'राष्ट्र निर्माण में संघ की भूमिका' बनी पाठ्यक्रम का हिस्सा
   दिनांक 22-जुलाई-2019
 
 
पथ संचलन में शामिल स्वयंसेवक (फाइल चित्र)
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का इतिहास एवं राष्ट्र निर्माण में भूमिका को नागपुर स्थित राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय ने स्नातक (इतिहास) के द्वितीय वर्ष के पाठ्यक्रम में शामिल किया है। पाठ्यक्रम के तीसरे खंड में राष्ट्र निर्माण में रा.स्व.संघ की भूमिका का वर्णन है। विश्वविद्यालय अध्ययन बोर्ड के सदस्य श्री सतीश ने एक समाचार एजेंसी को बताया कि भारत का इतिहास (1885-1947) इकाई में एक अध्याय 'राष्ट्र निर्माण में संघ की भूमिका' को जोड़ा गया है, जो स्नातक (इतिहास) द्वितीय वर्ष पाठ्यक्रम के चौथे सेमेस्टर का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि 2003-2004 में विश्वविद्यालय के परास्नातक (इतिहास) पाठ्यक्रम में एक अध्याय 'रा.स्व.संघ का परिचय' था। इस साल हमने इतिहास के छात्रों के लिए राष्ट्र निर्माण में संघ के योगदान का अध्याय रखा है, जिससे कि वे इतिहास में नई विचारधारा के बारे में जान सकें। उन्होंने कहा कि इतिहास के पुनर्लेखन से समाज के समक्ष नए तथ्य आते हैं।