‘‘सेवा करें, पर उसका अभिमान न करें’’
   दिनांक 27-अगस्त-2019

 
रेडियोलॉजी विभाग का उद्घाटन करते हुए श्री भैयाजी जोशी, साथ में हैं डॉ. हर्षवर्धन और अन्य अतिथि।
 
गत 18 अगस्त को दिल्ली के अशोक विहार स्थित वढेरा भवन में रेडियोलॉजी विभाग का उद्घाटन हुआ। उल्लेखनीय है कि इस भवन में सेवा भारती, दिल्ली द्वारा सेवा के अनेक प्रकल्प चलाए जा रहे हैं। इसी कड़ी में वहां रेडियोलॉजी विभाग शुरू किया गया। इसका उद्घाटन राष्टÑीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह श्री भैयाजी जोशी ने किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि सेवा भारती ने समाज में एक पहचान बनाई है और वह पहचान है समाज के दु:ख-दर्द को समझना और उसका समाधान करना। उन्होंने यह भी कहा कि सेवा करना हमारी जिम्मेदारी नहीं, बल्कि कर्तव्य है। यह काम जान देकर भी करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सेवा करने वालों को सेवा का अभिमान नहीं करना चाहिए। उन्हें यह सोचना चाहिए कि भगवान ने उन्हें सेवा का अवसर प्रदान किया है। भैयाजी ने कहा कि सेवा तो भारत की परंपरा है। इस परंपरा को आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी हम सबकी है। इसलिए जब भी और जहां भी सेवा करने का अवसर मिले, उससे चूकना नहीं चाहिए।
समारोह के अध्यक्ष और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने सेवा भारती की प्रशंसा करते हुए कहा कि इसके कार्यकर्ताओं ने पल्स पोलियो अभियान को सफल बनाने में बड़ी भूमिका निभाई थी। उन्होंने कार्यकर्ताओं से आयुष्मान भारत जैसे अभियानों में भी भाग लेने का आह्वान किया। समारोह में राष्टÑीय स्वयंसेवक संघ, दिल्ली प्रांत के संघचालक श्री कुलभूषण आहूजा, प्रांत कार्यवाह श्री भारतभूषण, सेवा भारती के अध्यक्ष श्री तरुण गुप्ता, महामंत्री डॉ. रामकुमार आदि उपस्थित थे। ल्ल प्रतिनिधि
डॉ. मंगलम स्वामीनाथन पत्रकारिता पुरस्कार
डॉ. मंगलम स्वामीनाथन फाउंडेशन ने पत्रकारिता, कला और संस्कृति, साहित्य, रचनात्मक कार्य तथा सामाजिक गतिविधियों के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान देने वाले पत्रकारों को पुरस्कृत करने का निर्णय लिया है। ये पुरस्कार डॉ. मंगलम स्वामीनाथन जयंती पर 29 नवंबर, 2019 को नई दिल्ली में एक कार्यक्रम में दिए जाएंगे। उल्लेखनीय है कि यह फाउंडेशन प्रसिद्ध लेखक, विचारक, पत्रकार और कलाप्रेमी डॉ. मंगलम स्वामीनाथन के नाम पर बना है। उनके सपनों को साकार करने के लिए फाउंडेशन ने हर वर्ष पुरस्कार देने की घोषणा की है। इसकी शुरुआत इस वर्ष से हो रही है। सम्मानस्वरूप 1,00000 रु., प्रशंसा पत्र और प्रतीक चिह्न दिए जाएंगे। अपने लेखन से विज्ञान के क्षेत्र में शोध को बढ़ावा देने वाले, कला और संस्कृति को प्रमुखता देने वाले, चिकित्सा क्षेत्र में सक्रिय माफिया तत्वों को उजागर करने वाले और पारिवारिक मूल्यों को मजबूत बनाने वाले पत्रकार 30 सितंबर, 2019 तक अपने आवेदन इस पते पर भेज सकते हैं-
डॉ. मंगलम स्वामीनाथन फाउंडेशन
227, मालवा सिंह ब्लॉक, एशियाड विलेज, नई दिल्ली-110049