मदरसों में स्वतंत्रता दिवस पर फहराया जाएगा तिरंगा
   दिनांक 13-अगस्त-2019
 
उत्तर प्रदेश में स्वतंत्रता दिवस पर सभी मदरसों में राष्ट्रीय ध्वज फहराना अनिवार्य होगा. इस संबंध में प्रदेश सरकार की तरफ से आदेश जारी किए गए हैं. स्वतंत्रता दिवस के लिए उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से 8 बिन्दुओं पर एडवाइजरी जारी की गई है. सरकार की तरफ से जारी की गई एडवाइजरी के अनुसार प्रातः आठ बजे झंडा रोहण किया जाएगा और राष्ट्रगान होगा. प्रातः 8 बजकर 10 मिनट से स्वतंत्रता संग्राम के शहीदों को श्रद्धांजलि दी जाएगी. उसके बाद स्वतंत्रता दिवस के महत्व पर प्रकाश डाला जाएगा. स्वतंत्रता दिवस की पृष्ठभूमि तथा स्वतंत्रता संग्राम में भाग लेने वाले स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों एवं शहीदों के बारे में जानकारी दी जाएगी. मदरसे के छात्र छात्राओं द्वारा मदरसा परिसर में पौधरोपण किया जाएगा. राष्ट्रीय एकता पर आधारित सांकृतिक कार्यक्रम एवं खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा. इसके बाद मिष्ठान वितरण किया जाएगा.
गत वर्ष उत्तर प्रदेश सरकार के आदेश के बावजूद कुछ मदरसों में राष्ट्रगान का अपमान किया गया था. 13 अगस्त 2018 को ही मदरसा बोर्ड की तरफ से इस बात के स्पष्ट दिशा निर्देश जारी किये गए थे कि स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सभी मदरसों में राष्ट्रगान गाया जाएगा और तिरंगा झंडा फहराया जाएगा. महाराजगंज जनपद के मदरसा अरबिया अहले सुन्नत अनवारे तैयबा गर्ल्स कालेज बड़गो में स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए मदरसे के सभी बच्चे एकत्र हुए थे. मगर जब राष्ट्रगान गाने का समय आया तब वहां के मौलानाओं ने राष्ट्रगान गाने से इन्कार कर दिया. कई बार कहने पर भी मौलानाओं ने अपनी जिद नहीं छोड़ी. यही नहीं मदरसे के बच्चों को भी राष्ट्रगान गाने से मना कर दिया. 
इस घटना का वीडियो वायरल हो गया. वीडियो में साफ़ दिख रहा है कि " झंडा रोहण की पूरी तैयारी हो चुकी है. मदरसे में सभी बच्चे मौजूद हैं. तभी मदरसे के प्रांगण में मौजूद एक व्यक्ति द्वारा यह कहा गया कि अब राष्ट्रगान होगा तो वहां के एक मौलाना ने इसका विरोध करते हुए कहा कि - हम लोगों के यहां पर यह नहीं होता है. यह सुनकर वहां पर उपस्थित एक अन्य युवक द्वारा भी नाराजगी जाहिर की गई तो मौलाना ने उनसे सवाल पूछा कि - क्या तुम मुसलमान हो, तुम हो मुसलमान ? उस व्यक्ति द्वारा इस बात पर अड़े रहने पर कि राष्ट्रगान तो गाना ही पड़ेगा. मौलाना ने सभी बच्चों की तरफ देख कर कहा कि -- कोई बच्चा राष्ट्रगान नहीं गाएगा.
इस वीडियो के वायरल होने पर मदरसा बोर्ड हरकत में आया . मदरसा बोर्ड ने इस पर सख्त कार्रवाई करने की बात कही और जांच के आदेश भी दिए थे . जांच रिपोर्ट में दोषी पाए जाने पर मदरसे की मान्यता निरस्त कर दी गई थी . राष्ट्रगान गाने से इंकार करने वाले मोहम्मद निजाम , मोहम्मद जुनैद एवं मोहम्मद अजलूर रहमान के खिलाफ मामला भी दर्ज किया गया था.