रामचन्द्र खराडी बने अखिल भारतीय वनवासी कल्याण आश्रम के नए अध्यक्ष

    दिनांक 12-अक्तूबर-2020   
Total Views |
गत दिनों राजस्थान स्थित प्रतापगढ़ निवासी श्री रामचन्द्र खराडी को केन्द्रीय कार्यकारी मण्डल ने कल्याण आश्रम के तीसरे अध्यक्ष के रूप में चुना है। श्री जगदेवराम उरांव के निधन के पश्चात् यह पद रिक्त हुआ था
r1_1  H x W: 0
गत दिनों राजस्थान स्थित प्रतापगढ़ निवासी श्री रामचन्द्र खराडी को केन्द्रीय कार्यकारी मण्डल ने कल्याण आश्रम के तीसरे अध्यक्ष के रूप में चुना है। श्रद्धेय बाला साहब देशपाण्डे के निधन के बाद 1995 से लेकर श्री जगदेवराम उरांव ने सुदीर्घ 25 वर्ष कल्याण आश्रम का नेतृत्व किया। 15 जुलाई, 2020 को जशपुर में जगदेवराम जी के निधन के पश्चात् यह पद रिक्त हुआ था।

गौरतलब है कि रामचन्द्र जी का जन्म 15 जनवरी, 1955 में राजस्थान स्थित उदयपुर जिला के खरबर गांव के भील जननाति परिवार में हुआ। उन्होंने स्नातक तक की पढ़ाई पूर्ण करके सरकारी सेवा में प्रवेश किया। तहसीलदार, सब डिविजनल मजिस्ट्रेट, अतिरिक्त जिला अधिकारी आदि सरकारी पदों में रहकर राजस्थान के विभिन्न जिलों में उन्होंने कार्य किया। भूमि संबंधी मामलों का निपटारा करने हेतु उन्होंने सरकारी पद पर रहकर काफी सराहनीय कार्य किया। इसके कारण सरकारी कामकाज के क्षेत्र में खराडी जी का नाम काफी चर्चित रहा। 2014 में सरकारी सेवा से स्वेच्छिक निवृत्ति लेकर धार्मिक एवं सामाजिक कार्य में सक्रिय भूमिका निभाते रहे।

r2_1  H x W: 0

जनजाति समाज के परंपरागत धर्म, संस्कृति की रक्षा के साथ—साथ गायत्री परिवार के कार्य से भी 1995 में उनका संपर्क आया। उनके नेतृत्व में 17 स्थानों पर गायत्री माता मंदिर निर्माण कार्य हुआ। इसके अलावा कई स्थानों पर सामूहिक विवाह कराने में भी उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उनका कल्याण आश्रम से संपर्क 2003 में डुंगरपुर कल्याण आश्रम के भवन निर्माण के समय में आया। 2016 में राजस्थान के अध्यक्ष बने। 2019 में फिर से इस दायित्व के लिये वे चुने गये। गत दो वर्षों से वे कल्याण आश्रम की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य के रूप में भी कार्यरत थे। गत पांच वर्षों में कल्याण आश्रम के सभी अखिल भारतीय कार्यक्रम में उनका सानिध्य देश भर के कार्यकर्ताओं को प्राप्त हुआ।