अब दिल्ली विश्वविद्यालय में होगी वैदिक गणित की पढ़ाई

    दिनांक 13-अक्तूबर-2020   
Total Views |

दिल्ली विश्वविद्यालय का लक्ष्मीबाई कॉलेज शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास के साथ वैदिक गणित का प्रमाण पत्र पाठ्यक्रम संचालित करने जा रहा है। इस कोर्स में लक्ष्मीबाई कॉलेज में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के अतिरिक्त अन्य कोई भी प्रवेश ले सकता है
as_1  H x W: 0

दिल्ली विश्वविद्यालय का लक्ष्मीबाई कॉलेज शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास के साथ वैदिक गणित का प्रमाण पत्र पाठ्यक्रम संचालित करने जा रहा है। न्यास की ओर से संजय स्वामी की उपस्थिति में कॉलेज की प्राचार्य डॉ. प्रत्युष वत्सला ने न्यास के साथ अनुबंध कर यह प्रमाण पत्र कोर्स आरम्भ कर दिया है। इस अवसर पर संजय स्वामी ने कहा कि हमारे देश में वर्तमान समय में गणित को एक कठिन विषय समझा जाता है, सामान्य रूप से गणित का भय हमारे विद्यार्थियों में देखा जा सकता है। जबकि भारत की सम्पदा कही जाने वाली पद्धति वैदिक गणित से विद्यार्थी कठिन प्रश्न का हल पलक झपकते ही कर सकते हैं।

इस अवसर पर उपस्थित वैदिक गणित के राष्ट्रीय सह-संयोजक श्री राकेश भाटिया एवं दिल्ली प्रांत के वैदिक गणित के सह-संयोजक श्री अनिल ठाकुर ने बताया कि जो भी विद्यार्थी इस 6 माह के प्रमाणपत्र कोर्स में प्रवेश लेना चाहते हैं, उन्हें दिल्ली विश्वविद्यालय के लक्ष्मीबाई कॉलेज से सम्पर्क कर प्रवेश मिल सकता है। इस कोर्स में लक्ष्मीबाई कॉलेज में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के अतिरिक्त अन्य कोई भी प्रवेश ले सकता है।

उन्होंने आगे बताया कि कोरोना की आपदा को अवसर में परिवर्तित करते हुए शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास द्वारा इस अवधि में कक्षा 3 से लेकर 12वीं तक के 1.5 लाख से अधिक विद्यार्थियों को वैदिक गणित का ऑनलाइन नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया गया, जो कि अपने आप में एक विश्व रिकॉर्ड है। वर्तमान में यह कक्षाएं नियमित रूप से हर रविवार सायं 5 बजे से शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास (@ShikshaSanskriti) के आधिकारिक फ़ेसबुक पेज से संचालित की जा रही हैं।

बता दें कि शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास कई वर्षों से इस विषय पर कार्य कर रहा है। न्यास द्वारा वैदिक गणित का कक्षा पहली से बारहवीं तक का पाठ्यक्रम तथा सर्टिफ़िकेट व डिप्लोमा कोर्स का पाठ्यक्रम भी तैयार किया गया है, जो कि सैकड़ों विद्यालयों व 10 विश्वविद्यालयों में संचालित किया जा रहा है।