भारत ने सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस का किया सफल परीक्षण, अरब सागर में मौजूद लक्ष्य को किया नष्ट

    दिनांक 19-अक्तूबर-2020   
Total Views |
भारत ने सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस का सफल परीक्षण किया है। अरब सागर में आईएनएस चेन्नई से दागे गये मिसाइल ने उच्चस्तरीय और बेहद जटिल युद्धाभ्यास के बाद लक्ष्य को सटीकता से मार गिराया। ब्रह्मोस प्राइम स्ट्राइक हथियार के रूप में नेवल सर्फेस लक्ष्यों को दिन या रात और किसी भी मौसम में समुद्र या सतह पर किसी भी लक्ष्य को 400 किलोमीटर से ज्यादा दूरी तक ध्वस्त करने की क्षमता रखता है।
kurse_1  H x W:



पिछले दिनों भारत ने सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस का सफल परीक्षण किया है। भारतीय नौसेना के स्वदेशी स्टील्थ डिस्ट्रॉयर आईएनएस चेन्नई से सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस का सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया है। डिफेंस रिसर्च एंड डिवेलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (डीआरडीओ) ने एक बयान जारी करके यह जानकारी दी। अरब सागर में आईएनएस चेन्नई से दागे गये मिसाइल ने उच्चस्तरीय और बेहद जटिल युद्धाभ्यास के बाद लक्ष्य को सटीकता से मार गिराया। ब्रह्मोस प्राइम स्ट्राइक हथियार के रूप में नेवल सर्फेस लक्ष्यों को दिन या रात और किसी भी मौसम में समुद्र या सतह पर किसी भी लक्ष्य को 400 किलोमीटर से ज्यादा दूरी तक ध्वस्त करने की क्षमता रखता है। इस मिसाइल से भारतीय नौ सेना की ताकत और बढ़ गई है।

गौरतलब है कि अत्याधुनिक उपकरणों से लैस ब्रह्मोस को भारत और रूस द्वारा संयुक्त रूप से डिजाइन, विकसित और निर्मित किया गया है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने ब्रह्मोस के सफल परीक्षण पर डीआरडीओ और भारतीय नेवी को बधाई दी है। डीआरडीओ चेयरमैन डॉ. जी सतीश रेड्डी ने भी वैज्ञानिकों, डीआरडीओ के सभी कर्मचारियों, ब्रह्मोस और भारतीय नेवी को इस सफलता के लिए शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि यह भारतीय सेना की क्षमता को कई तरीकों से बढ़ाएगा। ब्रह्मोस एक रैमजेट सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल है, जिसे पनडुब्बी, युद्धपोत, लड़ाकू विमानों और जमीन से भी लॉन्च किया जा सकता है।