समाज पर हो रहे विविध सांस्कृतिक, राजकीय और सामाजिक आक्रमणों के बारे में भी समाज को जागरूक किया है। कार्यक्रम में अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त वरली चित्रकार श्री सदाशिव म्हसे मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि मुझे वारली चित्रकला की कला पिता से विरासत में मिली। मैंने देश-विदेश में अनेक चित्र प्रदर्शनियों में भाग लिया है। वरली चित्रकला का प्रशिक्षण लेकर आज 275 लोगों को रोजगार प्राप्त हुआ है।