शारदीय नवरात्रि से बासंतिक नवरात्रि तक यूपी सरकार चलायेगी "मिशन शक्ति"

    दिनांक 16-अक्तूबर-2020   
Total Views |
17 अक्टूबर को राज्यपाल और मुख्यमंत्री इस अभियान की शुरुआत करेंगे.यह अभियान शारदीय नवरात्रि से बासंतिक नवरात्रि तक चलेगा.

yogi1_1  H x W:


महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा और सम्मान  के उद्देश्य से उत्तर प्रदेश सरकार '17 अक्टूबर से 'मिशन शक्ति' की शुरुआत कर रही है. 17 अक्टूबर को राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल लखनऊ से और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ , बलरामपुर जनपद से इस अभियान की शुरुआत करेंगे.  यह अभियान शारदीय नवरात्रि से बासंतिक नवरात्रि तक चलेगा. 180 दिवसीय इस अभियान के दौरान प्रदेश के सभी 75 जिलों, 521 ब्लाकों, 59,000 पंचायतों, 630 शहरी निकायों व 1535 थानों के माध्यम से महिलाओं एवं बालिकाओं को आत्मनिर्भर बनने का प्रशिक्षण दिया जाएगा, साथ ही  सुरक्षा एवं सम्मान के प्रति जागरूक किया जायेगा.  प्रथम चरण में इस अभियान में जागरूकता पर बल दिया जाएगा. दूसरे चरण में "मिशन शक्ति" के क्रियान्वयन पर बल दिया जाएगा.


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि महिला एवं बाल अपराध की मॉनिटरिंग हेतु जनपद स्तर पर कमेटी सक्रिय रहें. पॉक्सो व महिला अपराध से संबंधित वादों के निस्तारण को प्राथमिकता दी जाए. प्रत्येक अभियोजन अधिकारी की जवाबदेही तय की जाए तथा प्रत्येक मामले में समयबद्ध रूप से आरोप पत्र दाखिल कराया जाना सुनिश्चित किया जाए. नारी सुरक्षा से संबंधित समस्त विभागों द्वारा यह सुनिश्चित करना होगा कि प्राप्त शिकायतों में पीड़िता  की पूर्ण संतुष्टि के स्तर तक कार्यवाही को गतिमान रखा जाए. पुलिस विभाग के अन्तर्गत 1090 एवं यूपी 112 द्वारा एक साथ मिलकर शिकायतों का प्रभावी ढंग से निस्तारण सुनिश्चित कराया जाए और पीड़ित महिला बालिका की संतुष्टि तक कार्यवाही जारी रखी जाए.

पुलिस विभाग की हेल्पलाइन 181 को भी यूपी 112 से जोड़ा जाए. हर थाने में "महिला हेल्प डेस्क" स्थापित किया जाना एक अच्छी पहल है और इसे राज्य के समस्त 1535 थानों में स्थापित किया जाए. प्रत्येक थाने में "एंटी रोमियो स्क्वाड" द्वारा अभियान चलाया जाए. जनपद स्तर पर पॉक्सो व महिला अपराधों के निस्तारण व ऑपरेशन शक्ति का भी अनुश्रवण करें. शासन द्वारा पूर्व से नामित वरिष्ठ नोडल अधिकारी इस अवधि में दो दिन जिले में जाकर इस अभियान के कार्यों का अनुश्रवण करेंगे.