दीनदयाल शोध संस्थान को मिला एनसीसी समष्टि सेवा पुरस्कार
   दिनांक 13-जनवरी-2020
 a_1  H x W: 0 x 
श्री अभय महाजन (मध्य में) को एक करोड़ की राशि का चेक प्रदान करते श्री मोहनराव भावगत (बाएं) 
 
 
गत दिनों भारतरत्न नानाजी देशमुख द्वारा स्थापित दीनदयाल शोध संस्थान को प्रतिष्ठित एनसीसी समष्टि सेवा पुरस्कार से सम्मानित किया गया। हैदराबाद में आयोजित एक भव्य कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक श्री मोहनराव भागवत, एनसीसी फाउंडेशन के अध्यक्ष पद्मश्री एवीएस राजू ने यह पुरस्कार प्रदान किया और संस्थान की ओर से संगठन सचिव श्री अभय महाजन ने पुरस्कार स्वीकार किया।
 
प्रशस्ति पत्र के साथ एक करोड़ रुपए की राशि भी पुरस्कारस्वरूप प्रदान की गई। राष्ट्रऋषि नानाजी को भावभीनी श्रद्धांजलि देते हुए श्री भागवत ने कहा कि नानाजी ने देश में सेवा और विकास के नए प्रतिमान गढ़े।
 
दीनदयाल शोध संस्थान उन्हीं की कल्पनाशीलता की एक कृति है। समग्र दृष्टिकोण के साथ ग्राम विकास का जो मॉडल नानाजी ने प्रस्तुत किया, वह पूरे देश के लिए अनुकरणीय है। संस्थान ने समाज जीवन के हर क्षेत्र में काम कर देश के सामने एक उत्कृष्ट उदाहरण प्रस्तुत किया है। चित्रकूट के आसपास के 500 से अधिक गांवों में संस्थान के कामकाज से खुशहाली का जो वातावरण बना है, वह भारत में सेवा शब्द की सही अभिव्यक्ति है।   प्रतिनिधि