‘‘संघ का लक्ष्य भारत को विश्व गुरु बनाना’’
   दिनांक 02-जुलाई-2019

मंच पर (मध्य में) सरदार रुपिंदर सिंह, डॉ. रवीन्द्र जोशी व अन्य
गत 23 जून को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, दिल्ली प्रान्त का संघ शिक्षा वर्ग (प्रथम वर्ष) का समापन समारोह हरीनगर स्थित महाशय चुन्नी लाल सरस्वती बाल मंदिर विद्यालय में आयोजित किया गया। समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में सर्वोच्च न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता सरदार रुपिंदर सिंह सूरी एवं मुख्य वक्ता के रूप में रा.स्व.संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य डॉ. रवीन्द्र जोशी उपस्थित थे।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डॉ. रवीन्द्र जोशी ने कहा कि संघ का कार्य सबल व संगठित शक्ति से भारत को विश्व गुरु बनाना है, अत: स्वयंसेवक व्यक्तिगत स्वार्थ नहीं अपितु परमार्थ की बात करता है और समाज हित को निजी हितों से ऊपर मानता है। हिन्दू समाज का संगठन विरोध के लिए नहीं, अपितु समाज की सर्वांगीण उन्नति के लिए है एवं इसका स्वरूप सकारात्मक व राष्ट्रपोषक है। उन्होंने कहा कि देश की सभी समस्याओं का समाधान चरित्र संपन्न व्यक्तियों द्वारा ही संभव है, इसलिए सज्जन शक्ति को मिलकर जाति, भाषा, प्रांत, वर्ग आदि विभेदों से ऊपर उठकर सूत्रबद्ध एवं सुसंगठित समाज का निर्माण करना होगा। इस अवसर पर अनेक गणमान्य नागरिक व प्रशिक्षणार्थियों के परिवारीजन उपस्थित रहे।