‘खान मार्केट गैंग’ की खुली पोल
   दिनांक 23-सितंबर-2019

 
डॉ. सुरेंद्र जैन
 
 
विश्व हिन्दू परिषद का मानना है कि सेकुलर बिरादरी के सभी राजनीतिज्ञ और कथित बुद्धिजीवी अपने निहित स्वार्थों के कारण देश को दंगों की आग में झोंकना चाहते हैं।  
 
 
‘‘सघन जांच के बाद जारी तबरेज की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से न केवल उसकी मृत्यु के कारण स्पष्ट हुए हैं, अपितु सेकुलर गैंग के एक बड़े षड्यंत्र का भी पदार्फाश हुआ है।’’
 
उक्त बात विश्व हिन्दू परिषद् के संयुक्त महामंत्री डॉ. सुरेन्द्र जैन ने कही। परिषद की ओर से जारी अपने वक्तव्य में उन्होंने कहा कि जिहादी आतंकवाद के सफाए के लिए इसके पैरोकार खान मार्केट गैंग पर प्रभावी अंकुश लगाया जाना भी जरूरी है जो हिन्दू समाज, भारत व मानवता को बारम्बार बदनाम कर आतंकियों व अतिवादियों के लिए खाद-पानी का कार्य कर रहा है। जब कभी हिन्दू-मुस्लिम के बीच में किसी भी कारण से कोई झगड़ा होता है और उसमें किसी मुस्लिम को चोट तक लग जाती है तो समस्त खान मार्केट गैंग सक्रिय हो जाता है। किसी भी साक्ष्य या रिपोर्ट की प्रतीक्षा किए बिना ये मुस्लिम समाज को भड़काना शुरू कर देते हैं, जिससे वे सड़कों पर उतरें और सांप्रदायिक दंगे हों और खुद का स्वार्थ सधे।
 
विश्व हिन्दू परिषद का मानना है कि सेकुलर बिरादरी के सभी राजनीतिज्ञ और कथित बुद्धिजीवी अपने निहित स्वार्थों के कारण देश को दंगों की आग में झोंकना चाहते हैं। वे देश की समस्त न्याय व्यवस्था के प्रति अविश्वास जगाकर ‘मॉब लिंचिंग’, ‘पुरस्कार वापसी’आदि अभियान चलाकर राष्ट्र विरोधियों के हाथ मजबूत करते हैं। ऐसे में विश्व हिन्दू परिषद स्पष्ट करना चाहती है कि आतंकियों के साथ-साथ सेकुलर बिरादरी में बैठे इनके सहायकों-साजिशकर्ताओं का भी पर्दाफाश कर इनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। प्रतिनिधि