पाकिस्तान में गृहयुद्धः सेना-पुलिस में भिड़ंत, दस सैनिक व पांच पुलिस कर्मियों के मारे जाने की खबर

    दिनांक 22-अक्तूबर-2020   
Total Views |
OI_1  H x W: 0
किस्तान के सिंध में हालात बेकाबू हो गए हैं। वहां पुलिस एवं सेना के बीच भिड़ंत की खबर है, जिसमें दस पुलिस कर्मी एवं सेना के पांच जवान मारे गए। बिगड़ते हालात के मदृदेनजर पाकिस्तान की आर्थिक राजधानी कराची में सेना तैनात की दी गई है।
पाकिस्तान के सिंध में हालात बेकाबू हो गए हैं। वहां पुलिस एवं सेना के बीच भिड़ंत की खबर है, जिसमें दस पुलिस कर्मी एवं सेना के पांच जवान मारे गए। बिगड़ते हालात के मदृदेनजर पाकिस्तान की आर्थिक राजधानी कराची में सेना तैनात की दी गई है। सिंध में किसी भी समय राष्ट्रपति शासन लग सकता है।

विदेशी न्यूज चैनल ‘द इंटरनेशनल हेराल्ड’ ने ट्वीट कर सिंध में पुलिस एवं सेना के बीच भिड़ंत की सूचना साझा की है। पाकिस्तानी सेना के रवैये से सिंध प्रांत की पुलिस बेहद नाराज एवं गुस्से में है। पूर्व प्रधानमंत्री मियां नवाज शरीफ के दामाद कैप्टन मोहम्मद सफदर की गिरफ्तारी के लिए सिंध पुलिस पर अनुचित दबाव बनाने के विरोध में सिंध पुलिस का गुस्सा शांत नहीं हुआ है। ‘द इंटरनेशनल हेराल्ड’ ने ट्वीट कर खबर दी है कि बुधवार की रात सिंध पुलिस का गुस्सा फूट पड़ा। उसकी सेना से सीधी भिड़ंत हो गई, जिसमें दस पुलिस कर्मियों एवं सेना के पांच अधिकारियों की मौत हो गई। इस दौरान फौजियों ने पुलिस अधीक्षक मोहम्मद आफताब को हिरासत में लेने का भी प्रयास किया, पर पुलिस कर्मियों के भारी विरोध के चलते वे इसमें सफल नहीं हो सके। हालांकि यह खबर पाकिस्तान की मीडिया में नहीं है, पर ‘हेराल्ड’ का दावा है कि पुलिस एवं सेना के बीच भिड़ंत में दोनों ओर से जमकर गोला-बारूद का इस्तेमाल किया गया। पूरे सिंध में सेना के रेंजर सक्रिय कर दिए गए हैं। प्रदेश में गृहयुद्ध जैसे हालात बन गए हैं। भारत के समाचार चैनल का दावा है कि सिंध के मौजूदा हालात के चलते पाकिस्तान के सिंध में कभी भी राष्ट्रपति शासन लग सकता है। इमरान खान सरकार सिंध के बिगड़ते हालात को काबू करने में असफल हो रही है।
 
OIO_1  H x W: 0
गौरतलब है कि मियां नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज पर कराची में 18 अक्तूबर को 11 विपक्षी दलों के गठबंधन ‘पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट’ द्वारा आयोजित रैली में भड़काऊ भाषण देने का आरोप है। जबकि कराची के एक होटल में ठहरे मरियम के पति की गिरफ्तारी के बाद से पड़ोसी देश की स्थिति बिगड़ी है। कैप्टन सफदर को गिरफ्तार करने के लिए सेना ने कराची के आईजी पर अनुचित दबाव बनाया था। उन्हें उनके आवास से निकलने नहीं दिया गया। गिरफ्तारी का विरोध करने पर सेना ने डीआईजी की भी पिटाई कर दी। उसके बाद जब कुछ लोग पाकिस्तानी सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा के विरोध में नारे लगाते सड़कों पर आ गए तो आईजी एवं डीआईजी को वहां से गायब कर दिया गया। इस घटना से सिंध के तमाम पुलिस अधिकारी इतने नाराज हुए कि उन्होंने लंबी छुट्टी पर जाने का ऐलान कर दिया। पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो एवं सिंध के मुख्यमंत्री उन्हें मनाकर किसी तरह छुट्टी पर जाने से रोक पाए, पर सेना के प्रति पुलिस कर्मियों का गुस्सा कम नहीं हुआ है। ‘द इंटरनेशनल हेराल्ड’ का दावा है कि इस कारण पुलिस कर्मियों का गुस्सा फूट पड़ा। उनकी सेना से सीधी भिड़ंत हो गई, जिसमें 10 पुलिस वाले एवं पांच आर्मी के अधिकारी मारे गए। हालांकि अभी इसकी किसी भी स्तर पर पुष्टि नहीं हुई है। भारत के समाचार चैनल के अनुसार गिलगित-बाल्टिस्तान से भी सेना एवं पुलिस के बीच भिड़ंत की खबरें आ रही हैं। चैनल ने घटना से संबंधित वीडियो फुटेज जारी कर यह दावा किया है।