हिन्दुत्व में देश को जोड़ने की ताकत
   दिनांक 13-जनवरी-2020
 
 राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल ने किया। इस दौरान अपने विचार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि देश जोड़ने की ताकत केवल हिन्दुत्व में ही है।

a_1  H x W: 0 x 
दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए डॉ. कृष्ण गोपाल। 
साथ में हैं सर्वश्री जे.नंद कुमार एवं प्रफुल्ल केतकर
 
 
पिछले दिनों नई दिल्ली स्थित सिरी फोर्ट सभागार में प्रज्ञा प्रवाह के अखिल भारतीय संयोजक श्री जे. नंदकुमार द्वारा लिखित पुस्तक 'हिन्दुत्व फॉर द चेंजिंग टाइम्स' का लोकार्पण राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल ने किया। इस दौरान अपने विचार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि देश जोड़ने की ताकत केवल हिन्दुत्व में ही है। देश में बोलने की आजादी, बिना डरे सवाल खड़ा करने की आजादी है क्योंकि इस देश का मूल भाव हिन्दुत्व है। एकत्व की कमी के कारण ही सोवियत संघ, यूगोस्लाविया बिखर गए और पाकिस्तान के भी दो टुकड़े हुए। पाकिस्तान अभी और टूटेगा, तीन और देश बनेंगे, मगर 560 रियासतों को जोड़कर बना हिन्दुस्थान अभी भी एकजुट है क्योंकि इसका मूल हिन्दुत्व है।
 
उन्होंने कहा कि हिन्दुस्थान में किसी को कोई भी पूजा-पद्धति अपनाने का अधिकार है। कोई भी किसी भी उपासना पद्धति को अपना सकता है, उसे पूरी आजादी है। ऐसे में जो भी देश और देश के लोगों के हित की बात करता है, उनके बारे में अच्छा सोचता है, मान लेना चाहिए कि वह हिन्दू है। पुस्तक के लेखक श्री जे. नंदकुमार ने कहा कि आज देश में हिन्दुत्व और हिन्दू शब्द को जानबूझकर बदनाम करने का प्रयास किया जा रहा है। हिन्दुत्व का मतलब सिर्फ हिन्दू धर्म नहीं होता। पश्चिम बंगाल और केरल में हिन्दुओं पर खतरा मंडरा रहा है। पश्चिम बंगाल में सामाजिक बदलाव हो रहा है। नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के नाम पर हो रही हिंसा के पीछे केरल के प्रशिक्षित बौद्धिक लोग काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि 'ब्रेक इंडिया ब्रिगेड' देश तोड़ने में जुटी हुई है। देश के भीतर ही युद्ध छेड़ने की कोशिश की जा रही है। ऐसे में यह पुस्तक कुछ समझ विकसित करने के लिए है। यह भावनाओं में बहकर नहीं लिखी, तथ्यों के आधार पर लिखी है।